नई पोस्ट करें

इंडियन बॉक्सिंग लीग: पंजाब पैंथर्स को 5-2 से हरा गुजरात जाएंट्स ने हासिल किया पहला स्थान

2022-10-07 07:46:40 287

इंडियनबॉक्सिंगलीगपंजाबपैंथर्सको52सेहरागुजरातजाएंट्सनेहासिलकियापहलास्थानमाइक्रोसॉफ्ट के CEO सत्या नडेला के 26 वर्षीय बेटे जैन का निधन, सेरेब्रल पाल्सी से थे पीड़ित******Highlightsमाइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला के बेटे जैन नडेला का 26 साल की उम्र में निधन हो गया। जैन का जन्म 13 अगस्त 1996 को हुआ था। माइक्रोसॉफ्ट कंपनी ने इस बात की जानकारी देते हुए बताया कि सीईओ सत्या नडेला के बेटे जैन नडेला का लंबी बीमारी के कारण निधन हो गया है। सत्या नडेला के बेटे जैन नडेला को जन्म से ही दिमागी गंभीर बीमारी थी। इस गंभीर बीमारी का नाम 'सेरेब्रल पाल्सी' है। बता दें, सेरेब्रल पाल्सी एक बहुत ही गंभीर बीमारी है जिसके बारे में बहुत कम लोग नहीं जानते होंगे।सेरेब्रल पाल्सी एक न्यूरोलॉजिकल डिसऑर्डर होता है जो बच्चों की शारीरिक गति, चलने-फिरने की क्षमता को प्रभावित करता है। इसमें बच्चा बैठ नहीं पाता, बात नहीं कर पाता, हड्डियां कमजोर हो जाती हैं और सीधा नहीं देख पाता है। ये बीमारी बचपन में ही शुरू होती है। यह एक ऐसी बीमारी होती है, जिसमें जन्म के साथ बच्चे के दिमाग का विकास सामान्य से कम होता है। जिसकी वजह से ब्रेन फंक्शन प्रभावित होता है और दिमाग का विकास पूरी तरह नहीं हो पाता।सेरेब्रल पाल्सी के कई कारणों से हो सकते हैं। जैसे - जन्म के दौरान अगर बच्चे को ऑक्सिजन की कमी हो जाए या उसका ब्लड प्रेशर कम हो जाए, या फिर प्रेग्नेंसी के दौरान मां को कोई इंफेक्शन हो जाए या जेनेटिक डिसऑर्डर की समस्या हो जाए तो इसका असर मस्तिष्क के विकास पर पड़ सकता है। इसके लक्षण पैदा होने के कुछ ही दिनों में दिखने शुरू हो जाते हैं। इसमें बच्चा बैठ नहीं पाता, चल फिर नहीं सकता, बात नहीं कर पाता और सीधा नहीं देख पाता।सेरेब्रल पाल्सी का कोई इलाज नहीं है। हालांकि, विभिन्न मामलों में डॉक्टरों द्वारा भौतिक चिकित्सा, भाषण और भाषा चिकित्सा, दवाओं और कभी-कभी सर्जरी की सलाह दी जाती है।

इंडियनबॉक्सिंगलीगपंजाबपैंथर्सको52सेहरागुजरातजाएंट्सनेहासिलकियापहलास्थाननवरात्र के पांचवे दिन बन रहा है बुधवार और सौभाग्य योग का संयोग, करें ये खास उपाय तो होगा हर काम शुभ******आज का पाचंवा दिन है। आज मां स्कन्दमाता की उपासना व्यक्ति को बुध संबंधी परेशानियों से छुटकारा दिलाने में भी मदद करती हैं, क्योंकि बुध ग्रह पर स्कन्दमाता का आधिपत्य रहता है और आज तो बुधवार का दिन भी है। साथ ही आज शाम 05 बजकर 23 मिनट तक बुध ग्रह के स्वामित्व वाला सौभाग्य योग भी रहेगा। ये योग सौभाग्य को बढ़ाने वाला है।अतः अगर आपको भी बुध संबंधी किसी तरह की परेशानी है, आपका बिजनेस ठीक से नहीं चल रहा है, आपको व्यापार में मुनाफा नहीं मिल पा रहा है या आपको किसी के सामने अपनी बात कहने में परेशानी आती है, तो आज बुधवार और सौभाग्य योग के संयोग में नवरात्र के पांचवें दिन आपको स्कन्दमाता की पूजा करके अवश्य ही लाभ उठाना चाहिए। जानें आचार्य इंदु प्रकाश से क्या करें उपाय।देवी मां के इस मंत्र का 11 बार जप भी करना चाहिए। मंत्र है - आज के दिन स्कन्दमाता के इस मंत्र का जप करने से आपको बुध संबंधी परेशानियों से तो छुटकारा मिलेगा ही, साथ ही आपके घर में सुख-शांति और समृद्धि भी बनी रहेगी। इसके अलावा बुध संबंधी परेशानियों से छुटकारा पाने के लिये आज के दिन अन्य कौन-से उपाय किये जा सकते हैं। जानें इनके बारें में। इस प्रकार शाबर मंत्र का जप करने के बाद देवी मां के सामने रखी कौड़ियों को उठाकर एक पीले रंग के कपड़े में बांधकर अपनी तिजोरी में संभालकर रख लें। आज के दिन ये खास उपाय करने से निश्चित ही आपके व्यापार में बढ़ोतरी होगी।लेकिन अगर आपको ये मंत्र बोलने में किसी प्रकार की परेशानी आये तो आप केवल श्रीं ह्रीं श्रीं.. मंत्र का जप भी कर सकते हैं, क्योंकि लक्ष्मी जी का एकाक्षरी मंत्र तो श्रीं ही है। आज के दिन ऐसा करने से आपको अच्छे सोर्स ऑफ इनकम मिलेंगे। लिहाजा आपको धन लाभ भी होगा।इंडियनबॉक्सिंगलीगपंजाबपैंथर्सको52सेहरागुजरातजाएंट्सनेहासिलकियापहलास्थान5G to 6G : भारत में 6G की लॉन्चिंग को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया बड़ा एलान, बताया कब से करेंगे यूज़******भारतीय टेलिकॉम इंडस्ट्री 5वीं पीढ़ी की टेलिकॉम सेवाओं यानि 5जी की लॉन्चिंग की तैयारी कर रही है। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक कदम आगे बढ़ते हुए भारत में 6जी को लेकर बड़ा ऐलान कर दिया है। पीएम मोदी ने घोषणा करते हुए कहा कि सरकार तेजी से 6जी की दिशा में काम कर रही है और इस दशक के अंत तक 6 जी लांच करने की तैयारी में है।प्रधानमंत्री ने स्मार्ट इंडिया हैकाथान 2022 के ग्रैंड फिनाले को संबोधित करते हुए 6जी से जुड़ी यह अहम घोषणा की है। पीएम मोदी ने कहा कि भारत में कृषि और स्वास्थ्य क्षेत्र में ड्रोन तकनीक के उपयोग की बड़ी संभावना है। युवा इस क्षेत्र में बड़ी जिम्मेदारी निभा सकते हैं। उन्होंने कहा कि हम इस दशक के अंत तक 6जी लांच करने की तैयारी कर रहे हैं।5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी के बाद हर किसी की निगाहें अब 5G सेवाओं की लॉन्चिंग पर हैं। Jio और Airtel अक्टूबर तक इन सेवाओं की लॉन्चिंग के संकेत दे चुके हैं। लेकिन शुरूआत में ये सेवाएं सिर्फ एक दर्जन शहरों में ही मिलेंगी। लेकिन देश के दूर दराज के क्षेत्रों में 5G सेवाएं कब उपलब्ध होंगी। इसे लेकर आज सरकार ने स्थिति साफ कर दी है। दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बृहस्पतिवार को कहा कि देश के ज्यादातर हिस्सों में अगले दो-तीन साल में द्रुत गति वाली 5G सेवाएं उपलब्ध होंगी। उन्होंने उम्मीद जताई कि 5G सेवा किफायती रहेगी।केंद्रीय संचार मंत्रालय के मुताबिक यह सेवा अंतरराष्ट्रीय स्तर की होगी। सरकार ने इसके लिए राइट ऑफ वे (आरओडब्ल्यू) में संशोधन कर दिया है। ताकि कंपनियों को टावर लगाने से लेकर इंफ्रास्ट्रक्चर की स्थापना में लागत कम हो सके। सरकार के इस फैसले से कोई भी राज्य केबल बिछाने और और पोल लगाने का अधिक शुल्क कंपनियों से नहीं वसूल पाएगा। आरओडब्ल्यू को निगरानी के लिए पीएम गतिशक्ति पोर्टल से जोड़ दिया गया है। ताकि इंफ्रास्ट्रक्चर से जुड़ी समस्त प्रक्रिया की ऑनलाइन मंजूरी मिल सके। पहले इसके लिए स्थानीय निकायों से मंजूरी लेनी पड़ती थी, जिसमें अधिक समय लग जाता था। अब 15 दिनों में समस्त कार्यों की मंजूरी मिल जाएगी।5 जी सेवा शुरू होन के साथ ही रोजगार भी मिलेगा। आगामी दो से तीन वर्षों में 5जी सेवा को पूरे देश में फैलाने का लक्ष्य रखा गया है। आरंभ में इसे दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई जैसे बड़े शहरों में शुरू किया जाएगा। सरकार ने अब तक 5जी में 60 हजार करोड़ रुपये का निवेश किया है। आगे दूर संचार क्षेत्र में तीन लाख करोड़ रुपये के निवेश का प्लान तैयार है। इस दौरान देश के युवाओं को बड़ी संख्या में रोजगार मिलेगा। कंपनियां अभी से ही नियुक्तियां शुरू कर चुकी हैं। ताकि 5 जी सेवा में तेजी लाई जा सके।यह सेवा शुरू होने से देश भर में ग्रामीण से लेकर शहर तक सभी विभागों को डिजिटलीकरण कर दिया जाएगा। अभी तक गांवों में कमजोर नेटवर्क के चलते डिजिटलीकरण को अमली जामा नहीं पहनाया जा सका था। बड़े शहरों को छोड़कर छोटे शहर भी अभी पूर्ण रूप से डिजिटल नहीं हो पाए हैं, लेकिन 5 जी सेवा शुरू होने से अब फाइलों का डिजिटलीकरण शुरू होगा। इससे कार्यों में तेजी और पारदर्शिता आएगा। ई-गवर्नेंस बढ़ने से लोगों को सहूलियतें मिलेंगी। काम समय पर होंगे। गांव भी शहरों से तरक्की में कदमताल कर सकेंगे। सभी महत्वपूर्ण सुविधाएं शहरों से गांव में पहुंचेंगी।

इंडियन बॉक्सिंग लीग: पंजाब पैंथर्स को 5-2 से हरा गुजरात जाएंट्स ने हासिल किया पहला स्थान

इंडियनबॉक्सिंगलीगपंजाबपैंथर्सको52सेहरागुजरातजाएंट्सनेहासिलकियापहलास्थानशहीद दिवस: फांसी पर चढ़ने से पहले इनकी जीवनी पढ़ रहे थे भगत सिंह, ये थी आखिरी ख्वाहिश******23 मार्च.. यही वो दिन है, जब देश की आजादी के लिए साहस के साथ ब्रिटिश सरकार से मुकाबला करने वाले को साल 1931 में फांसी दी गई थी। उस वक्त उनकी उम्र महज 23 साल ही थी। उनका जन्म 28 सितंबर 1907 में पंजाब के बंगा गांव (पाकिस्तान) में हुआ था। क्या आप जानते हैं कि उन्हें किताबें पढ़ने का बहुत शौक था और अपने आखिरी समय में वो क्या कर रहे थे?जानकारी के अनुसार, भगत सिंह और उनके साथ राजगुरु और सुखदेव को जिस दिन फांसी दी गई, उससे पहले भगत सिंह लेनिन की जीवनी पढ़ रहे थे। बताया जाता है कि वो जेल में भी खूब सारी किताबें पढ़ते थे और जब सारी पुस्तकें पढ़ लेते थे तो दोस्तों को चिट्ठी लिखकर और किताबें मंगवाते थे।23 मार्च को शहीद दिवस के रूप में भी जाना जाता है। लोगों में देशभक्ति का जज्बा भरने वाले भगत सिंह ने असेंबली में बम फेंका था और इसके बाद वो वहां से भागे नहीं थे, इसी वजह से उन्हें फांसी की सजा हो गई, लेकिन क्या आप जानते हैं कि उस दिन हर किसी की आंख नम हुई थी। जेल के नियमों के अनुसार, फांसी देने से पहले तीनों को नहलाया गया था। इसके बाद जब उनसे आखिरी इच्छा पूछी गई तो तीनों ने कहा कि हम आपस में गले मिलना चाहते हैं।भगत सिंह ने फांसी पर चढ़ने से पहले आखिरी खत लिखा था कि जीने की ख्वाहिश मुझमें भी होनी चाहिए, लेकिन मैं कैद होकर या पाबंद होकर नहीं जी सकता। क्रांतिकारी दलों के आदर्शों ने मुझे इतना ऊपर उठा दिया है, जितना मैं जीवित रहकर भी नहीं कर पाता। मुझे खुद पर गर्व है। अंतिम परीक्षा का इंतजार बेताबी से है।इंडियनबॉक्सिंगलीगपंजाबपैंथर्सको52सेहरागुजरातजाएंट्सनेहासिलकियापहलास्थानPetrol, diesel prices on 7 August : आज नहीं मिली राहत, जानिए क्या है आज का रेट******Petrol, diesel prices on 7 August 2019 में लगातार छह दिनों से जारी गिरावट पर मंगलवार को फिर ब्रेक लग गया। वहीं, में भी लगातार तीसरे दिन स्थिरता बनी रही। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में जारी नरमी से आने वाले दिनों में पेट्रोल और डीजल के दाम में फिर गिरावट आ सकती है। देश की राजधानी दिल्ली में इन छह दिनों में पेट्रोल के दाम में 58 पैसे प्रति लीटर की कमी आई है। की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल के दाम बुधवार को बिना बदलाव के क्रमश: 72.28 रुपये, 74.97 रुपये, 77.93 रुपये और 75.08 रुपये प्रति लीटर बने रहे। चारों महानगरों में डीजल के दाम भी पूवर्वत क्रमश: 65.94 रुपये, 68.17 रुपये और 69.11 रुपये और 69.64 रुपये प्रति लीटर बने हुए हैं।तेल की कीमतें हर रोज अंतरराष्ट्रीय बाजार के रुख के हिसाब से बदलती हैं। भारत में ऑयल मार्केटिंग कंपनियां (OMC) भाव की समीक्षा के बाद रोज पेट्रोल और डीजल के रेट तय करती हैं। इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम रोज सुबह 6 बजे पेट्रोल और डीजल की दरों में संशोधन कर नई कीमतें जारी करती हैं। अपने शहर का भाव जानने के लिए यहां करेंबता दें कि देश में तेल की कीमतों का निर्धारण करने के लिए डायनामिक फ्यूल प्राइसिंग मेकेनिज्म 16 जून 2017 से लागू किया गया है। इससे पहले एडमिनिस्ट्रेटिव प्राइस मेकेनिज्म के तहत पेट्रोल और डीजइंडियनबॉक्सिंगलीगपंजाबपैंथर्सको52सेहरागुजरातजाएंट्सनेहासिलकियापहलास्थानअमेरिका: मौत की सजा पाने वाला सबसे बुजुर्ग व्यक्ति बना पाइप बम हत्यारा****** के अलबामा में 2 लोगों की हत्या करने वाले एक बुजुर्ग शख्स को की सजा दी गई। 83 साल के टॉम मूडी को एक जज और एक वकील की हत्या का दोषी पाया गया था। उसने दोनों व्यक्तियों की पाइप बम ब्लास्ट के जरिए हत्या कर दी थी। 83 साल का मूडी अमेरिका के इतिहास में मौत की सजा पाने वाला सबसे बुजुर्ग व्यक्ति है। मूडी ने ये हत्याएं करीब 29 साल पहले 1989 में की थीं। इस घटना में जज की पत्नी भी घायल हो गई थीं।रिपोर्ट्स के मुताबिक, डेथ पेनल्टी इन्फर्मेशन सेंटर से मिली जानकारी में कहा गया है कि 1970 के दशक में देश में मौत की सजा का प्रावधान फिर से लागू किए जाने के बाद मूडी अमेरिका में सबसे अधिक उम्र के व्यक्ति हैं जिनकी मौत की सजा पर अमल किया गया है। इससे पहले 2005 में 77 साल के जॉन निक्सन को फांसी दी गई थी। अलबामा के गवर्नर के कार्यालय ने बयान जारी कर बताया, ‘फेडरल जज रॉबर्ट वेन्स की 1989 में की गयी हत्या के मामले में वाल्टर लेरोय मूडी को फांसी दी गई है।’रिपोर्ट्स के मुताबिक, मूडी को स्थानीय समयानुसार 8 बजकर 42 मिनट पर इंजेक्शन के द्वारा मौत दी गई। राज्य के अटॉर्नी जनरल स्टीव मार्शल की ओर से जारी बयान के अनुसार, मूडी, जॉर्जिया के अधिकवक्ता की पाइप बम विस्फोट कर हत्या करने का भी दोषी है। अलबामा के बर्मिंघम में दिसंबर, 1989 में मकान में हुए बम विस्फोट में वेन्स की मौत हो गई जबकि उनकी पत्नी घायल हो गई थीं।

इंडियन बॉक्सिंग लीग: पंजाब पैंथर्स को 5-2 से हरा गुजरात जाएंट्स ने हासिल किया पहला स्थान

इंडियनबॉक्सिंगलीगपंजाबपैंथर्सको52सेहरागुजरातजाएंट्सनेहासिलकियापहलास्थानAaj Ka Panchang 6 July 2022: जानिए बुधवार का पंचांग, राहुकाल, शुभ मुहूर्त और सूर्योदय-सूर्यास्त का समय******आज आषाढ़ शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि और बुधवार का दिन है। सप्तमी तिथि आज शाम 7 बजकर 49 मिनट तक रहेगी। आज दोपहर पहले 11 बजकर 12 मिनट तक वरीयान योग रहेगा, उसके बाद परिघ योग लग जायेगा। साथ ही आज दोपहर पहले 11 बजकर 44 मिनट तक उत्तराफाल्गुनी नक्षत्र रहेगा, उसके बाद हस्त नक्षत्र लग जायेगा। आचार्य इंदु प्रकाश से जानिए बुधवार का पंचांग, राहुकाल, शुभ मुहूर्त और सूर्योदय-सूर्यास्त का समय।इंडियनबॉक्सिंगलीगपंजाबपैंथर्सको52सेहरागुजरातजाएंट्सनेहासिलकियापहलास्थानरेलवे देश के 4000 स्टेशनों पर देगा फ्री इंटरनेट, ऐेसे करें RailTel की Wi-Fi सर्विस का इस्तेमाल******रेलवे ने यात्रियों को दी बड़ी खुशखबरी, फ्री में मिलेगा इंटरनेटआज के समय में इंटरनेट डेटा एक सबसे अहम जरूरत बन गया है। आपको ट्रेन की टिकट करानी हो या कोई दूसरा सरकारी काम, हर काम इंटरनेट की मदद से ही पूरा होता है। इस बीच भारतीय रेलवे ने अपने करोड़ों यात्रियों को बड़ी सौगात दी है। भारतीय रेल की कंपनी ने देश के 4000 रेलवे स्टेशनों पर अपनी प्रीपेड Wi-Fi सर्विस की शुरूआत कर दी है। इसकी मदद से रेलवे स्टेशनों पर यात्री हाई-स्पीड इंटरनेट सेवा का उपयोग कर सकेंगे।पढ़ें-पढ़ें-बता दें कि रेलटेल की यह सर्विस पहले 30 मिनट के लिए फ्री होगी। इस दौरान यूजर को 1एमबीपीएस (1 Mbps speed) की स्पीड पर इंटरनेट की सुविधा मिलेगी। इसके बाद 34 Mbps स्पीड तक के लिए उपयोक्ता को बेहद कम शुल्क का भुगतान करना होगा। सर्विस का उपयोग करने के लिए यूजर के पास एक ओटीपी आएगा। जिसके बाद आपको यह फ्री सेवा प्राप्त होगी। बता दें कि रेलटेल पहले से ही देश के 5,950 स्टेशनों को फ्री Wi-Fi सेवा दे रहा है।रेलटेल के CMD पुनीत चावला ने कहा कि हमने उत्तर प्रदेश के 20 स्टेशनों पर प्रीपेड Wi-Fi का परीक्षण किया। इसके जो परिणाम प्राप्त हुए, उसके आधार पर अब हम इस योजना को भारत में 4,000 से ज्यादा स्टेशनों पर शुरू कर रहे हैं। हमारी योजना सभी स्टेशनों को रेलवायर Wi-Fi से जोड़ने की है।

इंडियन बॉक्सिंग लीग: पंजाब पैंथर्स को 5-2 से हरा गुजरात जाएंट्स ने हासिल किया पहला स्थान

इंडियनबॉक्सिंगलीगपंजाबपैंथर्सको52सेहरागुजरातजाएंट्सनेहासिलकियापहलास्थाननोटबंदी, GST और RERA का भारतीय रियल एस्टेट सेक्‍टर पर दिखा असर, 2017 में आया 2.6 अरब डॉलर विदेशी निवेश****** भारतीय में वर्ष 2017 में 2.6 अरब डॉलर का विदेशी निवेश आया। नाईट फ्रैंक की एक रिपोर्ट में सोमवार को यह जानकारी दी गई। नाईट फ्रैंक के भारत के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक शिशिर बैजल के अनुसार, 2017 में साल-दर-साल आधार पर इस क्षेत्र में विदेशी पूंजी प्रवाह में 31 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई। रिपोर्ट में बताया गया है कि इस क्षेत्र में हुए सुधार और रियल एस्टेट नियामक अधिनियम (RERA), वस्तु एवं सेवा कर और नोटबंदी ने भारतीय रियल एस्टेट के आकर्षण को अंतरराष्ट्रीय निवेशकों और डेवलपर्स के बीच बढ़ाया, जिस वजह से निवेश का अनुकूल माहौल बना। बैजल के अनुसार, 2016 में 31 प्रतिशत वृद्धि के साथ 2017 में भारत में सीमापार से पूंजी प्रवाह (डेवलपमेंट साइट्स को छोड़कर) 2.6 अरब डॉलर रहा। उन्‍होंने कहा कि प्रॉपर्टी बाजार में सीमापार से पूंजी प्रवाह को आकर्षित करने वाले 73 देशों की सूची में 19वां स्थान ग्रहण कर भारत अपने एशिया प्रशांत के क्षेत्रीय समकक्षों से आगे बढ़ गया है।नाईट फ्रैंक की 'एक्टिव कैपिटल : द रिपोर्ट 2018' के अनुसार, भारत में आया विदेशी निवेश एशिया प्रशांत के देशों मलेशिया, थाईलैंड, इंडोनेशिया, वियतनाम और फिलीपींस में आए कुल विदेशी निवेश से भी अधिक है।

इंडियनबॉक्सिंगलीगपंजाबपैंथर्सको52सेहरागुजरातजाएंट्सनेहासिलकियापहलास्थानMoon Mission: नासा आज चांद पर भेज रहा ‘मून रॉकेट’, आर्टेमिस-1 लॉन्चिंग के लिए तैयार******Highlights NASA का अब तक का सबसे ताकतवर स्पेस रॉकेट धरती को छोड़कर अंतरिक्ष में रवानगी के लिए तैयार है। नासा Artemis-1 मिशन के तहत अपनी पहली टेस्ट फ्लाइट अंतरिक्ष में भेज रहा है।यह स्पेसक्राफ्ट आज सोमवार शाम को अपने फ्लोरिडा लॉन्चपैड से उड़ान भरेगा। Artemis 1 मिशन के अंतर्गत ओरियन स्पेसक्राफ्ट को भेजा जाएगा। इसमें ऊपर 6 लोगों के बैठने के लिए डीप स्पेस एक्सप्लोरेशन कैप्सूल है। इसमें 322 फीट लंबा 2600 टन वजन वाला लॉन्च सिस्टम मेगारॉकेट होगा। यह रॉकेट आज पहले लिफ्टआफ के लिए तैयार है। इसे फलोरिडा के केप कैनावेरल लॉन्च कॉम्पलेक्स से लॉन्च किया जाएगा। आधी सदी पहले अपोलो लूनर मिशन को लॉन्च किया गया था।इसे उसी कैप केनावेरल से लॉन्च किया जाएगा, जहां से आधी सदी पहले अपोलो लूनर मिशन लॉन्च किया गया था।स्पेसक्राफ्ट में क्रू नहीं, पुतले जाएंगेचांद पर इंसानों को भेजने का एक टेस्अ है। फिलहाल इसमें कोई क्रू मेंबर नहीं जाएगा। ओरियन में इंसानों के स्थान पर उनके पुतलों को बैठाया जाएगा। इससे नासा नेक्स्ट जनरेशन स्पेससूट और रेडिएशन के स्तर का मूल्यांकन किया जाएगा। ओरियन स्पेसक्राफ्ट चंद्रमा के चारों ओर करीब 42 दिन की यात्रा करेगा। यह मिशन सफल हुआ तो 2025 तक चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर पहली महिला और दो स्पेस यात्रियों को उतारा जाएगा।2025 में उतरेंगे अंतरिक्ष यात्रीनासा अपने 2025 के मिशन दल में पहली बार एक महिला अंतरिक्ष यात्री को भी उतारेगा। इससे पहले नासा अपोलो मिशन के तहत भी चांद पर इंसानों को भेज चुका है। अब दूसरी बार चांद पर इंसानों को भेजने की तैयारी कर चुका है।चांद पर उतरने वाले पहले मानवअमेरिकी अंतरिक्ष यात्री नील आर्म स्ट्रांग पहली बार 20 जुलाई 1969 को चांद की सतह पर उतरे थे। तब उनकी उम्र महज 38 वर्ष थी। उनके साथ एक अन्य साथी एडविन एल्ड्रिन भी थे। यह यान 16 जुलाई को धरती से उड़ान भरने के बाद 20 जुलाई को अंतरिक्ष पहुंचा था। इस यान को पहुंचने में चार दिन का समय लगा था। यह यान 21 घंटे 31 मिनट तक चांद पर रहा और फिर सभी यात्रियों को सुरक्षित लेकर वापस धरती पर आ गया। तब से नील आर्म स्ट्रांग का नाम इतिहास के सुनहरे अक्षरों में दर्ज हो गया। वर्ष 2012 में नील आर्म स्ट्रांग का निधन हो गया।इंडियनबॉक्सिंगलीगपंजाबपैंथर्सको52सेहरागुजरातजाएंट्सनेहासिलकियापहलास्थानNupur Sharma controversy: पैगंबर मोहम्मद पर नूपुर शर्मा के विवादित बयान के बाद कतर में भारतीयों की मुश्किलें बढ़ीं, कोड ऑफ कंडक्ट की मांग तेज******Highlights नूपुर शर्मा के पैगंबर मोहम्मद के बारे में की गई टिप्पणी का मामला दुनियाभर में चर्चा का विषय बन गया है। खासतौर पर इस्लामिक देशों में इस बयान की निंदा की जा रही है और लोग विरोध भी जता रहे हैं। कतर में तो इस मुद्दे ने काफी तूल पकड़ा है, जिसकी वजह से कतर में रह रहे भारतीयों को स्थानीय लोगों के ताने सुनने पड़ रहे हैं और वह दबाव महसूस कर रहे हैं।कतर में स्थानीय लोगों से ज्यादा संख्या भारतीयों की है। जिसमें वर्कर्स और बिजनेसमैन शामिल हैं। लेकिन इन भारतीयों की समस्या यही है कि जब भी कोई राजनेता भारत में हेट स्पीच देता है तो उसका फर्क उनपर पड़ता है। वह प्रेशर में आ जाते हैं क्योंकि स्थानीय लोग उस हेट स्पीच का जिक्र करते हुए उन्हें निशाना बनाते हैं और कतर में रहने वाले भारतीयों के पास कोई जवाब नहीं होता।ये कतर के स्थानीय नागरिकों की चर्चाओं का ही असर था कि कतर ने भारतीय राजदूत को बुलाकर अपनी नाराजगी जाहिर की। हालांकि बीजेपी ने नूपुर शर्मा को पार्टी से निकालकर मामले को संभालने की कोशिश तो की लेकिन उससे बहुत फर्क नहीं पड़ा है क्योंकि चर्चाओं का बाजार अभी भी गरम है।हेट स्पीच की वजह से भारतीयों को विदेशों में शर्मिंदगी और परेशानी ना उठानी पड़े इसलिए लोग कोड ऑफ कंडक्ट की मांग कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि कुछ ऐसा कानून बनाना चाहिए, जिससे हेट स्पीच देने वाले लोगों पर फौरन कार्रवाई हो और इस पर रोक भी लग सके।लोगों का कहना है कि हेट स्पीच किसी भी धर्म के लोग दें, उस पर रोक लगनी ही चाहिए। क्योंकि हेट स्पीचर्स ये नहीं जानते कि उनके इन बयानों से देश के बाहर रहने वाले भारतीय नागरिकों को कितनी समस्याओं का सामना करना पड़ता है।गौरतलब है कि 57 मुस्लिम देशों के इस्लामिक सहयोग संगठन (OIC) ने भी पैगंबर मोहम्मद पर नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) के विवादित बयान की निंदा की थी और कहा था कि बीते दिनों में भारत में मुसलमानों के खिलाफ हिंसा के मामले बढ़ रहे हैं। हिजाब पर बैन के साथ मुस्लिमों पर प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं।क्या है नूपुर शर्मा से जुड़ा पूरा विवादभाजपा के प्रवक्ता के तौर पर नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) शुक्रवार 27 मई को नेशनल टेलीविजन न्यूज चैनल की डिबेट में गई थीं। डिबेट के दौरान उन्होंने कहा था कि कुछ लोग हिंदू आस्था का लगातार मजाक उड़ा रहे हैं। अगर ऐसा है तो वह भी दूसरे धर्मों का मजाक उड़ा सकती हैं। इसके बाद उन्होंने कुछ इस्लामिक मान्यताओं की बात की।नूपुर (Nupur Sharma) की इस डिबेट के दौरान कही गई बातों को कथित फैक्ट चेकर मोहम्मद जुबैर ने अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया और ये आरोप लगाया कि उन्होंने पैगंबर मोहम्मद पर विवादित टिप्पणी की है। इसके बाद नुपुर का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया और एक जून को महाराष्ट्र में उनके खिलाफ धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का पहला केस दर्ज हुआ।इसके बाद दो जून को ही महाराष्ट्र में उनके खिलाफ दूसरा मामला दर्ज हुआ। विवाद को बढ़ता देख बीजेपी ने 5 जून को नूपुर शर्मा को पार्टी से निलंबित कर दिया।नूपुर शर्मा कौन हैं?निलंबित होने से पहले तक नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) को बीजेपी की तेज-तर्रार प्रवक्ता माना जाता रहा है। वह साल 2015 में खूब चर्चा में रही थीं क्योंकि बीजेपी ने दिल्ली में उन्हें आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल के खिलाफ मैदान में उतारा था। नूपुर शर्मा दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ के अध्यक्ष रूप में भी काफी चर्चा में रहीं। वह साल 2008 में ABVP से छात्र संघ चुनाव जीतने वाली एकमात्र कैंडीडेट थीं।साल 2010 में नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) ने छात्र राजनीति से बीजेपी की युवा मोर्चा की राजनीति में हिस्सा लिया और राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी की जिम्मेदारी संभाली। वह पेशे से वकील हैं और उन्होंने लंदन स्कूल ऑफ इकनॉमिक्स से पढ़ाई की है। नूपुर शर्मा काफी पढ़ी लिखी हैं और उन्होंने बर्लिन से भी पढ़ाई की है।

इंडियनबॉक्सिंगलीगपंजाबपैंथर्सको52सेहरागुजरातजाएंट्सनेहासिलकियापहलास्थानGST के विज्ञापनों पर सरकार ने खर्च किए 132.38 करोड़ रुपए******GST advertisment cost Rs 132 cr for Government (GST) के पर सरकार ने 132.38 करोड़ रुपए खर्च किए हैं। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के तहत काम करने वाली एक एजेंसी ने एक RTI के जवाब में यह जानकारी दी है।मंत्रालय के तहत काम करने वाले ब्यूरो ऑफ आउटरीच एंड कम्युनिकेशंस से मंत्रालय ने नौ अगस्त 2018 को RTI के जवाब में मिली जानकारी के अनुसार सरकार ने पत्र पत्रिकाओं में जीएसटी के विज्ञापनों पर 1,26,93,97,121 रुपए खर्च किए हैं। इसी मद में इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर खर्च शून्य बताया गया।प्राप्त जानकारी के अनुसार खुले में इस्तहार आद के माध्यम से GST के प्रचार पर 5,44,35,502 रुपए खर्च किए हैं। उल्लेखनीय है कि GST को एक जुलाई 2017 को लागू किया गया था।इंडियनबॉक्सिंगलीगपंजाबपैंथर्सको52सेहरागुजरातजाएंट्सनेहासिलकियापहलास्थानJammu and Kashmir: सीमा पार से जम्मू कश्मीर में फिर घुसा ड्रोन, BSF की फायरिंग से डककर भागा******Highlights जम्मू-कश्मीर के कानाचक सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय सीमा (आईबी) के पास सीमा सुरक्षा बल (BSF) ने उड़ती हुई एक संदिग्ध वस्तु पर गोलियां चलाईं। एक वरिष्ठ अधिकारी ने मंगलवार को इसकी जानकारी देते हुए बताया कि सोमवार रात करीब नौ बजकर 35 मिनट पर हवा में एक चमकती वस्तु नजर आई, जो सीमा पार से भारतीय क्षेत्र में दाखिल होने की कोशिश कर रही थी। उन्होंने बताया कि बीएसएफ के जवानों ने उस चमकती वस्तु की ओर गोलियां चलाईं, जिसके बाद वह नहीं दिखी। अधिकारी ने बताया कि पुलिस और अन्य एजेंसियों ने इलाके में तलाश अभियान शुरू किया है, हालांकि अभी तक कुछ भी बरामद नहीं हुआ है।लश्कर-ए-तैयबा के तीन 'मॉड्यूल' का भंडाफोड़इससे पहले, पुलिस ने लश्कर-ए-तैयबा के तीन 'मॉड्यूल' का भंडाफोड़ किया था और उसके सात सदस्यों को गिरफ्तार किया था। पाकिस्तान से 35 ड्रोन के जरिए गिराए गए हथियारों, गोला-बारूद और विस्फोटक सामानों का एक बड़ा जखीरा भी बरामद किया गया था। लश्कर ने कथित तौर पर ड्रोन द्वारा गिराए गए हथियारों को इकट्ठा करने और उन्हें कश्मीर में आतंकवादियों को पहुंचाने के लिए जम्मू और राजौरी जिलों में तीन आतंकवादी 'मॉड्यूल' स्थापित किए थे।नापाक साजिशों को मुंहतोड़ जवाबभारत में आतंक फैलाने के लिए पाकिस्तान अपनी नापाक साजिशों को लगातार रच रहा है। उसने कश्मीर में आतंक फैलाने के लिए ड्रोन को अपना जरिया बनाया है। वह ड्रोन के जरिए कश्मीर में हथियारों की खेप भेजकर आतंक फैलाना चाहता है। हालांकि सुरक्षाबलों के जवान पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं और उसकी किसी साजिश को कामयाब नहीं होने दे रहे हैं। जब से अमरनाथ यात्रा की शुरुआत हुई है, तब से पाकिस्तान इममें खलल डालने की पूरी कोशिश कर रहा है, पर अभी तक कामयाब नहीं हो पाया है।

इंडियनबॉक्सिंगलीगपंजाबपैंथर्सको52सेहरागुजरातजाएंट्सनेहासिलकियापहलास्थानओल्ड ट्रैफर्ड टेस्ट रद्द होने के बाद गावस्कर को याद आया 2008 का इंग्लैंड का भारत दौरा******मैनचेस्टर। भारतीय दिग्गज सुनील गावस्कर ने रद्द किए गए ओल्ड ट्रैफर्ड टेस्ट को फिर से आयोजित करने की बीसीसीआई (भारतीय क्रिकेट बोर्ड) की पेशकश की सराहना करते हुए कहा कि भारत को दौरे को पूरा करने के लिए वापस लौटने की इंग्लैंड की उस मदद को कभी नहीं भूलना चाहिए जिसे 2008 में 26/11 के मुंबई आतंकवादी हमलों के कारण बीच में ही रोक दिया गया था।भारतीय टीम के सहायक फिजियो योगेश परमार भी पॉजिटिव पाये गए जिसके बाद भारतीय टीम ने टेस्ट श्रृंखला का पांचवां मैच नहीं खेलने का फैसला किया। भारतीय खिलाड़ी कोविड-19 जांच में पॉजिटिव आने के बाद 10 दिनों तक इंग्लैंड में पृथकवास में रहने के लिए मानसिक रूप से तैयार नहीं थे। इससे इंडियन प्रीमियर लीग का आयोजन भी प्रभावित हो सकता था।बीसीसीआई और इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने बाद में कहा की कि मैच बाद की किसी तारीख को फिर से खेला जाएगा। यह मुकाबला हालांकि इस श्रृंखला का हिस्सा नहीं होगा लेकिन इस बारे में आधिकारिक तौर पर कुछ भी नहीं कहा गया है। गावस्कर ने श्रृंखला आधिकारिक भारतीय प्रसारक सोनी स्पोर्ट्स से कहा, ‘‘ हां, मुझे लगता है कि यह सही (रद्द किए गए टेस्ट को फिर से खेलने की योजना बनना) कदम होगा। देखिए, भारत में हमें इस बात को कभी नहीं भूलना चाहिए कि इंग्लैंड की टीम ने 2008 में 26/11 के आतंकवादी हमले के बाद क्या किया था। वे श्रृंखला पूरी करने वापस आये थे।’’उन्होंने कहा, ‘‘ इंग्लैंड की टीम उस समय कह सकती थी कि ‘हम सुरक्षित महसूस नहीं करते। हम वापस नहीं आयेंगे’ लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया।’’ जब आतंकवादियों ने मुंबई पर हमला किया तब मेहमान इंग्लैंड की टीम 26 नवंबर को कटक में भारत के खिलाफ एकदिवसीय मैच खेल रही थी। जिससे सात मैचों की श्रृंखला के आखिरी दो एकदिवसीय मैच रद्द हो गए। इंग्लैंड ने तुरंत स्वदेश जाने का फैसला किया। लेकिन बाद में दो टेस्ट मैचों की श्रृंखला के लिए वापसी की जिसमें भारत ने 1-0 से जीत हासिल की। गावस्कर ने कहा कि तत्कालीन कप्तान केविन पीटरसन ने टेस्ट मैचों के लिए इंग्लैंड की वापसी के फैसले में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। उन्होंने कहा, ‘‘ यह कभी नहीं भूलना चाहिये कि केविन पीटरसन ने टीम का उस टीम का नेतृत्व किया, और वह इस फैसले के मामले में मुख्य व्यक्ति थे। अगर पीटरसन ने उस समय भारत आने से मना कर दिया होता तो दौरा वही खत्म हो जाता।’’ गावस्कर ने बीसीसीआई के मैच बाद की तारीख में फिर से खेलने की पेशकश को ‘शानदार खबर’ करार देते हुए कहा कि रद्द किये गये टेस्ट को इंडियन प्रीमियर लीग के बाद अगले साल आयोजित किया जा सकता है।इंडियनबॉक्सिंगलीगपंजाबपैंथर्सको52सेहरागुजरातजाएंट्सनेहासिलकियापहलास्थानIPL 2020 : टी20 क्रिकेट में क्रिस गेल के पास 'सिक्सर किंग' बनने का सुनहरा मौका, हासिल कर सकते हैं ये मुकाम******नईदिल्ली| अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी के कारण दुनिया भर की टी20 लीग में अपना विशिष्ट स्थान रखने वाले क्रिस गेल आगामी इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के दौरान क्रिकेट के इस छोटे प्रारूप में 1000 छक्के लगाने वाले विश्व के पहले बल्लेबाज बन सकते हैं। आईपीएल में सर्वाधिक 326 छक्के लगाने वाले गेल ने टी20 क्रिकेट में अब तक 978 छक्के लगाये हैं और इस तरह से उन्हें 1000 का जादुई आंकड़ा छूने के लिये केवल 22 छक्कों की जरूरत है।गेल अभी तक आईपीएल में 11 टूर्नामेंट में खेले हैं और इनमें से छह अवसरों पर उन्होंने 22 से अधिक छक्के लगाये। टी20 में सर्वाधिक चौके (1026) लगाने का रिकार्ड भी गेल के नाम पर है। गेल निजी कारणों से कैरेबियाई प्रीमियर लीग (सीपीएल) में नहीं खेले थे लेकिन आईपीएल में वह किंग्स इलेवन पंजाब का प्रतिनिधित्व करने के लिये तैयार हैं जिसकी तरफ से पिछले साल उन्होंने 34 छक्के और 2018 में 27 छक्के जड़े थे। गेल एकमात्र ऐसे बल्लेबाज हैं जिन्होंने आईपीएल के चार टूर्नामेंटों में सर्वाधिक छक्के लगाने का रिकार्ड बनाया था।उन्होंने 2011 (44 छक्के), 2012 (59), 2013 (51) और 2015 (38) में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (आरसीबी) की तरफ से खेलते हुए यह रिकार्ड बनाया था। वह आगामी आईपीएल के दौरान 21 सितंबर को अपना 41वां जन्मदिन मनाएंगे। वेस्टइंडीज के इस बायें हाथ के बल्लेबाज ने 2013 में आरसीबी की तरफ से पुणे वारियर्स के खिलाफ नाबाद 175 रन की अपनी रिकार्ड पारी के दौरान 17 छक्के लगाये थे जो आईपीएल का रिकार्ड है। टी20 के किसी एक मैच में सर्वाधिक 18 छक्के लगाने का रिकार्ड भी गेल के नाम पर है लेकिन उन्होंने यह कारनामा 2017 में बांग्लादेश प्रीमियर लीग में किया था। आईपीएल में गेल के बाद सर्वाधिक छक्के लगाने वाले बल्लेबाजों में एबी डिविलियर्स (212) और महेंद्र सिंह धोनी (209) शामिल हैं।ओवरऑल सूची में भी गेल के बाद वेस्टइंडीज के एक अन्य धुरंधर कीरोन पोलार्ड (672) का नंबर आता है लेकिन वह उनसे काफी पीछे हैं। यही नहीं टी20 में सर्वाधिक रन (13,296), सर्वाधिक शतक (22), सर्वाधिक अर्धशतक (82), एक पारी में सर्वोच्च स्कोर (नाबाद 175), सबसे तेज शतक (30 गेंद), हारने वाली टीम की तरफ से मैच में सर्वाधिक रन (नाबाद 151), एक कैलेंडर वर्ष में सर्वाधिक रन (2015 में 1665), सर्वाधिक मैन आफ द मैच (58) और एक पारी में चौके-छक्कों से सर्वाधिक रन (154 बनाम पुणे वारियर्स) का रिकार्ड भी गेल के नाम पर है लेकिन आईपीएल के दौरान वह एक ऐसा रिकार्ड भी बना सकते हैं जिसके करीब वह कभी फटकना भी नहीं चाहेंगे।यह रिकार्ड है टी20 में सर्वाधिक बार खाता नहीं खोल पाने यानि शून्य पर आउट होने का। गेल टी20 में अब तक 27 बार खाता खोलने में नाकाम रहे हैं और इस मामले में वह पाकिस्तान के उमर अकमल के साथ संयुक्त दूसरे स्थान पर हैं। पहले स्थान पर वेस्टइंडीज के ही ड्वेन स्मिथ (28) हैं। दिलचस्प बात यह है कि टी20 में शून्य पर आउट हुए बिना सर्वाधिक पारियां (145) खेलने का रिकार्ड भी गेल के नाम पर दर्ज है। यह रिकार्ड उन्होंने 10 फरवरी 2012 से पांच फरवरी 2016 के बीच बनाया था।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-07 14:06
उद्धरण 1 इमारत
लोकसभा चुनाव: बिहार की सासाराम सीट पर क्या मीरा कुमार बचा पाएंगी अपने पिता की ‘विरासत’****** के लोकसभा क्षेत्र में तपती धरती और लू के बीच शहर से लेकर गांव तक चुनावी चर्चा गर्म है। शहर में पान की दुकानों से लेकर गांव में चाय की दुकानों तक लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तक की चर्चा कर रहे हैं। स्थानीय उम्मीदवारों को लेकर भी चाय पर चर्चा जारी रहती है। सासाराम (सुरक्षित) संसदीय सीट पर इस चुनाव में पिछले लोकसभा चुनाव की तरह मुख्य महागठबंधन प्रत्याशी कांग्रेस नेता और पूर्व लोकसभा अध्यक्ष और राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) की ओर से भारतीय जनता पार्टी (BJP) नेता छेदी पासवान के बीच है।हालांकि यहां 13 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। सासाराम सीट पर अंतिम और सातवें चरण में 19 मई को मतदान होना है। इस सीट पर जहां मीरा कुमार के सामने अपने पिता बाबू जगजीवन राम की विरासत बचाने की चुनौती है तो वहीं भाजपा प्रत्याशी छेदी पासवान के सामने इस क्षेत्र से चौथी बार जीत दर्ज करने की चुनौती है। सासाराम कांग्रेस की परंपरागत सीट रही है। जगजीवन राम और सासाराम एक-दूसरे के पर्याय रहे हैं। 1984 में जब कांग्रेस के विरोध में पूरे देश में हवा चल रही थी, तब भी यह सीट कांग्रेस के खाते में आई थी और जगजीवन राम यहां से आठवीं बार विजयी हुए थे।इसके बाद वर्ष 1989 में हुए आम चुनाव में यह सीट जनता दल के हाथ में चली गई, परंतु 1996 में इस सीट पर भाजपा ने कब्जा जमा लिया। पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा के छेदी पासवान ने कांग्रेस की मीरा कुमार को पराजित कर तीसरी बार जीत दर्ज की थी। उस चुनाव में पासवान को जहां 3,66,087 मत मिले थे, वहीं मीरा कुमार को 3,02,760 मत मिले थे।सासाराम में सवर्ण वर्ग में ब्राह्मण और राजपूत सबसे ज्यादा हैं। लेकिन मतदाताओं की सबसे बड़ी संख्या दलितों की है। दलितों में मीरा कुमार की जाति रविदास पहले नंबर पर और दूसरे नंबर पर छेदी पासवान की जाति पासवान है। सासाराम लोकसभा क्षेत्र में 6 विधानसभा सीटें मोहनिया, भभुआ, चौनपुर, चेनारी, सासाराम और करहगर आती हैं। इनमें तीन विधानसभा सीटें रोहतास जिले की, जबकि तीन कैमूर जिले की हैं। इस क्षेत्र का लोकसभा में सबसे ज्यादा प्रतिनिधित्व जगजीवन राम और उनकी पुत्री ने किया है।इस संबंध में पूछे जाने पर कैमूर जिला के रामपुर के भलुआ गांव निवासी रामप्रवेश तिवारी कहते हैं, ‘यह कृषि प्रधान क्षेत्र है। मीरा कुमार दुर्गावती जलाशय परियोजना जमीन पर लाईं, परंतु आज तक कई क्षेत्रों में इससे खेतों में पानी नहीं पहुंचाया जा सका है। हालांकि इनकी ही देन है कि इंद्रपुरी डैम का निर्माण हुआ है। दुर्गावती परियोजना की योजना अगर ठीक ढंग से पूरी हो जाए तो 'धान का कटोरा' माने जाने वाले इस क्षेत्र में किसान फिर से संपन्न हो जाएंगे।’शिक्षा के क्षेत्र में विकास नहीं होने से इस क्षेत्र के लोगों में नाखुशी है। मझिगांव के टुना पांडेय, दरिगांव के धनंजय सिंह कहते हैं कि जिले में एक भी अंगीभूत महिला कॉलेज नहीं है। संबद्घ कॉलेजों में छात्राएं डिग्री प्राप्त कर रही हैं। सरकारी स्कूलों की हालत भी बहुत अच्छी नहीं है। मीरा कुमार को इस बार राष्ट्रीय जनता दल, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा, रालोसपा सहित कई छोटे दलों का समर्थन है, जबकि भाजपा को जद (यू) का साथ है। पिछले चुनाव में रालोसपा राजग के साथ थी, लेकिन इस बार वह महागठबंधन के साथ है।सासाराम के वरिष्ठ पत्रकार और क्षेत्र की राजनीति पर गहरी नजर रखने वाले विनोद कुमार तिवारी कहते हैं, ‘इस चुनाव में महागठबंधन की प्रत्याशी मीरा कुमार और राजग प्रत्याशी छेदी पासवान के बीच सीधा मुकाबला है, परंतु पिछले चुनाव में चौथे स्थान पर रहे मनोज राम इस चुनाव में भी बहुजन समाज पार्टी से चुनाव मैदान में हैं, जो मुकाबले को त्रिकोणीय बनाने के लिए जी-तोड़ मेहनत कर रहे हैं।’तिवारी कहते हैं, ‘दलितों में रविदास मतदाता यहां सबसे अधिक करीब 19 प्रतिशत हैं। इस वर्ग पर मीरा कुमार की अच्छी पकड़ है। परंतु मनोज इस वोटबैंक में सेंध लगाने के लिए प्रयासरत हैं। ऐसे में बसपा जो भी वोट लेगी, वह कांग्रेस के वोट को ही काटेगी। कांग्रेस को इस चुनाव में मुस्लिम, यादव के अलावा सवर्णों का भी साथ मिल रहा है। हालांकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का चेहरा युवाओं की पसंद बना हुआ है, जिस कारण मुकाबला कांटे का है।’
2022-10-07 13:16
उद्धरण 2 इमारत
Aaj Ka Panchang 6 July 2022: जानिए बुधवार का पंचांग, राहुकाल, शुभ मुहूर्त और सूर्योदय-सूर्यास्त का समय******आज आषाढ़ शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि और बुधवार का दिन है। सप्तमी तिथि आज शाम 7 बजकर 49 मिनट तक रहेगी। आज दोपहर पहले 11 बजकर 12 मिनट तक वरीयान योग रहेगा, उसके बाद परिघ योग लग जायेगा। साथ ही आज दोपहर पहले 11 बजकर 44 मिनट तक उत्तराफाल्गुनी नक्षत्र रहेगा, उसके बाद हस्त नक्षत्र लग जायेगा। आचार्य इंदु प्रकाश से जानिए बुधवार का पंचांग, राहुकाल, शुभ मुहूर्त और सूर्योदय-सूर्यास्त का समय।
2022-10-07 12:31
उद्धरण 3 इमारत
India TV Exclusive : भारतीय वायुसेना की बढ़ेगी ताकत, जानिए क्या है पीएम मोदी का प्लान 2035******Highlightsभारतीय वायुसेना (Indian Air Force) अपनी ताकत में और इजाफा करने की कोशिश में जुटी हुई है। वायुसेना को और मजबूत बनाने के पीएम मोदी के प्लान 2035 पर तेजी से काम चल रहा है। प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) खुद समय-समय पर इस प्रोजेक्ट की जानकारी लेते रहते हैं। वे सभी सीनियर अधिकारियों से इस प्रोजेक्ट के बारे में बात करते हैं। इस प्लान के तहत अपनी गिरती हुई स्क्वाड्रन की संख्याओं को बढ़ाएगी। प्लान 2035 के तहत वायुसेना एडवांस मीडियम कॉम्बैट एयरक्राफ्ट (AMCA) की तैयारी में भी जुटी है। यह विमान पायलट के साथ और बिना पायलट के भी उड़ान भर सकेगा। करीब 368 विमानों को जोड़कर वायुसेना की ताकत को और बढ़ाने की योजना पर काम चल रहा है। इन दिनों DRDO की ADA लैब दिन-रात पीएम मोदी के इस प्लान 2035 पर काम कर रही है।मिग और मिराज की जगह लेंगे तेजस मार्क-1 और तेजस मार्क-2इस समय भारतीय वायुसेना के बेड़े में मिग-21, मिग-29, मिराज 2000 और जैगुआर जैसे विमान हैं जो अब पुराने हो चुके हैं और इन्हें बदलने की तैयारी की जा रही है। अब तेजस मार्क-1 मिग 21 की जगह लेगा तो वहीं मिग-29 जैगुआर और मिराज 2000 की जगह तेजस मार्क-2 लेगा। लेकिन सबसे बड़ा क़दम इस समय एडवांस मीडियम कॉम्बैट एयरक्राफ्ट (AMCA) है। यह विमान स्टैल्थ कैपेबिलिटि वाला दुनिया का सबसे आधुनिक पांच से छह जनरेशन वाला फाइटर एयरक्राफ्ट बनने जा रहा है। यह विमान पायलट के साथ और बिना पायलट के भी उड़ान भर सकता है। यह विमान अमेरिका के F-35 से भी ज़्यादा आधुनिक है।इस समय ADA लैब में इसकी पूरी तैयारी चल रही है।एडवांस मीडियम कॉम्बैट एयरक्राफ्ट से बढ़ेगी वायुसेना कीताकतइंडिया टीवी की रिपोर्टिंग टीम ने भी इस अत्याधुनिक विमान में विंग कमांडर सिद्धार्थ सिंह के साथ करीब 45 मिनट तक उड़ान भरी। ये किसी भी मौसम में अपने पूरे आधुनिक हथियारों के साथ उड़ान भर सकता है और दुश्मन को ध्वस्त कर सकता है। इस समय भारतीय वायुसेना के पास मौजूद जितने भी मिसाइल्स हैं वो इस विमान में लग सकती हैं। इसके इलावा इसकी टेस्टिंग एस्ट्रो मिसाइल,आर 73, पाइथन से हो चुकी है और अब रूद्रम लगाने की भी तैयारी की जा रही है। विंग कमांडर सिद्धार्थ के साथ इंडिया टीवी संवाददाता ने एयर टू एयर यानी हवा से हवा में मार करने की इसविमान की क्षमता और हवा से ज़मीनी सतह पर अपने दुश्मन के खेमे को ध्वस्त करने की इसकी क्षमता देखी। 45 मिनट की उड़ान में तेजस की क़ाबिलियत और आधुनिक तकनीक का अदभुत दृश्य देखने को मिला।फिलहाल वायुसेना के पास हैं 40 तेजस विमानआपको बता दें कि इस समय 40 तेजस भारतीय वायुसेना का हिस्सा हैं। तेजस विमानों का दो स्क्वाड्रन भारतीय वायुसेना के पास है। अब तैयारी चल रही है तेजस मार्क-1 की। इनकी कुल संख्या 83 है। इनमें से 73 सिंगल सीटर कॉम्बैट एयरक्राफ्ट हैं वहीं दस ट्वीन सीटर ट्रेनर विमान हैं।आने वाले दिनों में तेजस मार्क-2 विमान मिराज और जैगुआर विमानों की 6 स्क्वाड्रन, यानी करीब 100 से ज्यादा लड़ाकू विमानों की जगह लेंगे। इसके साथ-साथ 7 स्क्वाड्रन एडवांस मीडियम कॉम्बैट एयरक्राफ्ट, जिसकी संख्या क़रीब 120 के लगभग होगी उसकी भी तैयारी की जा रही है। ये विमान पांचवीं और छठी जेनरेशन के लड़ाकू विमान होंगे।इस समय ADA भारतीय नौसेना के साथ भी ट्रायल कर रहा है। इसलिए आने वाले टाइम पर ट्वीट इंजन TEDBF लड़ाकू विमान 45 की संख्या में भारतीय नौसेना का हिस्सा बनेगा।
वापसी