नई पोस्ट करें

7 साल बाद एक बार फिर से दिखेगा का श्रीसंत जलवा, कई भावुक यादों के साथ मैदान पर रखेंगे कदम

2022-10-07 13:28:20 637

सालबादएकबारफिरसेदिखेगाकाश्रीसंतजलवाकईभावुकयादोंकेसाथमैदानपररखेंगेकदमजयदेव उनादकट का बड़ा बयान, प्रथम श्रेणी क्रिकेट की कमी से खिलाड़ियों का कौशल हो रहा है प्रभावित******Highlightsनई दिल्ली। सौराष्ट्र के कप्तान जयदेव उनादकट को लगता है कि लाल गेंद प्रारूप (प्रथम श्रेणी या टेस्ट) में खेल की कमी के कारण खिलाड़ियों का कौशल प्रभावित होना शुरू हो गया है और लगातार दूसरी बार रणजी ट्रॉफी सत्र को रद्द करना भारत में घरेलू क्रिकेट के लिए एक ‘बड़ी क्षति’ होगी। पिछले साल कोरोना वायरस के कारण पहली बार इस शीर्ष घरेलू प्रतियोगिता को रद्द करना पड़ा था। महामारी की तीसरी लहर के कारण मौजूदा सत्र के स्थगित होने से कई खिलाड़ी चिंतित हैं। इस सत्र में टूर्नामेंट को 13 जनवरी से खेला जाना था जिसके लिए प्रमुख तेज गेंदबाज उनादकट और सौराष्ट्र के बाकी खिलाड़ियों ने मार्च 2020 में जीते हुए अपने पहले खिताब के बचाव के लिए अपनी तैयारी शुरू कर दी थी।उनादकट ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘लगातार दो साल तक टूर्नामेंट के रद्द होने से बड़ा नुकसान होगा। पहले एक साल के लिए रद्द होना अपने आप में बहुत बड़ा नुकसान था। जब हमने इस सत्र के स्थगित होने से पहले अपना शिविर शुरू किया था तब यह एक नये खेल की तरह लगा रहा था।’’उन्होंने कहा, ‘‘गेंद को छोड़ना, तेज गेंदबाजी करना और लंबी स्पैल में गेंदबाजी करना। वह सब फिलहाल खेल से बाहर हो गया। अगर इस साल भी रणजी ट्रॉफी नहीं हुई तो यह खिलाड़ियों के लिए मुश्किल होगा।’’बायें हाथ के इस गेंदबाज ने 2020 सत्र में रिकॉर्ड 67 विकेट लिये थे। उन्होंने कहा, ‘‘मैंने सुना है कि बीसीसीआई इसका आयोजन करने का इच्छुक है। अगर वायरस की स्थिति खतरनाक नहीं होती है, तो हम इसे फरवरी में और सख्त बायो-बबल (जैव-सुरक्षित) और अधिक सतर्कता के साथ कर सकते हैं।’’भारत के लिए एक टेस्ट, सात एकदिवसीय और 10 टी20 अंतरराष्ट्रीय खेलने वाले इस खिलाड़ी ने कहा कि अगर फरवरी में इसका आयोजन नहीं हुआ तो बीसीसीआई को आगामी सत्र का आगाज रणजी ट्रॉफी से करना चाहिये।उन्होंने कहा, ‘‘बल्लेबाजों के लिए भी यह काफी अलग हो रहा है। जब मैं बल्लेबाजी कर रहा था तब मैंने पहली गेंद विकेट के पीछे जाने दी और ईमानदारी से कहूं तो यह काफी अलग लग रहा था। मुझे लगता है कि सलामी बल्लेबाजों के अलावा सभी के साथ ऐसा हो रहा है। सलामी बल्लेबाज एकदिवसीय में पारी की शुरुआत में ऐसा करने के आदी होते है।’’उन्होंने अभ्यास सत्र के अनुभव को साझा करते हुए कहा, ‘‘गेंदबाज भी ऐसी गेंदबाजी कर रहे थे जो सीमित ओवरों के मुताबिक थी। वे एक जगह गेंद को टप्पा खिलाने की जगह कुछ गेंदों के बाद बदलाव करते थे।’’ यह अनुभवी क्रिकेटर हालांकि इस बात को समझता है कि महामारी से उत्पन्न चुनौतियों के बीच 38-टीमों के टूर्नामेंट को आयोजित करना बीसीसीआई के लिए काफी कठिन काम है।उन्होंने कहा, ‘‘यह निराशाजनक है लेकिन मुझे लगता है कि कोविड-19 की स्थिति को देखते हुए ऐसा होना ही था और सही फैसला लिया गया। उम्मीद है कि चीजें बेहतर होंगी और हम इसका आधा हिस्सा या आईपीएल से पहले लीग चरण को खेल सकेंगे।’’उन्होंने कहा कि इस मुश्किल समय में खिलाड़ियों की वित्तीय सुरक्षा के लिए केंद्रीय अनुबंध जरूरी है। उन्होंने कहा कि जिस तरह बीसीसीआई ने खिलाड़ियों की आर्थिक मदद की उसी तरह की पहल राज्यों को उन शीर्ष खिलाड़ियों के लिए पहल करना चाहिये जिसे बीसीसीआई से वित्तीय लाभ नहीं मिल सका।उन्होंने कहा, ‘‘बीसीसीआई फिर से पिछले साल की तरह एक सत्र पहले टीम का हिस्सा रहे खिलाड़ियों की मदद कर सकता है लेकिन जो खिलाड़ी टीम में जगह बनाने से चूक गये थे उन्हें कुछ नहीं मिला था। अगर बीसीसीआई शीर्ष 20 खिलाड़ियों को मदद मुहैया करा रहा है तो राज्य संघ उसके बाद के शीर्ष 20 खिलाड़ियों की मदद कर सकते है।’’उन्होंने कहा, ‘‘दो साल पहले मेरी पहल पर बोर्ड (सौराष्ट्र) ने केंद्रीय अनुबंध पर कदम उठाना शुरू किया था लेकिन कोविड-19 के कारण बात आगे नहीं बढ़ी।’’

सालबादएकबारफिरसेदिखेगाकाश्रीसंतजलवाकईभावुकयादोंकेसाथमैदानपररखेंगेकदमबजट 2018 : टेलिकॉम इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर के लिए 10,000 करोड़ रुपए के आवंटन का प्रस्‍ताव, गांवों में लगेंगे 5 लाख Wi-Fi हॉटस्‍पॉट****** ने देश में सरकारी परियोजनाओं के तहत के विस्तार के लिए 2018-19 में 10,000 करोड़ रुपए के आवंटन की घोषणा बजट में की है। इसके साथ ही सरकार ग्रामीण इलाकों में पांच लाख स्थापित करेगी ताकि लगभग पांच करोड़ ग्रामीण हाईस्पीड वाले इंटरनेट का इस्तेमाल कर पाएं। जेटली ने संसद में अपने बजट भाषण में सरकार की भारतनेट परियोजना के तहत किए गए काम का जिक्र करते हुए कहा यह घोषणा की। जेटली ने कहा कि दूरसंचार बुनियादी ढांचा बनाने व उसे मजबूत करने के लिए मैंने 2018-19 में 10,000 करोड़ रुपए का प्रावधान किया है। भारतनेट परियोजना का लक्ष्य मार्च 2019 तक 2.5 लाख ग्राम पंचायतों को हाई स्पीड ब्रॉडबैंड से जोड़ना है। उन्‍होंने कहा कि भारतनेट कार्यक्रम के पहले चरण के तहत एक लाख ग्राम पंचायतों को हाइस्पीड ऑप्टिक फाइबर नेटवर्क से जोड़ने का काम पूरा कर लिया गया है। इससे लगभग 2.5 लाख गांवों में ग्रामीणों की ब्राडबैंड तक पहुंच सुनिश्चित हुई है। सरकार पांच लाख वाईफाई हॉटस्पाट स्थापित करने का भी प्रस्ताव करती है जिससे पांच करोड़ ग्रामीणों को ब्रॉडबैंड पहुंच मिलेगी।उन्होंने कहा कि दरसंचार विभाग आईआईटी चेन्नई में स्वदेशी 5G केंद्र स्थापित करने में मदद करेगा ताकि 5जी जैसी उदीयमान प्रौद्योगिकियों के इस्तेमाल व अंगीकरण को प्रोत्साहित किया जा सके। इसके साथ ही वित्त मंत्री ने विज्ञान व प्रौद्योगिकी विभाग को 3,073 करोड़ रुप, आवंटन की घोषणा की ताकि देश में मशीन लर्निंग, कृत्रिम समझ, इंटरनेट आफ थिंग्स जैसी डिजिटल प्रौद्योगिकियों को बढावा दिया जा सके।जेटली ने डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के लिए आवंटन को 2018 19 में दोगुना कर 3073 करोड़ रुपए करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि सरकार की डिजिटल इंडिया, स्टार्टअप इंडिया व मेक इन इंडिया जैसी पहलों से ज्ञान आधारित व डिजिटल समाज बनाने में मदद मिलेगी। कृत्रिम समझ के क्षेत्र में सरकार के प्रयासों को दिशा देने के लिए नीति आयोग एक राष्ट्रीय कार्यक्रम लाएगा।सालबादएकबारफिरसेदिखेगाकाश्रीसंतजलवाकईभावुकयादोंकेसाथमैदानपररखेंगेकदमRailway Recruitment 2022: रेलवे ​ने निकाली बंपर वैकेंसी, इस तारीख तक कर सकते हैं अप्लाय, जानिए कैसे करें आवेदन******भारतीय रेलवे ने युवाओं के लिए बंपर वैकेंसी निकाली है। आवेदन करने वाले उम्मीदवारों के लिए रेलवे भर्ती सेल—आरआरसी, उत्तर मध्य रेलवे ने अप्रेंटिस रिक्तियों के लिए युवा उम्मीदवारों से आवदेन बुलवाए हैं। इस वैकेंसी के लिए उम्मीदवारों की उम्र 15 से 24 साल के बीच होना चाहिए। इच्छुक उम्मीदवारों की शैक्षणिक योग्यता किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10 क्लास या उसके समकक्ष एग्जाम कम से कम 50 प्रतिशत अंकों के साथ पास करना जरूरी है। इच्छुक उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइट rrcpryj.org पर विजिट कर आवेदन कर सकते हैं। ऑनलाइन आवेदन की आखिरी डेट 01 अगस्‍त रात 11.59 बजे तक है।आवेदन के लिए ये योग्यताएं जरूरीभर्ती के तहत रेलवे अप्रेंटिस के साथ ही फिटर, मशीनिस्ट, वेल्डर, कारपेंटर, पेंटर, इलेक्ट्रीशियन, वायरमैन, मैकेनिक, स्टेनो, क्रेन, हेल्थ सेनेटरी इंस्पेक्टर के रिक्त पद भरे जाएंगे।आवेदन करने के लिए कैंडीडेट का मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10वीं की परीक्षा पास होना जरूरी है। इसके अलावा संबंधित ट्रेड में आईटीआई सर्टिफिकेट (NCVT से मान्यता प्राप्त) होना जरूरी है। आवेदकों को कोई परीक्षा नहीं देनी होगी। उम्मीदवारों को 10वीं के अंक और ITI के अंको के आधार पर चुना जाएगा। कई पदों पर आठवीं पास भी आवेदन कर सकते हैं। ज्यादा जानकारी के लिए आधिकारिक नोटिफिकेशन चेक करें।ऐसे करें आवेदनस्‍टेप 1: आधिकारिक वेबसाइट rrcpryj.org पर जाएं।स्‍टेप 2: होम पेज को स्क्रॉल करें और अपरेंटिस रिक्तियों के लिए एप्‍लीकेशन फॉर्म के लिंक पर क्लिक करें।स्‍टेप 3: इसके बादअब आप एक नई विंडो पर रीडायरेक्‍ट हो जाएंगे। नए उम्मीदवारों को रजिस्‍ट्रेशन करना होगा जिसके बाद अपने क्रेडेंशियल्स का उपयोग करके लॉगिन कर सकेंगे।स्‍टेप 4: अपना व्यक्तिगत विवरण भरें और सभी जरूरी डॉक्‍यूमेंट्स अपलोड करें।स्‍टेप 5: आवेदन शुल्क का भुगतान करें और सबमिट कर दें।आरक्षित वर्ग के लिए आयु सीमा में छूटइन पदों पर आवेदन करने के लिए कैंडीडेट्स की आयु 15 से 24 साल होनी चाहिए। आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों को आयु सीमा में छूट मिलेगी। आवेदन फीस 100 रुपए हैं। एससी, एसटी और महिला उम्मीदवारों को कोई आवेदन फीस नहीं देना होगा।

7 साल बाद एक बार फिर से दिखेगा का श्रीसंत जलवा, कई भावुक यादों के साथ मैदान पर रखेंगे कदम

सालबादएकबारफिरसेदिखेगाकाश्रीसंतजलवाकईभावुकयादोंकेसाथमैदानपररखेंगेकदमसिर्फ 769 रुपए में हवाई सफर का मौका, स्पाइस जेट ने शुरू की Great Republic Day Sale****** के मौके पर निजी एयरलाइन सेवा सस्ती हवाई सेवा का एक ऑफर लेकर आई है। कंपनी की तरफ से शुरू की गई है जिसके तहत घरेलू उड़ानों पर 769 रुपए में और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के लिए 2469 रुपए में हवाई टिकट बुक किया जा रहा है।इतना ही नहीं अगर टिकट की बुकिंग स्पाइस जेट की मोबाइल एप से की जाती है तो और भी डिस्काउंट दिए जाने की घोषणा की गई है और बुकिंग के लिए पेमेंट अगर SBI के क्रेडिट कार्ड से करते हैं तो और भी 10 प्रतिशत डिस्काउंट दिया जाएगा, कंपनी ने इस ऑफर से संबधित सारी जानकारी अपनी वेबसाइट पर दी हुई है।कंपनी के मुताबिक यह ऑफर अगले 3 दिन यानि 25 जनवरी तक लागू रहेगा तथा आप टिकट इस साल के अंत यानि 12 दिसंबर 2018 तक की यात्रा का बुक करवा सकते हैं। हालांकि इस ऑफर के लिए कंपनी के कई नियम और शर्तें भी रखी हुई हैं जिनकी पूरी जानकारी स्पाइस जेट की वेबसाइट पर दी हुई है।सालबादएकबारफिरसेदिखेगाकाश्रीसंतजलवाकईभावुकयादोंकेसाथमैदानपररखेंगेकदमRajeev Sen Divorce: Sushmita Sen की मां की तबियत हुई खराब - बर्दाश्त नहीं कर पा रही हैं बेटे का तलाक******Highlights सुष्मिता सेन (Sushmita Sen) का परिवार इन दिनों अपनी निज़ी ज़िंदगी को लेकर काफी सुर्खियां बटौर रहा है। एक तरफ सुष्मिता सेन का नया-नया रिलेशनशिप, तो दूसरी तरफ भाई राजीव सेन (Rajeev Sen) और उनकी पत्नी चारु असोपा (Charu Asopa) का तलाक। इन सभी खबरों ने बॉलीवुड की गलियों का बाज़ार गर्म किया हुआ है। राजीव सेन और चारु असोपा के बीच लगातार तकरार चल रही है।सुष्मिता सेन के भाई-भाभी की शादी शुरू से लाइमलाइट में बनी हुई है। दोनों ने बड़े ही धूम-धाम से शादी की थी। राजीव और चारु अक्सर एक-दूसरे के साथ प्यार भरी तस्वीरें भी शेयर किया करते थे। लेकिन पिछले लंबे वक्त से दोनों के बीच अनबन की खबरें तेज हैं। लेकिन सभी खबरों के बीच सुष्मिता सेन के घर का माहौल काफी खराब हो गया है। बच्चों के फैसलों का सीधा असर एक्ट्रेस की मां की तबियत पर हो रहा है।दरअसल चारु का आए दिन सोशल मीडिया पर आकर अपनी शादी पर बयान देना। राजीव की मां को ठेस पहुंचा रहा था। इतना ही नहीं सुष्मिता के भाई को सोशल मीडिया पर ट्रोल भी किया जा रहा था। जिसके चलते दोनों ने आखिरकार तलाक का फैसला ले लिया है। बता दें 16 अगस्त 2022 को चारु असोपा ने अपने एक इंटरव्यू के दौरान अपने रिश्ते पर बात की। चारु ने अपनी बेटी जियाना के फर्श पर चलने की एक झलक शेयर करते हुए की। चारु ने यह भी कहा कि, वह अपने जीवन के सबसे कठिन दौर से गुजर रही हैं और जिस व्यक्ति से वह प्यार करती हैं, उससे अलग होना उनके लिए आसान नहीं है।बता दें - दोनों के अलग होने की खबरें लंबे समय से आ रही हैं। लेकिन अब इस जोड़ी ने फाइनली अलग होने की ठान ली है। वहीं योशल मीडिया यूजर्स भी इस जोड़ी की हरकतों से परेशान हो गए हैं। उनका कहना है कि कभी साथ आ जाते हैं...कभी दूर भागते हैं...आखिर चल क्या रहा है ये सब। राजीव और चारु 7 जून 2019 को शादी के बंधन में बंधे थे।सालबादएकबारफिरसेदिखेगाकाश्रीसंतजलवाकईभावुकयादोंकेसाथमैदानपररखेंगेकदमMadhya Pradesh: मध्य प्रदेश सरकार पोकलेन मशीन चालकों को 2-2 लाख देगी इनाम, कारम डैम से पानी की निकासी के लिए बनाया था रास्ता******Highlights मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने धार जिले में बांध की दीवार में दरार के बाद आपदा को टालने की प्रक्रिया में जुटे अर्थ मूविंग मशीन चालकों को दो-दो लाख रुपये का इनाम देने की घोषणा की है। राजधानी भोपाल के मोतीलाल नेहरू स्टेडियम में सोमवार को भारी बारिश के बीच स्वतंत्रता दिवस समारोह को संबोधित करते हुए शिवराज ने कहा कि तीन दिन पहले कारम नदी पर निर्माणाधीन बांध में रिसाव की सूचना के बाद बड़ा खतरा सामने आया था, ‘लेकिन अब यह खतरा टल गया है, जो आपदा प्रबंधन का सबसे अच्छा उदाहरण है।’उन्होंने कहा, “पोकलेन मशीनके चालकों ने बांध से पानी की सुरक्षित निकासी के लिए रास्ता बनाने और आपदा को रोकने के वास्ते अपने जीवन को खतरे में डाल दिया। प्रदेश सरकार अर्थ मूविंग मशीन के इन चालकों को दो-दो लाख रुपये का इनाम देगी।” अधिकारियों ने रविवार को बताया था कि बांध की दीवार में दरार और पानी के रिसाव का पता चलने के बाद उससे पानी निकालने के लिए एक नहर खोदी गई, ताकि बांध के फटने की आशंका टाली जा सके। रविवार तड़के इस नहर के जरिए बांध से पानी निकलना शुरू हो गया।वहीं, शिवराज ने रविवार को कहा था कि चिंता करने की जरूरत नहीं है और जलाशय से पानी निकालने के प्रयास जारी हैं। अधिकारियों ने बताया कि धार जिला मुख्यालय से करीब 35 किलोमीटर दूर स्थित बांध में दरार आने की सूचना गुरुवार को मिली थी, जिसके बाद नीचे की ओर स्थित 18 गांवों को चेतावनी जारी की गई थी। इनमें धार जिले के 12 और खरगोन जिले के 6 गांव शामिल थे, जिनके जलमग्न होने का खतरा था। कारम नदी पर बन रहे बांध का निर्माण 304 करोड़ रुपये की लागत से किया जा रहा है।विपक्षी दल कांग्रेस ने बांध परियोजना में भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए घटना की न्यायिक जांच की मांग की है। वहीं, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) ने प्रदेश के जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट से नैतिक आधार पर इस्तीफा देने को कहा है। पार्टी ने बांध निर्माण का ठेका कथित तौर पर एक ‘भ्रष्ट’ फर्म को दिए जाने की जांच करने की भी मांग की है।मध्यप्रदेश के धार जिले के कारम बांध से शनिवार देर रात पानी निकलना शुरू हो गया। इसमें बांध के ठेके से लेकर निर्माण तक में बड़ी लापरवाही सामने आई है। जल संसाधान विभाग के मंत्री तुलसी सिलावट ने विशेषज्ञों की टीम बना दी है। जांच में जो भी दोषी निकलेगा, उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा। धार के कारम बांध साइट पर जल संसाधन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि बांध का ठेका एनएनएस कंपनी को दिया गया था। इसने सारथी कंस्ट्रक्टशन कंपनी को काम सौंप दिया। इस कंपनी ने पेटी कांन्ट्रेक्ट पर तीसरी एजेंसी को काम सौंप दिया।जल संसाधन विभाग के ईएनसी एमएस डाबर ने कहा कि बांध के निर्माण की मॉनीटरिंग की जा रही थी। हम अनुबंध के अनुसार एजेंसी पर कार्रवाई करेंगे। ऐसे में सवाल खड़े हो रहे हैं कि फिर बांध निर्माण के स्पेशिफिकेशन में गड़बड़ी कैसे हो गई। इस मामले में जल संसाधन विभाग के मंत्री तुलसी सिलावट ने कहा कि बाध से कट लगाकर पानी निकाला जा रहा है। अभी खतरा टल गया है। बांध के पानी को खतरे के स्तर से नीचे लाने के बाद जल्द ही गांव के लोगों को वापस उनके घरों में भेज दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि बांध निर्माण में गड़बड़ी की जांच करने के लिए विशेषज्ञों की एक टीम बना दी है। उसकी अनुशंसा के अनुसार किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा।

7 साल बाद एक बार फिर से दिखेगा का श्रीसंत जलवा, कई भावुक यादों के साथ मैदान पर रखेंगे कदम

सालबादएकबारफिरसेदिखेगाकाश्रीसंतजलवाकईभावुकयादोंकेसाथमैदानपररखेंगेकदमडायना पेंटी 2022 में हैं काफी बिजी, इन फिल्मों में आएंगी नजर******Highlightsअभिनेत्री डायना पेंटी के लिए साल 2022 काफी व्यस्त रहने वाला है। एक्ट्रेस के हाथ में चार बैक टू बैक प्रोजेक्ट्स हैं। जहां वह आगामी फिल्म सैल्यूट में दुलकर सलमान के साथ मलयालम में अपनी शुरुआत कर रही हैं, वहीं उनके पास एक थ्रिलर, और दो अनटाइटल्ड फिल्में भी हैं।अब खबर है कि वह निकट भविष्य में धर्मा प्रोडक्शंस के साथ उनकी अगली फिल्म में नजर आ सकती हैं। इंडिया टीवी को सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक डायना एक आगामी रोमांचक प्रोजेक्ट के लिए मशहूर प्रोडक्शन हाउस के साथ बातचीत कर रही हैं।अटकलों को और मजबूत करते हुए डायना पेंटी को आज शहर में धर्मा प्रोडक्शन के ऑफिस में देखा गया। कैमरे ने फैशन आइकन को आकर्षक लुक देते हुए क्लिक किया गया। उन्होंने ब्राउन शर्ट और एनिमल प्रिंट हील्स के साथ बेज रंग की पैंट पहनी हुई थी।हालांकि अभी तक कोई आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है, लेकिन फैंस इस घोषणा के लिए उत्सुक हैं।सालबादएकबारफिरसेदिखेगाकाश्रीसंतजलवाकईभावुकयादोंकेसाथमैदानपररखेंगेकदमAsian Boxing Championships: एशियन चैंपियनशिप के लिए बॉक्सिंग टीम का ऐलान, ये स्टार खिलाड़ी टीम में शामिल******Highlights अनुभवी शिव थापा और टोक्यो ओलंपिक की ब्रॉन्ज मेडल विजेता लवलीना बोरगोहेन अगले महीने एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में क्रमश: भारतीय पुरुष और महिला टीम की चुनौती की अगुवाई करेंगी। जोर्डन के अम्मान में 30 अक्टूबर से 12 नवंबर होने वाली प्रतिष्ठित महाद्वीपीय प्रतियोगिता के लिए चयन ट्रायल गुरुवार से शनिवार तक एनआईएस पटियाला में आयोजित किए गए थे।मौजूदा विश्व चैम्पियन निकहत जरीन, एशियाई चैम्पियनशिप के तीन बार के पदक विजेता अमित पंघाल और बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों के पदक विजेता रोहित टोकस और सागर अहलावत ने ट्रायल में हिस्सा नहीं लिया। भारतीय मुक्केबाज महासंघ (बीएफआई) के एक सूत्र ने पीटीआई को बताया कि जरीन को टूर्नामेंट से आराम दिया गया है जबकि पंघाल, टोकस और अहलावत चोटिल हैं। थापा एशियाई चैंपियनशिप के पांच बार के पदक विजेता हैं। उन्होंने इस शीर्ष प्रतियोगिता में अब तक एक स्वर्ण, दो रजत और इतने ही कांस्य पदक जीते हैं।पिछले टूर्नामेंट में उन्होंने रजत पदक के साथ लगातार पांचवां पदक जीता था और टूर्नामेंट के इतिहास में सबसे सफल भारतीय पुरुष मुक्केबाज बन गए। एशियाई चैंपियनशिप में पांच पदक जीतने वाले एकमात्र अन्य पुरुष मुक्केबाज कजाखस्तान के दिग्गज वेसिली लेविट हैं। वह ओलंपिक रजत पदक विजेता और विश्व चैंपियनशिप के दो बार के कांस्य पदक विजेता भी हैं। राष्ट्रमंडल खेलों के दो बार के कांस्य पदक विजेता मोहम्मद हुसामुद्दीन (57 किग्रा) पुरुष टीम में अन्य प्रमुख नाम हैं।दो बड़े टूर्नामेंट - विश्व चैंपियनशिप और राष्ट्रमंडल खेलों में उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं करने के बाद लवलीना खुद को साबित करना चाहेंगी। पिछले टूर्नामेंट में कांस्य पदक जीतने वाली 24 साल की लवलीना 75 किग्रा भार वर्ग में प्रतिस्पर्धा करेंगी क्योंकि वह पेरिस ओलंपिक की तैयारी शुरू करेंगी जिसमें उनका वेल्टरवेट 69 किग्रा वर्ग नहीं होगा। महिला टीम में विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता परवीन हुड्डा (63 किग्रा) और युवा विश्व मुक्केबाजी चैंपियन अल्फिया पठान (81 किग्रा से अधिक) भी शामिल हैं। भारतीय दल के टूर्नामेंट से पहले 15 दिवसीय प्रशिक्षण शिविर के लिए अक्टूबर के मध्य में अम्मान के लिए रवाना होने की संभावना है।पुरुष: गोविंद साहनी (48 किग्रा), स्पर्श कुमार (51 किग्रा), सचिन (54 किग्रा), मोहम्मद हुसामुद्दीन (57 किग्रा), एताश खान (60 किग्रा), शिव थापा (63.5 किग्रा), अमित कुमार (67 किग्रा), सचिन (71 किग्रा), सुमित (75 किग्रा), लक्ष्य सी (80 किग्रा), कपिल पी (86 किग्रा), नवीन के (92 किग्रा), नरेंद्र (92 किग्रा से अधिक)।महिला: मोनिका (48 किग्रा), सविता (50 किग्रा), मीनाक्षी (52 किग्रा), साक्षी (54 किग्रा), प्रीति (57 किग्रा), सिमरनजीत (60 किग्रा), परवीन (63 किग्रा), अंकुशिता बोरो (66 किग्रा), पूजा (70 किग्रा), लवलीना बोरगोहेन (75 किग्रा), स्वीटी (81 किग्रा), अल्फिया पठान (81 किग्रा से अधिक)।

7 साल बाद एक बार फिर से दिखेगा का श्रीसंत जलवा, कई भावुक यादों के साथ मैदान पर रखेंगे कदम

सालबादएकबारफिरसेदिखेगाकाश्रीसंतजलवाकईभावुकयादोंकेसाथमैदानपररखेंगेकदमजॉन अब्राहम ने 'रिपब्लिक डे' पर फैंस को दिया तोहफा, 'सत्यमेव जयते 2' की नई रिलीज डेट का किया ऐलान******बॉलीवुड अभिनेताने रिपब्लिक डे पर फैंस को तोहफा दिया है। उन्होंने अपनी अपकमिंग मूवी 'सत्यमेव जयते 2' कीनई रिलीज डेट का ऐलान कर दिया है। साथ ही तिरंगा लहराते हुए अपनी फोटो शेयर कर फैंस को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दी हैं।साल 2018 में आई पहली फिल्म 'सत्यमेव जयते' में जहां भ्रष्टाचार से निपटने की कहानी दिखाई गई थी, वहीं इसकी अगली कड़ी में पुलिस, राजनेताओं, उद्योगपतियों और आम आदमी से जुड़े दुनिया में भ्रष्टाचार की कहानी दिखाई जाएगी।जॉन अब्राहम ने बताया कि ये मूवी ईद के अवसर पर 14 मई 2021 को सिनेमाघरों में रिलीज होगी। इससे पहले ये फिल्म 12 मई को रिलीज होने वाली थी, लेकिन अब इस डेट को 2 दिन आगे बढ़ा दिया गया है।मिलाप झवेरी द्वारा निर्देशित इस फिल्म में मनोज बाजपेयी और दिव्या खोसला कुमार जैसे सितारे भी हैं। यह साल 2018 में आई एक्शन ड्रामा 'सत्यमेव जयते' की सीक्वल है। भूषण कुमार इस फिल्म के निर्माता हैं।

सालबादएकबारफिरसेदिखेगाकाश्रीसंतजलवाकईभावुकयादोंकेसाथमैदानपररखेंगेकदमIce-Tea के जरिए दें गर्मियों को मात, जानिए अलग-अलग तरह से बनाने का तरीका******जैसे ही गर्मी का मौसम आता है, लोग धूप का चश्मा और सनस्क्रीन तैयार कर लेते हैं। जब ठंडे पेय पदार्थों की बात आती है, तो आइस टी हमेशा हमारी लिस्ट में सबसे ऊपर रहा है! नेचर की गुडनेस से भरे आइस टी गर्मियों में हमारे शरीर को ठंडक पहुंचाता है और रिफ्रेश करता है। मेहमानों के लिए गर्मियों में आइस टी खूब परोसी जाती है।आसानी से बनने वाली, जल्दी और टेस्टी आइस टी न केवल गर्म में राहत देती है बल्कि कार्बोनेटेड ड्रिंक की तुलना में एक हेल्दी ऑप्शन भी है। आप चाहें तो आइस्ड टी को अलग अलग ट्विस्ट देकर खुद को तरोताजा रख सकते हैं। तो, आइए एक नज़र डालते हैं उन टॉप आइस टी पर जिन्हें आप इस गर्मी में एन्जॉय कर सकते हैं!फूलों का आनंद लेना किसे नहीं पसंद? चाय की दुनिया में फूलों का एसेंस काफी लोकप्रिय है। जहां इसका उपयोग सुगंध, स्वाद और अच्छे हेल्थ के लिए किया जाता है। उदाहरण के लिए, कैमोमाइल चाय को आइस्ड टी के रूप में भी बनाया जा सकता है। हालांकि, फूलों के साथ स्वाद को बढ़ाने के लिए आपको मिक्सचर में ग्रीन टी या ब्लैक टी की आवश्यकता होगी।हम में से अधिकांश लोग एक आसान तरीका चाहते हैं जिससे झटपट इंस्टेंट आइस टी बन जाए! तो बता दें बाजार में कई ऐसे प्रॉडक्ट हैं जिसे ठंडे पानी में घोलने मात्र से झटपट आइस टी तैयार हो जाती है। इंस्टेंट आइस टी मूल रूप से तैयार आइस टी का प्रीमिक्स होते हैं जो पानी में घुलनशील होते हैं। हालांकि, इसमें चीनी की अधिक मात्रा हो सकती है।गर्मियों के फल जैसे संतरा, आड़ू, नींबू और अन्य आपके शरीर की पानी की जरूरतों को पूरा करते हैं। इसका कारण यह है कि गर्म मौसम में विटामिन-सी से भरपूर खाद्य पदार्थ आपको ऊर्जावान और हाइड्रेटेड रखते हैं। नतीजतन, आइस्ड टी जैसे मिंट पैशन-फ्रूट, सिट्रस कूलर, और लेमन बेसिल - ये सभी विभिन्न प्रकार के हेल्थ बेनेफिट्स के साथ-साथ चिलचिलाती गर्मी से निपटने में मदद करते हैं।सालबादएकबारफिरसेदिखेगाकाश्रीसंतजलवाकईभावुकयादोंकेसाथमैदानपररखेंगेकदमअफगानिस्तान के मोहम्मद नबी ने 'टेस्ट क्रिकेट' को कहा अलविदा, बोले 'सपना हुआ पूरा'******चटगांव। अफगानिस्तान के पूर्व कप्तान मोहम्मद नबी ने बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट मैच के बाद टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कहने का ऐलान किया है। चौतीस बरस के हरफनमौला नबी ने अफगानिस्तान के लिये सारे टेस्ट खेले हैं जिसमें भारत के खिलाफ पिछले साल ऐतिहासिक पहला टेस्ट मैच भी शामिल है। हालांकि नबी सीमित ओवरों का क्रिकेट खेलते रहेंगे।नबी ने अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड द्वारा जारी एक वीडियो संदेश में कहा,‘‘ टेस्ट क्रिकेट महत्वपूर्ण प्रारूप है जो हर क्रिकेटर खेलना चाहता है। मैने पिछले 18 साल अफगानिस्तान क्रिकेट को दिये हैं। यह मेरा सपना था कि अफगानिस्तान को टेस्ट दर्जा मिले जो पूरा हो गया है।’’उन्होंने कहा,‘‘ हम हर साल एक या दो टेस्ट खेलते हैं। मैं चाहता हूं कि अब किसी युवा खिलाड़ी को मौका मिले ताकि भविष्य में बेहतर टेस्ट टीम तैयार हो।’’अफगानिस्तान ने इस साल मार्च में देहरादून में आयरलैंड को सात विकेट से हराकर पहली टेस्ट जीत दर्ज की थी जिसमें नबी टीम का हिस्सा था। वह आईपीएल और बिग बैश लीग भी खेलते हैं।उन्होंने कहा,‘‘ मैं जब तक खेल सकता हूं, वनडे और टी20 क्रिकेट खेलता रहूंगा।’’ नबी ने 121 वनडे में 2699 रन बनाए और 128 विकेट लिए हैं। वहीं 68 टी20 मैचों में 1161 रन बनाने के अलावा 69 विकेट लिये हैं।

सालबादएकबारफिरसेदिखेगाकाश्रीसंतजलवाकईभावुकयादोंकेसाथमैदानपररखेंगेकदमदामिनी याद है आपको? हेयर कट करवा कर वायरल हो गई मीनाक्षी शेषाद्रि, इन मैसेज को पढ़कर उमड़ पड़ेगा प्यार******80 और 90 की दशक में कई सुपरहिट फिल्मों में काम कर चुकी एक्ट्रेस मीनाक्षी शेषाद्रि लंबे समय के बाद फिर चर्चा में हैं, लेकिन इस बार वजह उनकी कोई फिल्म नहीं बल्कि उनका लुक है। सोशल मीडिया पर मीनाक्षी का नया लुक धड़ल्ले से वायरल हो रहा है। दरअसल, उन्होंने अपना हेयरस्टाइल पूरी तह से बदल लिया है, जिसके चलते कई लोग ऐसे भी हैं जो गुजरे जमाने की इस मशहूर अदाकारा को पहचान तक नहीं पा रहे हैं।मीनाक्षी शेषाद्रि ने अपने नए लुक के साथ कैप्शन में लिखा है, ‘नया लुक’। उन्होंने ट्विटर पर जो तस्वीर शेयर की है उसमें उन्होंने चश्मा लगाया हुआ है और स्काई ब्लू कलर की हुडी पहन रखी है।कुछ लोगों को उनका यह नया अंदाज पसंद आ रहा है तो वहीं कुछ लोगों का कहना है कि उन्हें अपने ऊपर यह एक्सपेरिमेंट नहीं करना चाहिए था।एक यूजर ने लिखा है, 'दामिनी में, कोर्ट रूम में, सुंदरता की हदें पार कर दी थी। वो कमाल था नारीचुत लुक का। माफ कीजिएगा, लेकिन आप लंबे बालों में बेहद खूबसूरत लगती थीं।' एक दूसरे यूजर ने लिखा है, 'क्या ट्रांसफॉर्मेशन है। आप हमारे दिल की रानी है..आपको अच्छा स्वास्थ्य मिले और आप हमारी फेवरेट एक्ट्रेस हैं।'1993 में आई फिल्म दामिनी में मीनाक्षी की काफी अच्छी एक्टिंग की थी, जिसकी सभी ने तारीफ की थी। फिल्म दामिनी को रिलीज हुए अब 28 साल हो चुके हैं। मीनाक्षी ने 1981 में मिस इंडिया का खिताब जीता था। उस समय वह केवल 17 वर्ष की थीं। इसके अलावा मीनाक्षी ने 1981 में ही टोक्यो में हुए मिस इंटरनेशनल प्रतियोगिता के लिए भारत का प्रतिनिधित्व किया था। उन्होंने 1995 में एक बैंकर से शादी की थी, जिसके बाद दामिनी की इस हीरोइन ने बॉलीवुड से दूरी बना ली थी।सालबादएकबारफिरसेदिखेगाकाश्रीसंतजलवाकईभावुकयादोंकेसाथमैदानपररखेंगेकदमBihar Political Crisis: इस्तीफे के बाद क्या 8वीं बार बिहार के CM बनेंगे नीतीश कुमार, RJD के साथ क्या रहेगा समीकरण******Highlights बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस्तीफा दे दिया है और इसी के साथ वह सातवीं बार बिहार के भूतपूर्व मुख्यमंत्री बन गए हैं। दरअसल इससे पहले नीतीश कुमार सात बार बिहार के सीएम पद की शपथ ले चुके हैं और अगर वह अब फिर से आरजेडी के साथ मिलकर सरकार बनाते हैं और उसमें मुख्यमंत्री की कुर्सी संभालते हैं तो यह 8वीं बार होगा जब वह सूबे के मुखिया यानि सीएम पद की शपथ लेंगे।अगर नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू और आरजेडी एक साथ मिलकर सरकार बनाते हैं तो यह पहली बार नहीं होगा। नीतीश ने लालू यादव के साथ मिलकर साल 2015 में भी बिहार में सरकार बनाई थी और उस सरकार में लालू यादव के दोनो बेटे मंत्री थे। 2015 के विधानसभा चुनाव में नीतीश कुमार ने कांग्रेस और आरजेडी के साथ मिलकर महागठबंधन बनाया था, जिसके बिहार में वह चेहरा थे। चुनाव के बाद जीत मिली और उन्होंने सूबे में सरकार बना ली थी। हालांकि ये गठबंधन ज्यादा दिनों तक चला नहीं और 26 जुलाई 2017 को नीतीश कुमार ने गठबंधन तोड़ दिया और बीजेपी के साथ सरकार बना ली।नीतीश कुमार पहली बार बिहार के मुख्यमंत्री 3 मार्च 2000 में बने। हालांकि, बहुमत ना जुटा पाने की वजह से महज सात दिन बाद ही 10 मार्च 2000 को ही उन्हें इस्तीफा देना पड़ा। नवंबर 2005 में वह दूसरी बार मुख्यमंत्री बने और अपना कार्यकाल पूरा किया। इसके बाद तीसरी बार साल 2010 में सीएम बने। चौथी बार उन्होंने 22 फरवरी 2015 को सीएम पद की शपथ ली। 2015 में महागठबंधन के साथ चुनाव लड़ने और जीतने के बाद वह पांचवीं बार मुख्यमंत्री बने। जबकि 27 जुलाई 2017 को वह छठवीं बार सीएम बने और सातवीं बार उन्होंने 2020 के विधानसभा चुनाव में जीत के बाद मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। यह चुनाव नीतीश कुमार ने एनडीए गठबंधन के साथ मिलकर लड़ा था।सूत्रों की माने तो आरजेडी और जेडीयू का एक साथ आना लगभग तय हो गया है। हालांकि इस बार तेजस्वी यादव सिर्फ डिप्टी सीएम पद के लॉलीपॉप से खुश नहीं होने वाले हैं, उन्हें इस बार इसके साथ गृह विभाग भी चाहिए। यहां तक की सदन में स्पीकर भी आरजेडी अपना ही चाहती है। इसके साथ कुछ और बड़े मंत्रालयों पर भी आरजेडी की नजर है। हालांकि, इस बार आरजेडी और जेडीयू की सरकार में तेजस्वी यादव के बड़े भाई तेज प्रताप यादव शामिल होंगे या नहीं इस पर फिलहाल खुल कर कोई बात सामने नहीं आ रही है।

सालबादएकबारफिरसेदिखेगाकाश्रीसंतजलवाकईभावुकयादोंकेसाथमैदानपररखेंगेकदमChaitra Navratri 2019: अष्टमी,रामनवमी और नवरात्र समापन की तिथि को लेकर है असमंजस, तो जानें किस दिन होगा कौन सा व्रत******6 अप्रैल से चैत्र नवरात्र की शुरुआत हुई थी। जिसका समापन को लेकर थोड़ा सा असंजस पैदा हो रहा है। कोई कह रहा है कि 13 को है तो कोई कह रहा है 14 को है। अगर आप भी इसी को लेकर परेशान है तो आचार्य इंदु प्रकाश से जानें आखिर किस दिन होगा नवरात्र समाप्त।आचार्य इंदु प्रकाश के अनुसार अष्टमी तिथि 13 अप्रैल दोपहर पहले 11:42 पर ही समाप्त हो जायेगी, उसके बाद नवमी तिथि लग जायेगी जो कि 14 अप्रैल सुबह 09:36 तक रहेगी। इस प्रकार नवमी तिथि दो दिनों तक रहेगी और माधव कालनिर्णय के पृष्ठ 229 से 230 पर आया है कि जब नवमी दो तिथियों में हो और पहली तिथि के मध्याह्न में नवमी हो, तो नवमी का व्रत पहली तिथि को ही किया जाना चाहिए। चूंकि 14 को नवमी तिथि दोपहर होने से पहले ही सुबह 09:36 पर समाप्त हो जायेगी और 13 को नवमी तिथि दोपहर के समय रहेगी। अतः इस बार नवमी तिथि का व्रत भी अष्टमी तिथि के साथ, यानी आज ही के दिन किया जायेगा। इसके साथ ही इस बात का ध्यान रहे नवमी तिथि का हवन 14 अप्रैल के दिन किया जायेगा और नवरात्र भी इसी दिन ही सम्पूर्ण होंगे।सालबादएकबारफिरसेदिखेगाकाश्रीसंतजलवाकईभावुकयादोंकेसाथमैदानपररखेंगेकदमलोकसभा चुनाव 2019: BJP ने बेंगलुरु दक्षिण से 28 साल के तेजस्वी सूर्या को उतारा****** की सियासत ने मंगलवार को एक दिलचस्प मोड़ ले लिया। बीजेपी ने के लिए अपने कर्नाटक युवा मोर्चा के महासचिव को प्रतिष्ठित बेंगलुरु दक्षिण सीट से उम्मीदवार बनाया है। इस पर 18 अप्रैल को चुनाव होना है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, पार्टी की केंद्रीय चुनाव समिति ने कर्नाटक हाई कोर्ट में वकालत कर रहे 28 वर्षीय सूर्या को उम्मीदवार बनाया है। उन्होंने कहा, ‘सूर्या हमारी राष्ट्रीय सोशल मीडिया टीम के भी सदस्य हैं।’बेंगलुरु दक्षिण की सीट से सूर्या को उम्मीदवार बनाए जाने से दिवंगत केंद्रीय मंत्री एच.एन. अनंत कुमार की पत्नी तेजस्विनी अनंत कुमार की यहां से चुनाव लड़ने की उम्मीदों को झटका लगा है। अनंत कुमार 1996 के बाद से यहां रिकॉर्ड 6 बार चुने गए थे। पार्टी द्वारा चुने जाने के बाद सूर्या ने ट्वीट किया, ‘हे भगवान। हे भगवान। मुझे विश्वास नहीं हो रहा कि दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के प्रधानमंत्री और सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी के अध्यक्ष ने बेंगलुरू दक्षिण जैसी प्रतिष्ठित सीट के लिए 28 वर्षीय युवक पर अपना विश्वास जताया है।’

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-07 12:54
उद्धरण 1 इमारत
7 पाकिस्तानी आतंकियों को जम्मू जेल से अन्यत्र भेजने की याचिका पर न्यायालय का नोटिस******जम्मू जेल में बंद सात को तिहाड़ जेल स्थानांतरित करने के लिये सरकार ने शुक्रवार को उच्चतम न्यायालय में एक याचिका दायर की। राज्य सरकार का आरोप हैकि ये पाकिस्तानी आतंकी जेल में बंद स्थानीय कैदियों को भड़का रहे हैं। न्यायमूर्ति एल नागेश्वर राव और न्यायमूर्ति एम आर शाह की पीठ ने जम्मू कश्मीर सरकार की याचिका पर केन्द्र और दिल्ली सरकार सेजवाब मांगा है।ये सात आतंकवादी हैं: लश्कर ए तैयबा के वकास मंजूर उर्फ काजिर, मोहम्मद अब्दुल्लाह उर्फ अबु तल्लाह और जफर इकबाल, 2013 में गिरफ्तार पाकिस्तान के मुलतान का जुबेर तल्हा जरोर उर्फतल्हा (लश्कर ए तैयबा), लश्कर ए तैयबा का ही 2014 में गिरफ्तार मोहम्मद अली हुसैन,2006 में गिरफ्तार अल बदर आतंकी गुट का हफीज अहमद बलूच और 2003 में दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले के नादीमार्गइलाके में 24 कश्मीरी पंडितों की हत्या का आरोपी जिया मुस्तफा।पीठ ने केन्द्र और दिल्ली सरकार को नोटिस जारी करने के साथ ही लश्कर ए तैयबा आतंकी संगठन के पाकिस्तानी आतंकी जाहिद फारूक को जम्मू जेल से अन्यत्र स्थानांतरित करने के लिये जम्मू कश्मीर सरकारकी याचिका के साथ इसे संलग्न कर दिया। पीठ ने कहा कि सारी याचिकाओं पर एक साथ सुनवाई की जायेगी। राज्य सरकार के वकील शोएब आलम ने कहा कि विभिन्न संगठनों के इन आतंकवादियों को जम्मू जेलसे बाहर स्थानांतरित करने की आवश्यकता है क्योंकि वे स्थानीय कैदियों को गुमराह कर रहे हैं और लोगों तथा सुरक्षाकर्मियों के लिये खतरा बन रहे हैं।पीठ ने शोएब आलम से जानना चाहा कि कितने आतंकियों कोराज्य से बाहर स्थानांतरित करने की आवश्यकता है तो उन्होंने कहा कि सात पाकिस्तानी आतंकियों को स्थानांतरित करने की याचिका आज सूचीबद्ध है। राज्य सरकार का कहना है कि यदि तिहाड़ जेल में भेजनासंभव नहीं हो तो उन्हें हरियाणा और पंजाब की दूसरी कड़ी सुरक्षा वाली जेलों में स्थानांतरित किया जा सकता है।इस पर पीठ ने कहा कि सारे मामले पर विचार किया जायेगा। साथ ही उसने राज्य सरकार के वकील से कहा कि वह इन पाकिस्तानी आतंकियों पर भी नोटिस की प्रति की तामील सुनिश्चित करे। जम्मू कश्मीरसरकार ने 14 फरवरी को हुये पुलवामा आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों के शहीद होने की घटना के बाद लश्कर-ए-तैयबा के एक आतंकवादी जाहिद फारूक को जम्मू जेल से अन्यत्र स्थानांतरित करने केलिये शीर्ष अदालत में याचिका दायर की थी। फारूक को 19 मई, 2016 को सुरक्षा बलों ने उस वक्त गिरफ्तार किया था जब वह सीमा पर लगी बाड़ से घुसने का प्रयास कर रहा था।राज्य सरकार ने कहा था किप्राप्त खुफिया जानकारी से संकेत मिला है कि जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा जैसे आतंकी संगठनों के आतंकवादी जेल में बंद दूसरे कैदियों को गुमराह कर रहे हैं। राज्य सरकार के अनुसार उसे यह भी पता चलाहै कि कैदियों और दूसरे लोगों को काफी स्थानीय समर्थन प्राप्त है और इस संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता कि उन्हें आतंक से जुड़ी गतिविधियां करने के लिये सूचनाएं, संसाधन और दूसरी मदद भी मिलरही हो।जम्मू कश्मीर सरकार ने इसका मुकदमा भी दिल्ली की अदालत में स्थानांतरित करने का अनुरोध किया है क्योंकि उसे आतंकी को अदालत ले जाने और वापस जेल लाने के दौरान उसकी सुरक्षा में तैनातपुलिसकर्मियों और आम जनता को खतरा उत्पन्न होने की भी आशंका है। राज्य सरकार के वकील ने पिछले साल एक पुलिस दल पर हुये हमले का उदाहरण देते हुये कहा कि इसमें आतंकी को अस्पताल ले जातेवक्त हुये हमले में पुलिसकर्मी मारे गये थे और पाकिस्तानी आतंकी कैदी को हिरासत से छुड़ा लिया गया था। सरकार ने कहा कि फारूक को जम्मू कश्मीर की जेल से राज्य के बाहर किसी उच्च सुरक्षा वाली जेल मेंस्थानांतरित करना राष्ट्रीय सुरक्षा के हित में हैं।राज्य सरकार का कहना है कि निजी प्रतिवादियों की तरह ये विदेशी कैदी जेल में स्थानीय कश्मीरी युवकों को भरमा रहे हैं और स्थानीय जेलों में आतंकी संगठनों से संबंध रखने या इसी तरह की पृष्ठभूमि वालेकैदियों का जमावड़ा है। सरकार की याचिका में कहा गया है कि ये आतंकी कैदी स्थानीय युवकों को गुमराह कर रहे हैं और आतंक की समस्या को बढ़ावा दे रहे हैं। राज्य सरकार की याचिका के अनुसार, ‘‘यह भीसंदेह किया जाता है कि जम्मू कश्मीर राज्य की जेलों में बंद कैदियों को वापस लेने का अनुरोध किये जाने पर आमतौर पर पाकिस्तान ध्यान नहीं देता है। हालांकि, जब दोषी कैदियों को राज्य की जेल से बाहरस्थानांतरित कर दिया जाता है तो पाकिस्तान सरकार उन्हें वापस पाकिस्तान में लेने में दिलचस्पी लेता है।’’
2022-10-07 11:28
उद्धरण 2 इमारत
रुपया अब तक के सबसे निचले स्‍तर पर, अमेरिकी डॉलर के मुकाबले कीमत पहुंची 74.27******Rupeeडॉलर के मुकाबले ने मंगलवार को न्‍यूनतम स्‍तर को छू लिया। सुबह मजबूत शुरुआत देने के बाद दोपहर में रुपया बुरी तरह टूट गया और अब तक के सबसे निचते स्‍तर 74.24 पर पहुंच गया। इससे पहले शुक्रवार को रुपये ने 73.23 का निचला स्‍तर छुआ था। इससे पहलेआज डॉलर के मुकाबले रुपया 19 पैसे की मजबूती के साथ खुला। मुद्रा बाजार में आज डॉलर के मुकाबले रुपए की कीमत 73.87 आंकी गई। इससे पहले सोमवार को रुपए ने फिर गिरावट देखी। डॉलर की मजबूती और पूंजी के देश से बाहर जाने के चलते रुपए 30 पैसे कमजोर हो कर 74.06 पर बंद हुआ। सोमवार को रुपया 73.76 के स्‍तर पर खुला था।सोमवार को डॉलर में मजबूती और कैपिटल ऑउटफ्लो जारी रहने से रुपया 30 पैसे कमजोरी के साथ प्रति डॉलर 74.06 पर क्लोज हुआ था। इससे पहले सोमवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 18 पैसे टूटकर 73.95 के स्तर पर खुला था। बाद में ग्लोबल करंसीज की तुलना में डॉलर के मजबूत होने से रुपए को लेकर सेंटीमेंट कमजोर हो गया।लेकिन पिछले हफ्ते शुक्रवार को रुपए ने एक एतिहासिक गोता लगाया था। शुक्रवार की बात करें तो रिजर्व बैंक के तमाम उपायों के बावजूद डॉलर के मुकाबले रुपए ने एतिहासिक गोता लगाया। शुक्रवार के कारोबारी सत्र के दौरान 1 डॉलर का भाव 74 रुपए के पार निकल गया था। शुक्रवार को रुपए की सबसे निचली कीमत 74.23 रुपए रिकॉर्ड की गई। हालांकि रुपए में फिर रिकवरी देखने को मिली, जिसके बाद डॉलर के मुकाबले रुपया 19 पैसे की गिरावट के साथ 73.77 के स्तर पर बंद हुआ।
2022-10-07 11:19
उद्धरण 3 इमारत
करियर 2021: सिंह राशि के जातकों की पूरी होगी विदेश जाने की इच्छा, जानिए कैसे मिलेगा प्रमोशन******नया साल आते ही लोग इस बात को जानने के लिए उत्सुक रहते हैं कि ये साल उनके करियर के लिए कैसा रहेगा। अगर आपकी राशि सिंह है और आप जानना चाहते हैं कि साल 2021 में जो आप चाहते हैं वो इस साल कर पाएंगे या नहीं, या फिर प्रमोशन होने का क्या चांस है। ये सब कुछ ज्योतिषाचार्य अनिल कुमार ठक्कर से जानिए। सिंह राशिफल 2021 के अनुसार, इस पूरे वर्ष छाया ग्रह राहु-केतु क्रमश: आपके दसवें और चौथे भाव को प्रभावित करेंगे। इसके साथ ही शनि देव भी साल भर आपके छठे भाव में विराजमान रहेंगे। शुरुआत में शनि देव गुरु बृहस्पति के साथ आपके छठे भाव में होने पर एक अनोखी युति का निर्माण करेंगे। इस दौरान मंगल आपके नवम भाव से होते हुए, आपको भाग्य का साथ देंगे और फिर अप्रैल से जुलाई के बीच आपके एकादश और द्वादश भावों में प्रवेश कर जाएंगे।इस दौरान आपको अपने करियर में शत्रुओं से बचकर रहने की जरूरत होगी। हालांकि आप उन पर हावी रहेंगे, जिससे सभी कार्य समय पर पूरा करने में सफलता मिलेगी। आर्थिक जीवन में खर्चे बढ़ेंगे, जिसका असर आपके आर्थिक जीवन पर पड़ता हुआ दिखाई देगा। राशिफल 2021 संकेत देता है कि छात्रों को परीक्षाओं में सफलता पाने के लिए पहले से अधिक मेहनत करनी होगी। विदेश जाने की इच्छा रखने वाले छात्रों को इस वर्ष बहुत प्रयास करने के बाद ही सफलता मिलने की संभावना बनेंगी।
वापसी