नई पोस्ट करें

दिल्ली जल बोर्ड ने रमजान में मुस्लिम कर्मचारियों की छुट्टी के फैसले पर अब लिया यू-टर्न

2022-10-07 13:16:16 218

दिल्लीजलबोर्डनेरमजानमेंमुस्लिमकर्मचारियोंकीछुट्टीकेफैसलेपरअबलियायूटर्नGujarat Election 2022: "गुजरात में भाजपा दो तिहाई बहुमत से फिर बनाएगी सरकार, ‘सपने बेचने’ वाले कभी नहीं जातेंगे," अमित शाह का केजरीवाल पर वार******Highlights केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी (AAP) पर परोक्ष रूप से जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि जो लोग ‘सपने बेचते’ हैं वे गुजरात में कभी नहीं जीतेंगे। बता दें कि गुजरात में इस साल दिसंबर में विधानसभा चुनाव होने हैं। डिजिटल तरीके से एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए शाह ने मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल के नेतृत्व की सराहना की। साथ ही उन्होंने कहा कि सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी दो-तिहाई बहुमत के साथ गुजरात में एक बार फिर सरकार बनाएगी।शाह ने भूपेंद्र पटेल के मुख्यमंत्री पद पर एक वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में गांधीनगर में आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘सपने बेचने वालों को गुजरात में कभी चुनावी सफलता नहीं मिलेगी। मैं गुजरात के लोगों को जानता हूं। सपने बेचने वालों को गुजरात में कभी सफलता नहीं मिल सकती क्योंकि जनता उन्हीं का समर्थन करती है जो काम करने में विश्वास रखते हैं। इसलिए लोग भाजपा के साथ हैं। भाजपा शानदार जीत हासिल करेगी।’’शाह ने कहा, ‘‘मैं भूपेंद्रभाई से कहना चाहता हूं कि गुजरात की जनता भाजपा के साथ है। मैं बहुत स्पष्ट रूप से देख सकता हूं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और आपके नेतृत्व में भाजपा आगामी चुनावों में एक बार फिर दो-तिहाई बहुमत के साथ सरकार बनाएगी।’’ गौरतलब है कि गुजरात में इस साल के अखिरी में विधानसभा चुनाव होने हैं। राज्य में होने वाले आगामी चुनाव के चलते सारी राजनीतिक पार्टियां अपनी-अपनी चुनावी तैयारियों में लगी हैं। जिसमें प्रमख AAP, कांग्रेस, और राज्य में सत्तारूढ़ भाजपा है।

दिल्लीजलबोर्डनेरमजानमेंमुस्लिमकर्मचारियोंकीछुट्टीकेफैसलेपरअबलियायूटर्नAamir Khan की बेटी Ira Khan ने एंग्जाइटी अटैक होने का किया खुलासा, बोलीं- 'इसे रोकने का कोई तरीका नहीं'******Highlights बॉलीवुड के सबसे पसंदीदा अभिनेताओं में से एक हैं। हाल ही में के साथ इंस्टाग्राम पर एक फेदर चैलेंज शुरू करने के बाद उन्होंने खूब सुर्खियां बटोरीं। वहीं कुछ दिन पहले ही फिल्म का पहला गाना कहानी रिलीज किया गया था जिसे लोग काफी पसंद भी कर रहे हैं। इस बीच आमिर खान की लाडली बेटी ने अपने इंस्टाग्राम पर अपनी एक तस्वीर शेयर की हैं।कुछ समय पहले ही आयरा ने बताया था कि वह डिप्रेशन का सामना कर चुकी हैं। वहीं आयरा ने अब अपनी एक और बीमारी का खुलासा किया है। उन्होंनेपोस्ट शेयर करबताया है कि उन्हें एंग्जाइटी अटैक आने लगे हैं। साथ ही उन्होंनेएंग्जाइटी अटैक्स से होने वाली परेशानी का भी जिक्र किया है। आयरा ने इंस्टाग्राम पर अपनी एक तस्वीर शेयर की है जिसमें वह मिरर सेल्फी लेती हुई दिख रही हैं। इस तस्वीर को शेयर करते हुए उन्होंने लंबा-चौड़ा पोस्ट लिखकरअपनी हालत के बारे में बताया है।पोस्ट शेयर करते हुए उन्होंने लिखा - 'मुझे एंग्जाइटी अटैक्स आने लगे हैं। मुझे घबराट होती है और मैं कभी भी रोने लग जाती हूं। फिर मैं खुश हो जाती हूं। लेकिन मुझे इससे पहले कभी एंग्जाइटी अटैक नहीं हुआ। यह पैनिक और पैनिक अटैक के बीच अंतर होता है।'आयरा ने आगे लिखा - 'जहां तक ​मैं इसे समझती हूं, इसके शारीरिक लक्षण भी होते हैं जैसे दिल तेजी से धड़कना, सांस फूलना। इसके अलावा रोना आना। मुझे नहीं पता कि पैनिक अटैक कैसा होता है। यह वास्तव में भद्दा एहसास है। मेरे डॉक्टर ने कहा कि अगर यह नियमित होता है तो मुझे अपने डॉक्टर/मनोचिकित्सक को बताना होगा। ''यदि किसी को यह बताने के लिए शब्दों की आवश्यकता है कि वे कैसा महसूस कर रहे हैं और यह किसी भी मदद का हो सकता है। इस वजह से काफी असहाय महसूस होता है। क्योंकि मैं वास्तव में सोना चाहता हूं (यह आमतौर पर मेरे लिए रात में होता है) लेकिन सो नहीं पाती क्योंकि ये रुकते ही नहीं है।मैं अपने डर को पहचानने की कोशिश करती हूं, खुद से बात करती हूं। लेकिन आपको अगर ये एक बार हिट कर गया, तो मुझे इसे रोकने का कोई तरीका नहीं मिला।'दिल्लीजलबोर्डनेरमजानमेंमुस्लिमकर्मचारियोंकीछुट्टीकेफैसलेपरअबलियायूटर्नबजट में 10 करोड़ रुपये से अधिक कमाने वालों पर लग सकता है 40 प्रतिशत कर, बढ़ सकती है छूट सीमा: सर्वे******बजट में 10 करोड़ रुपये से अधिक कमाने वालों पर लग सकता है 40 प्रतिशत कर, बढ़ सकती है छूट सीमा: सर्वेआगामी आम बजट में व्यक्तिगत दाताओं के लिए कर छूट की सीमा मौजूदा 2.5 लाख रुपये से ऊपर बढ़ सकती है। इसके साथ ही 10 करोड़ रुपये से अधिक सालाना आय वालों पर 40 प्रतिशत की ऊंची दर से आयकर लगाया जा सकता है। केपीएमजी के एक सर्वे में यह अनुमान लगाया गया है। केपीएमजी (इंडिया) के 2019-20 के से पहले किए गए इस सर्वे में विभिन्न उद्योगों के 226 लोगों के विचार लिए गए हैं। सर्वे में शामिल 74 प्रतिशत लोगों ने राय जताई है कि व्यक्तिगत सीमा को 2.5 लाख रुपये से आगे बढ़ाया जाएगा। वहीं 58 प्रतिशत का कहना था कि सरकार 10 करोड़ रुपये से अधिक की कमाई करने वाले ‘सुपर रिच’ लोगों पर 40 प्रतिशत की ऊंची दर से कर लगाने पर विचार कर सकती है।सर्वे में 13 प्रतिशत की राय थी कि विरासत कर को वापस लिया जा सकता है जबकि 10 प्रतिशत ने कहा कि संपदा कर- एस्टेट शुल्क को पुन: लागू किया जाना चाहिए।घरों की मांग में बढ़ाने के वास्ते 65 प्रतिशत लोगों का मानना था कि बजट में खुद रहने वाले मकान पर आवास ऋण पर ब्याज दिये गये ब्याज पर कर कटौती सीमा को दो लाख रुपये से आगे बढ़ाया जा सकता है।वहीं 51 प्रतिशत ने कहा कि सरकार आवास ऋण की मूल राशि के पुनर्भुगतान पर धारा 80 सी के तहत मौजूदा 1.5 लाख रुपये की कर छूट सीमा में से अलग राशि तय कर सकती है।हालांकि, 53 प्रतिशत लोगों की राय यह भी थी कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पांच जुलाई को पेश होने वाले बजट में प्रत्यक्ष करों में कोई बड़ा बदलाव नहीं करेंगी। वहीं 46 प्रतिशत का कहना था कि सभी कंपनियों के लिए कॉरपोरेट कर की दर को घटाकर 25 प्रतिशत नहीं किया जाना चाहिए। उद्योग मंडल कंपनी कर की दर कम करने की मांग कर रहे हैं।

दिल्ली जल बोर्ड ने रमजान में मुस्लिम कर्मचारियों की छुट्टी के फैसले पर अब लिया यू-टर्न

दिल्लीजलबोर्डनेरमजानमेंमुस्लिमकर्मचारियोंकीछुट्टीकेफैसलेपरअबलियायूटर्नKGF Chapter 2 का जलवा अब भी बरकरार, अब बना डाला ये धांसू रिकॉर्ड******Highlights'रॉकी भाई' यानी साउथ सुपरस्टार 'यश' (Yash) ने अपना जादू कुछ इस तरह है चलाया है कि लोगों के सिर से 'रॉकी भाई' का खुमार उतरने का नाम ही नहीं ले रहा। रिलीज के महीनों बाद भी 'केजीएफ चैप्टर 2' (KGF: Chapter 2) के रिकॉर्ड बनाने का सिलसिला थम नहीं रहा है। फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर दमदार कमाई की वहीं अब फिल्म ने एक और रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है। यह फिल्म 5 भाषाओं में हाईएस्ट रेटिंग हासिल करने वाली फिल्म बन चुकी है।फैंस ने OTT पर भी इस फिल्म को खूब प्यार दिया है। जिससे साबित हो गया है कि 'रॉकी भाई' का क्रेज इतनी जल्दी खत्म होने वाला नहीं है। दरअसल, दर्शकों पर फिल्म का फीवर इस कदर चढ़ा है कि इसकी वजह यह फिल्म सभी 5 भाषाओं में ऑरमैक्स पावर रेटिंग पर 90+ स्कोर करने वाली फिल्म बन गई है।कहना गलत नहीं होगा कि रॉकिंग स्टार यश ने 'केजीएफ चैप्टर 2' की रिलीज के साथ सिनेमाघरों में एक बार फिर दर्शकों की भीड़ जुटाने में कामयाबी हासिल की है। बॉक्स ऑफिस पर कई रिकॉर्ड तोड़ने के बाद, फिल्म अपने थिएट्रिकल रन के एंड में आ गई है, और अब यह सभी 5 भाषाओं (कन्नड़, हिंदी, तेलुगु, तमिल और मलयालम) में ऑरमैक्स पावर रेटिंग पर 90+ स्कोर करने वाली पहली फिल्म बनकर उभरी है। इसके अलावा, फिल्म IMDB पर 8.5 की रेटिंग के साथ 2022 की सबसे लोकप्रिय भारतीय फिल्मों में से एक है।आपको बता दें कि इस फिल्म के हिंदी वर्जन ने 430 करोड़ रुपये का कलेक्शन किया है और इस तरह से 'बाहुबली: द कन्क्लूजन' के बाद अब तक की सबसे सफल हिंदी फिल्म के रूप में अपना नाम दर्ज करा लिया। फिल्म पूरे देश में 6,000 स्क्रीन और दुनिया भर में 8000 स्क्रीन के साथ रिलीज हुई।'केजीएफ चैप्टर 2' फिल्म में यश, संजय दत्त, रवीना टंडन और श्रीनिधि शेट्टी ने अहम भूमिकाएं निभाईं हैं। फिल्म का लेखन और निर्देशन प्रशांत नील का है।दिल्लीजलबोर्डनेरमजानमेंमुस्लिमकर्मचारियोंकीछुट्टीकेफैसलेपरअबलियायूटर्नE Vidhansabha: सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने पहली बार की CM योगी की तारीफ, कही ये बात******Highlights समाजवादी पार्टी के मुखिया (Akhilesh Yadav) अक्सर मुख्यमंत्री को कंप्यूटर ज्ञान पर तंज कसते थे। लेकिन आज वह विधान भवन में अचंभित रह गए। उन्होंने विधान भवन में ई-विधान की व्यवस्था देखकर मुक्त कंठ से सरकार और विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना की प्रशंसा की है।बता दें कि उत्तर प्रदेश की विधानसभा अब हाईटेक हो गई है। हर सीट पर टैब लगा दिया गया है। शुक्रवार को लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला की मौजदूगी में 'ई-विधानसभा' का उद्घाटन किया गया। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी के साथ मंच पर मौजूद रहे विपक्ष के नेता अखिलेश यादव भी सदन के बदले स्वरूप को देखकर अचंभित रह गए। उन्होंने कहा कि विधानसभा को देखकर उन्हें तो लगा कि जैसे यह कोई आईटी सेंटर हो। इसके लिए उन्होंने विधानसभा स्पीकर और योगी सरकार को बधाई दी।यह इसलिए भी दिलचस्प है क्योंकि हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान अखिलेश यादव अक्सर यह कहकर योगी पर तंज कसते थे कि वह कंप्यूटर और स्मार्टफोन चलाना नहीं जानते हैं।इस मौके पर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने लखनऊ में दो दिवसीय प्रबोधन कार्यक्रम की शुरूआत की। उन्होंने वन नेशन वन एप्लीकेशन एप को भी लॉन्च किया। प्रबोधन कार्यक्रम के तहत विधायकों को डिजिटल वर्क करने के लिए दो दिनों तक ट्रेनिंग दी जाएगी। नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव ने मांग किया कि मुख्यमंत्री और उनकी दोनों की अलग से ट्रेनिंग कराई जाए।अखिलेश यादव ने कहा, ''यूपी की सबसे बड़ी विधानसभा है। हमारे माननीय सदस्य चुनकर आए हैं, इस सदन में जहां हम सब बैठे हैं। जब मैंने पहली तस्वीर देखी इस सदन की तो मुझे लगा कि कोई आईटी सेंटर का उद्घाटन होने जा रहा है। विधानसभा सेंटर को ई विधानसभा बनाने के लिए विधानसभा अध्यक्ष और सरकार को बधाई देता हूं।'' उन्होंने कहा कि आईटी के इस्तेमाल से पारदर्शिता बढ़ेगी, काम में आसानी होगी और भ्रष्टाचार भी कम होगा।अखिलेश ने कहा कि आईटी का जितना इस्तेमाल करेंगे पारदर्शिता बढ़ेगी। हमारे पुराने विधानसभा अध्यक्ष ने ई लाइब्रेरी बनाई थी। आज हम एक कदम आगे बढ़ रहे हैं। टेक्नोलॉजी से काम करने में आसानी होगी। जिस समय में डायल 100 की योजना शुरू कर रहा था तो बहुत सारे लोग इसे नहीं शुरू होने देना चाहते थे। फाइल में बहुत बड़ी नोट लिखी थी, लेकिन उन बातों का जवाब देते हुए उसे लागू किया गया। मुझे खुशी है कि देश में सबसे अच्छा रिस्पॉन्स सिस्टम आज यूपी में है।''इस मौके पर विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना ने कहा कि हम डिजिटल इंडिया की तरफ बढ़ चुके हैं। पेपर लेस बजट कैसे पेश किया जाएगा। इसको लेकर हमने लोकसभा अध्यक्ष से कई टिप्स लिए हैं। लोकसभा अध्यक्ष ने अपने कार्यकाल के दौरान संसदीय परिसर में कैंटीन बनवाने से लेकर कई सराहनीय काम किए हैं। जिसके टिप्स हमको भी मिले हैं। हम विधानसभा में ई विधान प्रणाली लागू कर रहे हैं। उन्होंने सीएम योगी आदित्यनाथ का धन्यवाद करते हुए कहा कि विधानसभा को पेपरलेस बनाने में मुख्यमंत्री ने बड़ी भूमिका निभाई है।ज्ञात हो कि विधानसभा में हर विधायक की सीट पहले से तय होगी। मंत्री, विधायक अपनी सीट पर लगे टैबलेट से ही लॉग इन कर विधानसभा की कार्यवाही में भाग ले सकेंगे।दिल्लीजलबोर्डनेरमजानमेंमुस्लिमकर्मचारियोंकीछुट्टीकेफैसलेपरअबलियायूटर्नIPL 2022 : कुलदीप यादव ने अपनी पुरानी टीम के खिलाफ बरपाया कहर, चहल को दी चुनौती******Highlightsआईपीएल 2022 में आज के मैच में केकेआर के खिलाफ स्पिनर कुलदीप यादव ने कमाल की गेंदबाजी की। कुलदीप यादव इस बार दिल्ली कैपिटल्स के लिए खेल रहे हैं और अब तक उनका प्रदर्शन शानदार रहा है। वे लगातार अच्छा खेल दिखा रहे हैं। खास बात ये है कि कुलदीप यादव की पुरानी आईपीएल टीम केकेआर ही है। आईपीएल 2021 में कुलदीप यादव केकेआर के खेमे में शामिल थे, लेकिन उन्हें कुछ ही मैच खेलने का मौका मिला था। इसके बाद कोलकाता नाइटराइडर्स ने कुलदीप यादव को रिलीज कर दिया था। इस बार दिल्ली कैपिटल्स ने उन्हें अपने खेमें में शामिल कर लिया था।कुलदीप यादव आज के मैच में पहले ही ओवर से रंग में नजर आ रहे थे। कुलदीप ने आज सबसे पहले बाबा इंदजीत को आउट किया और उसके बाद सुनील नरेन को अपना शिकार बनाया। इसके बाद केकेआर की रीढ़ की हड्डी कहे जाने वाले श्रेयस अय्यर और आंद्रे रसल को भी अपना शिकार बना लिया। एक के बाद एक चार विकेट चटकाकर कुलदीप यादव ने केकेआर का संकट में ढकेल दिया। वे लगातार एक से एक बेहतरीन गेंदे डाल रहे थे, जिसे बल्लेबाज खौफजद थे।कुलदीप यादव अब सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाजों की लिस्ट में दूसरे नंबर पर आ पहुंचे है। पर्पल कैप की रेस में सबसे आगे इस वक्त युजवेंद्र चहल चल रहे हैं, लेकिन कुलदीप यादव उनसे महज एक ही विकेट पीछे हैं। युजवेंद्र चहल ने आठ मैचों में 18 विकेट लिए हैं, वहीं कुलदीप यादव ने अब आठ मैचों में 17 विकेट पूरे कर लिए हैं। यानी आईपीएल में इस बार कुल्चा चल रहा है। यानी कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल। कुलदीप यादव को न केवल आईपीएल में खेलने का मौका नहीं मिल रहा था, बल्कि वे टीम इंडिया से भी बाहर हो गए थे। हालांकि पिछले दिनों उन्हें भारतीय टीम से भी खेलने का मौका मिला और अब वे आईपीएल में भी बेहतरीन खेल दिखा रहे हैं।

दिल्ली जल बोर्ड ने रमजान में मुस्लिम कर्मचारियों की छुट्टी के फैसले पर अब लिया यू-टर्न

दिल्लीजलबोर्डनेरमजानमेंमुस्लिमकर्मचारियोंकीछुट्टीकेफैसलेपरअबलियायूटर्नएसएससी एमटीएस परीक्षा 2019 के लिए शुरु हुई आवेदन प्रक्रिया, जानें वेतन योग्यता और जरुरी जानकारी******SSC MTS 2019 recruitment के लिए आवेदन की प्रक्रिया 22 अप्रैल से शुरु हो चुकी है जो 29 मई को शाम 5 बजे तक जारी रहेगी। इसके अलावा ऑनलाइन भुगतान की अंतिम तारिख 31 मई है। इन पदों के लिए कंप्यूटर आधारिट और डिसक्रिप्टिव टेस्ट लिया जाएगा जो दो चरण में होगा। पहला चरण 2 अगस्त से 6 सितंबर तक होगा वहीं दूसरे चरण 17 नवंबर को होगा। इन पदों पर जो भी उम्मीदवार चुने जाएंगे। उन्हें 5200 से 20200 रुपये के पे-स्केल तक की सैलरी दी जाएगी। एसएससी ने नॉन टेक्निकल जैसे चपरासी, सफाईवाला, जमादार, जूनियर गेटेटनर ऑपरेटर, चौकीदार आदि के तहत विभिन्न पदों के लिए यह नोटिफिकेस जारी किया है।पहले चरण के एग्जाम में चार सेक्शन होंगे इसमें Numerical Aptitude, General Awareness, General English और General Intelligence & Reasoningके सवाल पूछे जाएंगे। ये सभी 25-25 अंको के होंगे इन्हे हल करने के लिए 90 मिनट का समय मिलेगा। यह ऑब्जेक्टिव टाइप पेपर होगा।दिल्लीजलबोर्डनेरमजानमेंमुस्लिमकर्मचारियोंकीछुट्टीकेफैसलेपरअबलियायूटर्नRamesh Deo funeral: राज ठाकरे, महेश मांजरेकर और रजा मुराद अंतिम दर्शन करने पहुंचे******Highlightsदिग्गज अभिनेता रमेश देव का 93 साल की उम्र में निधन हो गया। बुधवार, 2 फरवरी को दिल का दौरा पड़ने से दिग्गज मराठी और बॉलीवुड एक्टर का निधन हो गया।पीटीआई से बात करते हुए दिवंगत अभिनेता के फिल्म निर्माता बेटे अभिनय देव ने कहा, "आज रात लगभग 8.30 बजे कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी अस्पताल में दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया।"रमेश देव के निधन की खबर लगते ही फैंस और सेलेब्स ने उनके निधन पर शोक व्यक्त करना शुरू कर दिया। अभिनेता-निर्देशक रमेश देव का अंतिम संस्कार गुरुवार दोपहर मुंबई में किया गया। राज ठाकरे, महेश मांजरेकर, आशुतोष गोवारिकर, रजा मुराद और सुरेश ओबेरॉय समेत कई सेलेब्स अंतिम दर्शन के लिए पहुंचे।

दिल्ली जल बोर्ड ने रमजान में मुस्लिम कर्मचारियों की छुट्टी के फैसले पर अब लिया यू-टर्न

दिल्लीजलबोर्डनेरमजानमेंमुस्लिमकर्मचारियोंकीछुट्टीकेफैसलेपरअबलियायूटर्नSupreme Court Broadcast: अब सुप्रीम कोर्ट करेगा LIVE प्रसारण, देख सकेंगे संविधान पीठ की कार्यवाही******Highlights सुप्रीम कोर्ट ने अपने कामकाज में पारदर्शिता और पहुंच बढ़ाने की कवायद के तौर पर 27 सितंबर से सभी संविधान पीठ के मामलों की सुनवाई का सीधा प्रसारण करने का निर्णय किया है। उच्चतम न्यायालय ने 2018 में इस संबंध में ऐतिहासिक फैसला दिया था और ठीक चार साल बाद उसकी कार्यवाही का सीधा प्रसारण किया जाएगा। भारत के प्रधान न्यायाधीश यू यू ललित की अगुवाई में उच्चतम न्यायालय के 30 न्यायाधीशों ने स्वप्निल त्रिपाठी मामले में 2018 के सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लागू करने का मंगलवार शाम को सर्वसम्मति से निर्णय लिया।उच्चतम न्यायालय ने पहली बार 26 अगस्त को तत्कालीन प्रधान न्यायाधीश एन वी रमण की अगुवाई वाली एक पीठ की कार्यवाही का एक वेबकास्ट पोर्टल के जरिए सीधा प्रसारण किया था। यह एक रस्मी कार्यवाही थी क्योंकि न्यायाधीश रमण 26 अगस्त को ही सेवानिवृत्त हो रहे थे। चार साल पहले 26 सितंबर 2018 को सुप्रीम कोर्ट ने ‘‘संवैधानिक और राष्ट्रीय महत्व’’ के मामलों की अदालती कार्यवाही के सीधे प्रसारण को अनुमति देकर न्यायपालिका के कामकाज में पारदर्शिता लाने की दिशा में एक बड़ा कदम उठाया था। उसने कहा था कि यह पारदर्शिता ‘‘सूरज की रोशनी’’ की तरह है जो ‘‘सबसे अच्छा निस्संक्रामक’’ है।शीर्ष अदालत ने कहा था कि वैवाहिक विवादों या यौन शोषण से जुड़े संवेदनशील मामलों की कार्यवाही का सीधा प्रसारण नहीं किया जाना चाहिए। उच्चतम न्यायालय की पांच सदस्यीय संविधान पीठ को अगले सप्ताह कई महत्वपूर्ण मामलों पर सुनवाई करनी है, जिसमें आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (ईडब्ल्यूएस) को 10 प्रतिशत आरक्षण देने के लिए संविधान के 103वें संशोधन, नागरिकता संशोधन कानून की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली याचिकाओं और अन्य मामलों पर होने वाली सुनवाई शामिल है।हाल में कार्यकर्ता-वकील इंदिरा जयसिंह ने सीजेआई यू यू ललित को एक पत्र लिखकर 2018 के फैसले को लागू करने और संविधान पीठ के मामलों की सुनवाई का सीधा प्रसारण करने की मांग की थी। सूत्रों के अनुसार, शुरुआत में उच्चतम न्यायालय ‘यूट्यूब’ के जरिए कार्यवाही का सीधा प्रसारण कर सकता है और बाद में वह अपने सर्वर के जरिए कार्यवाही का सीधा प्रसारण कर सकता है। लोग अपने मोबाइल फोन, लैपटॉप और कम्प्यूटर पर बिना किसी बाधा के उच्चतम न्यायालय की कार्यवाही देख सकेंगे।

दिल्लीजलबोर्डनेरमजानमेंमुस्लिमकर्मचारियोंकीछुट्टीकेफैसलेपरअबलियायूटर्नIIM अहमदाबाद के लोगो में बदलाव पर विवाद, संस्‍थान के प्रोफेसरों ने किया विरोध******Highlights दुनिया की श्रेष्ठ मैनेजमेंट इंस्टिट्यूशन में से एक माने जाने वाली IIM अहमदाबाद इन दिनों अपने लोगो को बदलने को लेकर विवादों में घिरी है। आईआईएम-अहमदाबाद अपने मौजूदा लोगो को दो नए लोगो से बदलने की योजना बना रहा है, जिसमे एक अंतरराष्ट्रीय स्तर के लिए और दूसरा डोमेस्टिक उपयोग के लिए होगा। हालांकि ये योजना फैकल्टी मेम्बर्स से परामर्श के बिना तैयार की गई है जिसको लेकर विवाद शुरू हुआ। IIM अहमदाबाद के लोगो में बदलाव को लेकर हुए विवाद के बाद फिलहाल के लिए इसे टाल दिया गया है लेकिन माना जा रहा है कि अगले कुछ महीनो में इस पर कोई अंतिम निर्णय लिया जा सकता है।दरअसल, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट-अहमदाबाद अपने मौजूदा लोगो में बदलाव करने जा रहा है जिसे लेकर विवाद की स्थिति बन गई है। संस्‍थान अब दो लोगो अपनाने जा रहा। एक घरेलू और दूसरा इंटरनेशनल। खबरों की मानें तो लोगो में से संस्‍कृत के वाक्‍य और सिदी सैय्यद मस्‍जिद की जाली को हटाया जा रहा। ये लोगो ‘ट्री ऑफ लाइफ’ के आधार पर बनाया गया था। इसे लेकर संस्‍थान के प्राफेसर ही ख‍िलाफ में आ गए हैं। प्राफेसरों ने बोर्ड ऑफ गवर्नर्स को पत्र लिखा है जिसमें उन्‍होंने बताया क‍ि नए लोगो में सिदी सैय्यद मस्‍जिद की जाली की तस्‍वीर और संस्कृत का श्‍लोक ‘विद्याविनियोगदिविकासः’ हटाया जा रहा। इसी को लेकर विरोध हो रहा।प्रोफेसर्स के अनुसार आईआईएम-ए के लोगो के प्रपोज्ड बदलाव के बारे में 4 मार्च को अकादमिक कौंसिल मीटिंग में आईआईएम-ए के फैकल्टी मेम्बर्स को सूचित किया गया था। उन्हें लगता है कि आईआईएम-ए बोर्ड ने इस बदलाव को मंजूरी दे दी है और दो नए लोगो पहले ही रजिस्टर्ड किए जा चुके हैं। यह फैकल्टी मेम्बर्स के लिए एक आश्चर्य जनक घटना है क्योंकि आईआईएम-ए बोर्ड द्वारा लोगो के नए सेट को बिना फैकल्टी को सूचित किए या पूरी प्रक्रिया में शामिल किए ही मंजूरी दे दी गई है।एकेडेमिक काउंसिल की बैठक का पूरा व्योरा अगर देखे तो साफ़ नज़र आता है कि लोगो बदलने को लेकर आईआईएम संस्थान और उसके एकेडेमिक काउंसिल के सदस्यों के बीच एकमत नहीं है। काउंसिल के सदस्यों ने खुले तौर पर लोगो में बदलाव का विरोध किया है और इस विरोध को लेकर जब विवाद काफी ज्यादा बढ़ गया तो इसे फिलहाल के लिए टाल दिया गया है। जानकरी के मुताबिक़ पुराने लोगो को संशोधित कर गवर्निंग बोर्ड द्वारा संस्कृत शब्दों को समाप्त कर दिया गया था और ये बदलाव प्रोफेसरों की जानकारी के बिना किया गया। एक सूचना के मुताबिक़ 48 प्रोफेसरों ने लोगो में बदलाव के निर्णय का विरोध करते हुए निदेशक मंडल को एक पत्र सौंपा है और इसे वापस लेने का अनुरोध किया है।बता दें कि आईआईएम-ए का वर्तमान लोगो साल 1961 में अपनाया गया था जब संस्थान की स्थापना की गई थी। इसमें 'ट्री ऑफ लाइफ' का मूल भाव है, जो अहमदाबाद में सन 1573 में बनी सिदी सैय्यद मस्जिद की एक उत्कृष्ट नक्काशीदार पत्थर की जाली या जंगला से प्रेरित है। इसमें संस्कृत श्लोक विद्या विनियोगद्विकास भी है, जिसका मतलब होता है ज्ञान के वितरण के माध्यम से विकास। गौरतलब है कि गुजरात सरकार के कई टूरिज्म एड्स और ब्रोशर में इस मोटिफ डिजाइन का व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है।फैकल्टी मेम्बर्स के अनुसार सिदी सैयद की जाली की छाप दोनों नए लोगो में मौजूद है, लेकिन संस्कृत श्लोक केवल डोमेस्टिक लोगो में है, इसलिए इन फैकल्टी मेम्बर्स ने अपने पत्र में लिखा है कि ये लोगो हमारी पहचान है जाली और संस्कृत श्लोक हमें और हमारे भारतीय लोकाचार को परिभाषित करती है। हमारे लिए, यह हमारी भारतीयता का प्रतीक है, "विद्या" यानी संस्थान से हमारा जुड़ाव और ‘विकास’ यानी देश, उद्योग, समाज, छात्रों और प्रबंधन अनुशासन के विकास के लिए हमारी प्रतिबद्धता है। ये हमारी फिलोसोफी और मिशन स्टेटमेंट है। इसमें कोई भी बदलाव या तो कलात्मक प्रस्तुति में या पद्य में परिवर्तन हमारी पहचान पर हमले के सामान है. लोगो बदलने से संस्थान के ब्रांड और उसके हितधारकों पर दूरगामी प्रभाव पड़ेगा और इसके दीर्घकालिक परिणाम होंगे। हालांकि बोर्ड से उन्हें इस निर्णय पर "प्रोसेस फॉलोव्ड टू अराइव" के बारे में सूचित करने के लिए कहा गया है।आईआईएम-ए के पूर्व निदेशक बकुल ढोलकिया के अनुसार इस तरह का निर्णय संस्थान के मानदंडों, संस्कृतियों और प्रथाओं का एक मौलिक उल्लंघन है। उन्होंने कहा कि फैकल्टी गवर्नेंस के लोकतांत्रिक सिद्धांतों के लोकाचार से गंभीर रूप से समझौता किया गया है। हैरानी की बात यह है कि बोर्ड ने उस प्रस्ताव पर भी विचार किया जो एकेडमिक काउंसिल की ओर से नहीं आया था। ऐसा लगता है कि संस्थान की दशकों पुरानी संस्कृति का क्षरण हो रहा है और दुर्भाग्य से इसके लिए सरकार के हस्तक्षेप की आवश्यकता है।गौरतलब है की आईआईएम-ए के संस्थापक सदस्यों, विक्रम साराभाई और कमला चौधरी द्वारा 1961 में इस बी-स्कूल की स्थापना के बाद एक विसुअल आइडेंटिटी प्राप्त करने का विचार शुरू किया गया था और सर्वश्रेष्ठ वैश्विक मान्यता और रैंकिंग 2002 से 2010 तक इसी लोगो के साथ मिली थी। आईआईएम-ए ने तब 50 ग्लोबल इंस्टिट्यूट के साथ सहयोग किया था।दिल्लीजलबोर्डनेरमजानमेंमुस्लिमकर्मचारियोंकीछुट्टीकेफैसलेपरअबलियायूटर्नVinay Kumar Saxena: कौन हैं विनय कुमार सक्सेना जो बनाए गए दिल्ली के नए उपराज्यपाल?******Highlightsविनय कुमार सक्सेना को सोमवार को दिल्ली के नए उपराज्यपाल के रूप में नियुक्त किया गया। राष्ट्रपति भवन की ओर से जारी एक बयान में बताया गया कि राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने बैजल का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है और विनय कुमार सक्सेना को नया उपराज्यपाल नियुक्त किया है। बयान में कहा गया है, "भारत के राष्ट्रपति ने विनय कुमार सक्सेना को उनके पदभार ग्रहण करने की तारीख से राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली का उपराज्यपाल नियुक्त किया है।"सक्सेना खादी और ग्रामोद्योग आयोग (KVIC) का नेतृत्व कर चुके हैं, जिसे उनके अधीन देश का सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाला सरकारी संस्थान घोषित किया गया था। सक्सेना की नियुक्ति अनिल बैजल द्वारा "व्यक्तिगत कारणों" का हवाला देते हुए पद से इस्तीफा देने के कुछ दिनों बाद हुई है।विनय कुमार सक्सेना गवर्नर पद के लिए चुने गए पहले कॉर्पोरेट व्यक्ति हैं और तीन दशकों से अधिक के विशाल अनुभव के साथ भारतीय कॉर्पोरेट और सामाजिक क्षेत्र में एक जाना-माना नाम हैं। उत्तर प्रदेश के एक शिक्षित और प्रतिष्ठित कायस्थ परिवार में जन्मे सक्सेना ने 1981 में कानपुर विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री प्राप्त है और साथ ही उनके पास एक पायलट का भी लाइसेंस है। तकनीकी, कानूनी, सामाजिक और सांस्कृतिक कौशल के साथ संयुक्त सामाजिक और कॉर्पोरेट मामलों पर उनकी नेतृत्व क्षमता ये दिखाती है कि वह कितने काबिल हैं।दिल्ली के एलजी ने 1984 में जेके ग्रुप के साथ राजस्थान में एक सहायक अधिकारी के रूप में अपना करियर शुरू किया। व्हाइट सीमेंट प्लांट के साथ विभिन्न पदों पर 11 सालों तक काम करने के बाद, उन्हें 1995 में गुजरात में प्रस्तावित बंदरगाह परियोजना की देखरेख के लिए महाप्रबंधक के रूप में पदोन्नत किया गया था।इसके बाद जल्दी ही वह सीईओ बना दिए गए और बाद में धोलेरा पोर्ट प्रोजेक्ट के निदेशक के रूप में पदोन्नत हुए। उन्होंने 1991 में एक व्यापक रूप से प्रशंसित एनजीओ, नेशनल काउंसिल फॉर सिविल लिबर्टीज (एनसीसीएल) की स्थापना की, जिसका मुख्यालय अहमदाबाद में है।अक्टूबर 2015 में, सक्सेना को केवीआईसी के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया था, जहां उन्होंने खादी और ग्रामोद्योग क्षेत्रों की अप्रयुक्त धाराओं की खोज की और पहली बार 'हनी मिशन', 'कुम्हार सशक्तिकरण योजना' और 'चमड़ा कारीगर सशक्तिकरण योजना' जैसी कई नवीन रोजगार-सृजन योजनाओं को लागू किया, जिसने हर तरफ से वाहवाही बटोरी।विनय कुमार सक्सेना के नेतृत्व में, केवीआईसी के कारोबार में 248 प्रतिशत की भारी वृद्धि हुई, जबकि केवल सात वर्षों में बड़े पैमाने पर 40 लाख नए रोजगार सृजित हुए। सक्सेना के कार्यकाल के दौरान, केवीआईसी ने पहली बार 2021-22 में 1.15 लाख करोड़ रुपये का ऐतिहासिक कारोबार किया, जो भारत में अब तक केवीआईसी और किसी भी एफएमसीजी कंपनी द्वारा सबसे अधिक है। इस प्रकार, उन्होंने खादी को एक वैश्विक ब्रांड के रूप में स्थापित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।सक्सेना को उनके तेज सामाजिक, सांस्कृतिक, राजनीतिक और प्रशासनिक कौशल की मान्यता में, भारत सरकार ने कई प्रतिष्ठित समितियों और पैनलों के लिए केवीआईसी अध्यक्ष को नामित किया। 5 मार्च, 2021 को, सक्सेना को भारत की स्वतंत्रता की 75 वीं वर्षगांठ मनाने के लिए राष्ट्रीय समिति के सदस्य के रूप में नियुक्त किया गया था।नवंबर 2020 में, उन्हें वर्ष 2021 के लिए उच्चाधिकार प्राप्त पद्म पुरस्कार चयन समिति के सदस्य के रूप में नामित किया गया था। 2016 से 2022 तक, सक्सेना को "लोक प्रशासन में उत्कृष्टता के लिए प्रधान मंत्री पुरस्कार" के मूल्यांकन के लिए हर साल 'अधिकार प्राप्त समिति' के सदस्य के रूप में नामित किया गया था।9 सितंबर, 2020 को, उन्हें प्रतिष्ठित "वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) की "शासी परिषद" के सदस्य के रूप में नामित किया गया था। भारत के राष्ट्रपति ने 18 मार्च, 2019 को विश्वविद्यालय के आगंतुक के रूप में उनकी क्षमता को देखते हुए, सक्सेना को जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के "विश्वविद्यालय न्यायालय के सदस्य" के रूप में नामित किया।अपनी छह दशक की यात्रा के दौरान, सक्सेना ने अपनी उपलब्धियों के लिए कई पुरस्कार भी जीते हैं। मई 2008 में, उन्होंने गुजरात में "पर्यावरण संरक्षण और जल सुरक्षा में उत्कृष्ट योगदान" के लिए यूनेस्को, यूनिसेफ और यूएनडीपी के सहयोग से संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास दशक (यूएनडीईएसडी) द्वारा अंतर्राष्ट्रीय सम्मान जीता। मई 2007 में, सक्सेना के एनजीओ - एनसीसीएल ने अहमदाबाद शहर में धूल प्रदूषण को कम करने के लिए अपनी अनूठी परियोजना "मिशन एंड्योर" के लिए प्रतिष्ठित यूएन-हैबिटैट समर्थित दुबई इंटरनेशनल अवार्ड फॉर बेस्ट प्रैक्टिस जीता।

दिल्लीजलबोर्डनेरमजानमेंमुस्लिमकर्मचारियोंकीछुट्टीकेफैसलेपरअबलियायूटर्नjammu kashmir: जम्मू कश्मीर में आतंकियों की कायराना हरकत, बांदीपोरा में बिहार के युवक की गोली मारकर हत्या******Highlights जम्मू कश्मीर में अमन की बयार आतंकवादियों को रास नहीं आ रही है। लगातार सर्च अभियान ने भी आतंक की कमर तोड़ दी है। इस कारण बौखलाए आतंकवादी अब आम लोगों को निशाना बना रहे हैं। घाटी में एकबार फिर गोली मारकर हत्या करने का मामला सामने आया है। यहां बांदीपोरा में अजस तहसील के गांव सादुनारा में आतंकवादियों ने शुक्रवार तड़के एक गैर कश्मीरी की गोली मारकर हत्या कर दी। मृतक बिहार का रहने वाला था। मृतक की पहचान मोहम्मद अमरेज के रूप में हुई है। यह 19 साल का युवक मजदूर था, जो कि बिहार में मधेपुरा जिले के बेसाढ़ गांव का निवासी था। उसके पिता का नाम मोहम्मद जलील बताया गया है।बिहार का रहने वाला युवक प्रवासी मजदूर थाघाटी में एक बार फिर गैर कश्मीरी को गोली मारने की वारदात हो गई। यहां बांदीपोरा में शुक्रवार तड़के आतंकियों ने बिहार के प्रवासी मजदूर को गोली मार दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घेराबंदी की है। आतंकवादियों की तलाश की जा रही है। अमरेज यहां मजदूरी करने आया था। उसके बारे में और भी इंफॉर्मेशन निकाली जा रही है। इस घटना के बारे में जम्मू कश्मीर पुलिस ने बताया कि यह मध्यरात्रि में हुई वारदात है। बांदीपोरा के सोदनारा सुंबल में आतंकियों ने मजदूर को निशाना बनाकर गोली मारी और घायल कर दिया। मृतक को बचाने के लिए उसे अस्पताल लाया गया, लेकिन इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया।नहीं रुक रही गैर कश्मीरियों पर टारगेट किलिंगजम्मू कश्मीर में गैर कश्मीरियों की टारगेट किलिंग का मामला रुक नहीं रहा है। अप्रैल में कुलवामा जिले के काकरान क्षेत्र में एक व्यक्ति की आतंकवादियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। इस व्यक्ति की पहचान सतीश सिंह राजपूत के रूप में हुई थी। आतंकवादी संगठन गैर कश्मीरियों को घाटी छोड़ने की चेतावनी दे रहे हैं। ये चेतावनी कश्मीरी पंडितों को दी गई है कि वे घाटी छोड़कर चले जाएं।इससे पहले केंद्र सरकार के कर्मचारी पर भी आतंकवादियों ने अटैक किया था। साथ ही सरकारी क्वार्टर्स पर सूचना चस्पा कर दी थी, जिसमें उन्हें कश्मीर छोड़ने की बात कही थी। इस पर केंद्र सरकार के कर्मचारियों ने प्रदर्शन कर सरकार से सुरक्षा की गुहार भी हाल के समय में की थी।दिल्लीजलबोर्डनेरमजानमेंमुस्लिमकर्मचारियोंकीछुट्टीकेफैसलेपरअबलियायूटर्नPNB ने अपने ग्राहकों को दिया तोहफा, एक साल की MCLR ब्‍याज दर 0.05% घटाई******PNB gives gift to customers,cuts one year MCLR by 0.05 pc सार्वजनिक क्षेत्र के पंजाब नेशनल बैंक (PNB) ने एक साल की कोष की सीमांत लागत आधारित ब्याज दर (MCLR) 0.05 प्रतिशत घटाकर 7.30 प्रतिशत कर दी है। बैंक ने सोमवार को शेयर बाजार को दी सूचना में कहा कि कोष की सीमांत लागत आधारित संशोधित ब्याज दर एक जून, 2021 से प्रभाव में आएगी। छह महीने और तीन महीने की अवधि के लिए एमसीएलआर में 0.10 प्रतिशत की कटौती की गई है और इस कटौती के बाद ब्याज दर क्रमश: 7 प्रतिशत और 6.80 प्रतिशत होगी। एक दिन, एक महीने और तीन साल की अवधि के लिए में कोई बदलाव नहीं किया गया है। भारतीय रिजर्व बैंक के आंकड़े के मुताबिक गैर खाद्य बैंक ऋण में अप्रैल 2021 में 5.7 प्रतिशत की वृद्धि हुई जबकि पिछले साल इसी महीने में यह वृद्धि 6.7 प्रतिशत थी। रिजर्व बैंक द्वारा सोमवार को जारी अलग-अलग क्षेत्रों को दिए गए बैंक रिण के आंकड़े के मुताबिक अप्रैल 2021 में कृषि एवं संबंधित गतिविधियों के लिए दिए गए ऋण में 11.3 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई जो अप्रैल 2020 मे 4.7 प्रतिशत थी। अप्रैल 2020 में उद्योग को दिए गए ऋण में 0.4 प्रतिशत की कमी दर्ज की गयी जो अप्रैल 2020 में 1.7 प्रतिशत थी।हालांकि अप्रैल 2021 में मध्य आकार के उद्योगों के ऋण में 43.8 प्रतिशत की मजबूत वृद्धि हुई जबकि एक साल पहले इसमें 6.4 प्रतिशत की कमी हुई थी। अप्रैल 2021 में सूक्ष्म और लघु उद्योगों के ऋण में 3.8 प्रतिशत की वृद्धि देखी गयी जबकि अप्रैल 2020 में इसमें 2.2 प्रतिशत की कमी हुई थी। वहीं बड़े उद्योगों के ऋण में 1.9 प्रतिशत की कमी दर्ज की गयी जबकि एक साल पहले इसमें 2.7 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी। अप्रैल 2021 में सेवा क्षेत्र के ऋण में 1.2 प्रतिशत की कमी आयी जो एक साल पहले 10.6 प्रतिशत थी।केनरा बैंक ने सोमवार को कहा कि उसने एसके मजुमदार को तत्काल प्रभाव से अपना मुख्य वित्तीय अधिकारी (सीएफओ) नियुक्त किया है। सरकारी बैंक ने एक नियामकीय सूचना में कहा कि बैंक के महाप्रबंधक एक के मजुमदार को 31 मई, 2021 से तत्काल प्रभाव से बैंक का मुख्य वित्तीय अधिकारी नियुक्त किया गया है। वह मुख्य महाप्रबंधक वी रामचंद्र की जगह लेंगे।मजुमदार (52) के पास एक चार्टर्ड अकाउंटेंट और कॉस्ट अकाउंटेंट की योग्यता है। उन्होंने 21 साल से ज्यादा समय से बैंकिंग क्षेत्र में अलग-अलग क्षमताओं और विभागों में काम किया है। केनरा बैंक ने बताया कि वह जनवरी 2000 से उनके साथ है।

दिल्लीजलबोर्डनेरमजानमेंमुस्लिमकर्मचारियोंकीछुट्टीकेफैसलेपरअबलियायूटर्नपाकिस्तान ने फ‍िर की नया कर्ज मांगने की तैयारी, वर्ल्‍ड बैंक व एडीबी से मांगेगा दो अरब डॉलर******Pakistan To Seek 2 Billion dollar In New Loans From World Bank, ADBनकदी संकट से जूझ रही पाकिस्तान सरकार ने अब वैश्विक वित्तीय संस्थाओं से दो अरब डॉलर का नया कर्ज मांगने की योजना बनाई है। एक मीडिया रिपोर्ट में बुधवार को यह जानकारी दी गई। पाकिस्तान को कोरोना वायरस महामारी का मुकाबला करने के लिए मदद की दरकार है, जबकि सरकार के खजाने की स्थिति तेजी से बिगड़ रही है। एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने बताया कि ने विश्व बैंक और एशियाई विकास बैंक (एडीबी) से जो नया कर्ज मांगा है, वह जी-20 देशों से मांगे गए कर्ज के मुकाबले अधिक है। इस्लामाबाद ने जी-20 देशों से 1.8 अरब डॉलर मांगे हैं। एडीबी और पाकिस्तान के बीच 30.5 करोड़ रुपए के कोविड-19 आपातकालीन ऋण पर सहमति हुई है, ताकि चिकित्सा उपकरण खरीदे जा सकें और गरीब महिलाओं को धन वितरित किया जाए। अब एशियाई विकास बैंक वाणिज्यिक शर्तों पर ऋण राशि को बढ़ाएगा।पाकिस्तान को पिछले महीने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष से 1.39 अरब अमेरिकी डॉलर का आपातकालीन ऋण और विश्व बैंक से 20 करोड़ डॉलर की सहायता मिली थी। अनुमान है कि पाकिस्तान का सार्वजनिक ऋण इस साल जून तक बढ़कर 37,500 अरब पाकिस्तानी रुपए या सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का 90 प्रतिशत हो जाएगा।रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान सिर्फ इस साल ही कर्ज चुकाने पर 2,800 अरब रुपए खर्च करेगा जो संघीय राजस्व बोर्ड के अनुमानित कर संग्रह का 72 प्रतिशत है। दो साल पहले जब पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) सरकार सत्ता में आई थी, तब सार्वजनिक ऋण 24,800 लाख करोड़ रुपए था, जो तेजी से बढ़ रहा है। पाकिस्तान में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस के 469 नए मामले सामने आए। अब तक कुल 45,898 लोगों को संक्रमण हो चुका है और 985 की मौत हुई है।दिल्लीजलबोर्डनेरमजानमेंमुस्लिमकर्मचारियोंकीछुट्टीकेफैसलेपरअबलियायूटर्नUP News: वृंदावन की विधवा महिलाओं ने रक्षाबंधन के मौके पर दिखाई क्रिएटिविटी, PM मोदी के लिए डिजाइन कीं स्पेशल राखियां******Highlightsयूपी के वृंदावन की विधवा महिलाओं ने रक्षाबंधन के मौके पर क्रिएटिविटी दिखाई है। इन महिलाओं ने पीएम मोदी के लिए स्पेशल राखियां डिजाइन की हैं। इन राखियों को रक्षाबंधन के मौके पर पीएम मोदी को भेजा जाएगा।इस बारे में सुलभ इंटरनेशनल सोशल सर्विस ऑर्गनाइजेशन ने बताया कि विधवा महिलाओं के लिए हमारा ऑर्गनाइजेशन बीते 10 सालों में वृंदावन, वाराणसी और उत्तराखंड में बीते 10 सालों से काम कर रहा है। इस दौरान महिलाओं को कई तरह की स्किल सिखाई गई है, जिसमें राखी बनाना भी शामिल है। इस बात की जानकारी वाइस प्रेसीडेंट ने दी है।रक्षाबंधन के मौके पर CM योगी का बड़ा ऐलानयूपी में रक्षाबंधन के मौके पर सीएम योगी ने राज्य की महिलाओं को बड़ा तोहफा दिया है। अगले 48 घंटे तक यूपी की सभी माताओं, बहनों और बेटियों को सरकारी बसों में फ्री यात्रा की सुविधा मिलेगी। ये सुविधा आज रात 12 बजे से लेकर 12 अगस्त की रात 12 बजे तक उपलब्ध कराई जाएगी। सीएम योगी ने ट्वीट करके इस बात की जानकारी दी है। सीएम योगी ने ये भी कहा कि हम लोग बहुत जल्द 60 साल से ऊपर की माताओं और बहनों के लिए सरकारी बसों में फ्री यात्रा की व्‍यवस्‍था करने जा रहे हैं।खिलाड़ियों को भी मिलेगी सुविधासीएम योगी ने ट्वीट कर बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार कॉमनवेल्थ गेम्स में पदक पाने वाले और उसमें भाग लेने वाले हर खिलाड़ी को सम्मानित करेगी। राज्य सरकार पदक जीतने वाले प्रदेश के खिलाड़ियों को अपनी खेल नीति के अनुसार अतिरिक्त सम्मान और नौकरी भी देगी।कब है रक्षाबंधनरक्षाबंधन का त्यौहार हर साल श्रावण महीने की पूर्णिमा तिथि को मनाया जाता है। इस दिन बहनें अपने भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र, यानी राखी बांधती हैं और भाई की लंबी उम्र और सुख-समृद्धि की कामना करती हैं। वहीं भाई अपनी बहन को रक्षा का वचन देते हैं। ये राखी भाई की रक्षा का प्रतीक होता है।पंचांग के अनुसार, सावन मास की पूर्णिमा तिथि 11 अगस्त 2022 को 10 बजकर 38 मिनट से शुरू होगी और अगले दिन यानी 12 अगस्त 2022 को सुबह 7 बजकर 5 मिनट पर खत्म होगी। ऐसे में लोग इस सोच में पड़ गए हैं कि रक्षाबंधन 11 अगस्त को मनाया जाएगा या फिर 12 अगस्त को। दरअसल इस बार रक्षाबंधन का पर्व 11 और 12 अगस्त को दोनों ही दिन मनाया जाएगा।ज्योतिषियों का कहना है कि 11 अगस्त को दिन में भद्रा होने से राखी नहीं बांधी जा सकेगी। इस दिन भद्रा रात आठ बजकर 26 मिनट पर खत्म होगी। इसके बाद अगले दिन यानी 12 अगस्त को भी सुबह 7 बजकर 5 मिनट तक पूर्णिमा तिथि रहेगी। हालांकि इस समय भद्रा नहीं है। ऐसे में यदि आप 12 अगस्त को राखी बांधने की सोच रहें हैं तो सुबह 7 बजकर 5 मिनट से पहले ही राखी बांध दें। वहीं, ज्योतिष के अनुसार, 12 अगस्त का दिन शुभ है और इस दिन सौभाग्य योग भी बन रहा है। ऐसे में बहनें 12 को पूरे दिन राखी बांध सकती हैं।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-07 13:54
उद्धरण 1 इमारत
हेल्दी माने जाने वाला 'ऑलिव ऑयल' कुकिंग के लिए क्यों है अनहेल्दी, जाने वजह******Highlights ऑलिव ऑयल कोई सामान्य सामग्री नहीं है जिसे आप सिर्फ भोजन में शामिल कर सकते हैं। ऑलिव ऑयल वजन घटाने के साथ-साथ ब्लड और शुगर लेवल को मेंटेन करने में मदद करता है। खाने के लिए ऑलिव ऑयल एक बेहतर ऑप्शन मना जाता है, लेकिन तड़का लगाने या बहुत अधिक गर्म भोजन में इसे उपयोग करने से बचना चाहिए। क्योंकि ऑलिव ऑयलखुद ही गर्म रहता है। उस स्थिति में यह शरीर को फायदा पहुंचाने की जगह नुकसान करता है।ऑलिव ऑयल को गर्म करने पर इसके बेसिक केमिकल प्रॉपर्टीज में बदलाव होता है, जिससे इसमें ऐसे कारकों की उत्पत्ति हो जाती है, जो शरीर के अंदर पहुंचने पर फ्री रेडिकल्स को भारी संख्या में बढ़ाने का काम करते हैं। ये फ्री रेडिकल्स यानी मुक्त कण, शरीर के अंदर हेल्दी सेल्स से चिपक जाते हैं और इस कारण कोशिकाएं अपना काम ठीक तरह से नहीं कर पाती हैं। ऑलिव ऑयल धीरे-धीरे पॉइजन का काम करने लगता है और इंसान को बीमारियां होने लगती है।
2022-10-07 12:57
उद्धरण 2 इमारत
Tokyo Olympics 2020: मनप्रीत सिंह ने की टीम की कमिटमेंट की तारीफ, कही ऐसी बात******भारतीय पुरुष हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह ने रविवार को कहा कि उनके खिलाड़ियों ने 49 साल बाद यहां ओलंपिक सेमीफाइनल में जगह सुनिश्चित करने के अपने प्रयासों के दौरान 'स्वयं को लगभग मार ही दिया' था। उन्होंने यहां क्वार्टर फाइनल में ग्रेट ब्रिटेन पर 3-1 की जीत के लिए टीम की सराहना की। मनप्रीत ने कहा कि आत्मविश्वास ने टीम की सफलता में अहम भूमिका निभाई जो 1972 म्यूनिख खेलों के बाद पहली बार ओलंपिक में सेमीफाइनल में जगह बनाने में सफल रही।मनप्रीत ने कहा, "यह आत्मविश्वास था। सभी को अपने ऊपर यकीन था और आज यह अहम रहा, सभी ने आज अपना शत प्रतिशत दिया और मैदान पर उन्हें स्वयं को लगभग मार ही दिया था।"भारत ने अपने आठ हॉकी ओलंपिक स्वर्ण पदकों में से आखिरी पदक 1980 मॉस्को खेलों में जीता था लेकिन उस समय सेमीफाइनल नहीं हुए थे क्योंकि सिर्फ छह टीमों ने प्रतियोगिता में हिस्सा लिया था। म्यूनिख खेलों के सेमीफाइनल में भारत को चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ 0-2 से हार झेलनी पड़ी थी। मनप्रीत ने हालांकि टीम के अपने साथियों को समय से पहले जश्न मनाने के प्रति चेताया और कहा कि उनका काम अब तक खत्म नहीं हुआ है।उन्होंने कहा, "हम बेहद खुश हैं क्योंकि लंबे समय के बाद हमने सेमीफाइनल में जगह बनाई है। हालांकि अब भी हमारा काम खत्म नहीं हुआ है। अब भी हमारे दो मैच बाकी हैं इसलिए हमें एकाग्रता कायम रखने की जरूरत है, हमें अपने पैर जमीन पर रखने की जरूरत है और हमें अपने अगले मैच पर ध्यान लगाना होगा।"भारतीय टीम सेमीफाइनल में मंगलवार को बेल्जियम से भिड़ेगी। मनप्रीत ने कहा, "सभी काफी अच्छा खेले। हमने तीन शानदार गोल किए, स्ट्राइकरों से अच्छे मौके बनाए और पूरी टीम काफी अच्छा खेली।"भारत के अनुभवी गोलकीपर पीआर श्रीजेश ने सोमवार को विरोधी टीम के कई अच्छे प्रयासों को नाकाम किया और मनप्रीत ने उनकी जमकर सराहना की। उन्होंने कहा, "अविश्वसनीय। आप देख सकते हैं कि वह (श्रीजेश) हमें हमेशा बचाता है। इसलिए हम उसे ‘द वॉल’ कहते हैं।"श्रीजेश ने कहा कि ओलंपिक में अंतिम दो मुकाबलों से पहले सुधार की काफी गुंजाइश है। उन्होंने कहा, "निश्चित तौर पर सुधार की काफी गुंजाइश है लेकिन अगर सेमीफाइनल की बात करें तो यह मेरे लिए नई चीज है। यह मेरा तीसरा ओलंपिक है और यह मेरे लिए नई चीज है। यह ऐसा समय है जब आप कोई गलती नहीं कर सकते।"
2022-10-07 12:04
उद्धरण 3 इमारत
India UK: भारत-ब्रिटेन के बीच एफटीए को लेकर बातचीत अंतिम चरण में, हस्ताक्षर के लिए अक्टूबर में ब्रिटेन जा सकते हैं पीएम मोदी******भारत और ब्रिटेन के बीच मुक्त व्यापार समझौते (एफटीए) को लेकर बातचीत अंतिम चरण में है। लंदन के लॉर्ड मेयर विन्सेंट केवेनी ने यह बात कही है। केवेनी हाल में चार दिन भारत यात्रा के बाद लंदन लौटे हैं। उन्होंने कहा कि एफटीए को लेकर कुछ मुद्दे अभी लंबित हैं, लेकिन दोनों पक्षों को उम्मीद है कि समझौते के मसौदे के लिए तय की गई दिवाली की समयसीमा को पूरा कर लिया जाएगा। केवेनी ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘भारत में उनका समय काफी अच्छा रहा। एफटीए को लेकर वार्ता अंतिम चरण में है।’’दिवाली के आस-पास ब्रिटेन जा सकते हैं पीएम मोदीउन्होंने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह स्पष्ट कर दिया है कि वह एफटीए पर दिवाली तक हस्ताक्षर चाहते हैं। हालांकि, कुछ मुद्दे अभी लंबित हैं, लेकिन दोनों पक्ष इस बात को लेकर आशान्वित हैं कि दिवाली की समयसीमा को पूरा कर लिया जाएगा। एफटीए की सामग्री कुछ भी हो, निश्चित रूप से यह भारत और ब्रिटेन के संबंधों की दृष्टि से सकारात्मक रहेगा।’’ इस तरह की खबरें आई हैं कि प्रधानमंत्री मोदी दिवाली के आसपास समझौते पर हस्ताक्षर के लिए ब्रिटेन की यात्रा पर जा सकते हैं।अप्रैल में तय हुई थी समयसीमायह समयसीमा ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की अप्रैल की भारत यात्रा के दौरान तय की गई थी। इस तरह की चर्चा है कि ब्रिटेन में नेतृत्व परिवर्तन के बाद शायद इस समयसीमा को पूरा करना संभव नहीं होगा।
वापसी