नई पोस्ट करें

नेपाल के डोलखा में 5.3 तीव्रता का भूकंप, बिहार में भी महसूस हुए झटके

2022-10-07 06:17:10 196

नेपालकेडोलखामें53तीव्रताकाभूकंपबिहारमेंभीमहसूसहुएझटकेअनुराग कश्यप की 'ब्लैक फ्राइडे' से आसिफ बसरा को मिली थी पहचान, आखिरी बार इस वेबसीरीज में आए थे नजर******सिनेमाजगत में एक से बढ़कर एक किरदार निभाकर अपनी पहचान बनाने वाले अभिनेता आसिफ बसरा की मौत की खबर ने सभी को हिलाकर रख दिया है। आसिफ ने फांसी लगाकर गुरुवार को सुसाइड कर लिया। आसिफ की मौत की जानकारी आते ही सिनेमाजगत में सन्नाटा पसर गया है। आइए आपको बताते हैं मशहूर एक्टर आसिफ ने अपने करियर की शुरुआत किस फिल्म से की थी साथ ही किस किरदार ने उनकी किस्मत चमका दी।अभिनेता आसिफ बसरा ने अपने करियर की शुरुआत थिएटर से की थी। ये पहली बार एक जी टीवी के सीरियल 'वो' में नजर आए थे। जो कि 1998 में ऑनएयर हुआ था। इसके बाद आसिफ ने सिनेमाजगत में साल 2003 में आई फिल्म 'रुल्स: प्यार का सुपरहिट फॉर्मूलाकी।इस फिल्म के बाद एक और फिल्म आई लेकिन आसिफ को पहचान अनुराग कश्यप की 'ब्लैक फ्राइडे' फिल्म से ही मिली। ये फिल्म साल 2004 में रिलीज हुई थी। इस फिल्म में आसिफ ने अपने किरदार से लोगों के दिलों में ऐसी जगह बनाई कि फिर उन्हें लगातार कई शानदार फिल्मों में देखा गया। खास बात है कि आसिफ ने कई फिल्म में साइड तो कई फिल्मों में अहम रोल भी निभाए हैं।साल 2010 में इमरान हाशमी की फिल्म 'वन्स अपॉन ए टाइम इन मुंबई' रिलीज हुई थी। इस फिल्म में आसिफ ने इमरान हाशमी के पिता का किरदार निभाया था, जो कि लोगों को खूब पसंद भी आया था।इसके अलावा आसिफ 'लम्हा', 'काय पो चे', 'कृष 3', 'अंजान', 'फ्रीकी अली' और 'शैतान' जैसी फिल्मों में नजर आए थे। आसिफ ने वेबसीरीज में भी हाथ आजमाया। आसिफ आखिरी बार वेबसीरीज 'होस्टेजेस' में नजर आए थे।

नेपालकेडोलखामें53तीव्रताकाभूकंपबिहारमेंभीमहसूसहुएझटकेदिल्ली में कोरोना के 39 नए मामले, Omicron से निपटने के लिए LNJP में 40 बिस्तरों की व्यवस्था******Highlightsदिल्ली में बुधवार को कोरोना वायरस से संक्रमित किसी भी मरीज के दम तोड़ने की पुष्टि नहीं हुई तथा संक्रमण के 39 नए मामले मिले। राष्ट्रीय राजधानी में संक्रमण दर 0.07 प्रतिशत है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक, दिल्ली में कुल मामले 14,40,973 पहुंच गए हैं जबकि 14.15 लाख से ज्यादा लोग संक्रमण से मुक्त हो गए हैं। उसमें बताया गया है कि दिल्ली में कोविड के कारण 25,098 लोगों की जान जा चुकी है।आंकड़ों के मुताबिक, एक दिन पहले 59,507 नमूनों की जांच की गई है। राष्ट्रीय राजधानी में का इलाज करा रहे मरीजों की संख्या 286 है जिनमें से 136 घर में पृथक-वास में हैं। इस बीच लोक नायक जयप्रकाश (एलएनजेपी) अस्पताल ने कोविड-19 के नए वेरिएंट Omicron से संक्रमित लोगों के इलाज के लिए 40 बिस्तर स्थापित किए हैं।स्वास्थ्य विभाग ने सोमवार को जारी एक आदेश में अस्पताल से ऐसे मरीजों को पृथक करने और उनका इलाज करने के लिए वार्ड चिन्हित करने को कहा था। विभाग ने कहा था कि नए वेरिएंट से संक्रमित किसी भी मरीज को किसी भी आधार पर अस्पतालों में भर्ती करने से मना नहीं किया जाना चाहिए।एलएनजेपी के चिकित्सा निदेशक डॉ सुरेश कुमार ने बताया, “हमने Omicron वेरिएंट से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए 40 बिस्तरों की व्यवस्था की है। इसके अलावा आईसीयू और ऑक्सीजन की भी सुविधा है। जरूरत पड़ने पर हम रामलीला मैदान में अतिरिक्त बिस्तर भी लगा सकते हैं।” उन्होंने बताया कि अस्पताल में फिलहाल कोविड से संक्रमित तीन मरीज भर्ती हैं।नेपालकेडोलखामें53तीव्रताकाभूकंपबिहारमेंभीमहसूसहुएझटकेइलेक्ट्रिक स्कूटर और कार चलाना होगा और भी सस्ता? CII ने दिया ये जबर्दस्त सुझाव******इलेक्ट्रिक कारभारत में इलेक्ट्रिक वाहनों की कीमत घटने के साथ ही अब इसको चार्ज करने पर आने वाला खर्च भी घट सकता है। चार्जिंग नेटवर्क की संख्या को बढ़ाने के लिए उद्योग मंडल भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) ने सरकार को सुझाव दिया है। सीआईआई के अनुसार इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवी) की चार्जिंग के लिए सेवा शुल्क की सीमा को खत्म कर नए प्लेयर्स को यहां आने का मौका दे सकती है।उद्योग मंडल ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि लागत की अनिश्चितता और प्रयोग के स्तर के हिसाब से फिलहाल शुल्क की कोई भी सीमा निजी निवेश को हतोत्साहित करेगी। सीआईआई ने रसायन सेल बैटरी भंडारण के लिए उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन योजना (पीएलआई) पर केंद्र सरकार की घोषणा का स्वागत करते हुए सरकारी सहायता और वित्तीय प्रोत्साहन बढ़ाने का आह्वान किया है।उद्योग मंडल का कहना है कि पीएलआई के तहत शुरुआती 50 गीगावॉट घंटा की क्षमता बड़े बाजार आकार के लिए पर्याप्त नहीं हो सकती है। सीआईआई ने अपनी रिपोर्ट में इसके अलावा इलेक्ट्रिक वाहनों पर शुल्क का लाभ उठाने के लिए अंतिम उपयोगकर्ता पर जीएसटी की छूट की भी सिफारिश की है। रिपोर्ट में अलग से बेची गई बैटरी और इलेक्ट्रिक वाहन में लगी हुई आई बैटरी पर माल एवं सेवा कर (जीएसटी) को युक्तिसंगत बनाने की आवश्यकता पर भी जोर दिया है।

नेपाल के डोलखा में 5.3 तीव्रता का भूकंप, बिहार में भी महसूस हुए झटके

नेपालकेडोलखामें53तीव्रताकाभूकंपबिहारमेंभीमहसूसहुएझटके10 ग्राम सोने के नए रेट जारी किए गए, अब जानें कितने का मिलेगा गोल्ड******10 ग्राम सोने के नए रेट जारी किए गए, अब जानें कितने का मिलेगा गोल्डनई दिल्ली: सोने के दाम में आज फिर बदलाव दर्ज किया गया है। जिसके बाद 10 ग्राम सोने के नए दाम जारी किए गए है। अगर आप सोना खरीदना या उसमें निवेश करना चाहते है तो हम आपको आज के नए रेट के बारे में जानकारी दे रहे है। राष्ट्रीय राजधानी के सर्राफा बाजार में शुक्रवार को सोना दो रुपये की मामूली बढ़त के साथ 46,171 रुपये प्रति दस ग्राम हो गया। एचडीएफसी सिक्योरिटीज ने यह जानकारी दी। इससे पिछले कारोबारी सत्र में सोना 46,169 रुपये प्रति दस ग्राम पर बंद हुआ।दूसरी ओर इसके विपरीत, चांदी की कीमत 209 रुपये गिरकर 62,258 रुपये प्रति किलोग्राम रह गई। पिछले कारोबारी सत्र में चांदी 62,467 रुपये प्रति किलोग्राम पर बंद हुई थी। अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना मामूली तेजी के साथ 1,813 डॉलर प्रति औंस पर बोला गया। वहीं चांदी 24 डॉलर प्रति औंस पर लगभग अपरिवर्तित रही। एचडीएफसी सिक्योरिटीज के वरिष्ठ विश्लेषक (जिंस) तपन पटेल ने कहा, ‘‘अमेरिका में रोजगार से जुड़े महत्वपूर्ण आंकड़े आने से पूर्व सोने की कीमत में एक सीमित दायरे में घट बढ़ देखी गई।’’वहीं अगर शेयर मार्किट की बात करें तोबीएसई सेंसेक्स शुक्रवार को 277 की तेजी के साथ पहली बार 58,000 अंक के ऊपर बंद हुआ। वैश्विक स्तर पर कुल मिलाकर सकारात्मक रुख तथा विदेशी संस्थागत निवेशकों की तरफ से पूंजी प्रवाह बने रहने के बीच सूचकांक में मजबूत हिस्सेदारी रखने वाले रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर में तेजी से बाजार को मजबूत मिली। तीस शेयरों पर आधारित संसेक्स 277.41 अंक यानी 0.48 प्रतिशत चढ़कर अब तक के उच्चतम स्तर 58,129.95 अंक पर बंद हुआ।कारोबार के दौरान यह रिकार्ड 58,194 अंक तक चला गया था। इसी प्रकार, एनएसई निफ्टी 89.45 अंक यानी 0.52 प्रतिशत की तेजी के साथ रिकार्ड 17,323.60 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह रिकार्ड 17,340.10 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स के शेयरों में 4 प्रतिशत से अधिक की तेजी के साथ सर्वाधिक लाभ में रिलांयस इंडस्ट्रीज का शेयर रहा। इसके अलावा, टाइटन, टाटा स्टील, बजाज ऑटो, मारुति और डा.रेड्डीज भी प्रमुख रूप से लाभ में रहें। दूसरी तरफ गिरावट वाले शेयरों में एचयूएल, भारती एयरटेल, एचडीएफसी बैंक, एचडीएफसी और इंडसइंड बैंक शामिल हैं।रिलायंस सिक्योरिटीज के रणनीति मामलों के प्रमुख विनोद मोदी ने कहा कि मुख्य रूप से धातु और वाहन शेयरों में तेजी से घरेलू शेयर बाजार मजबूत हुआ। आरआईएल में जोरदार तेजी से बाजार को समर्थन मिला। वित्तीय और दैनिक उपयोग का सामान बनाने वाली कंपनियों (एफएमसीजी) को छोड़कर ज्यादातर प्रमुख सूचकांक लाभ में रहें। मझोली तथा छोटी कंपनियों के शेयरों में लिवाली बनी रही। वहीं बाजार में जोखिम के स्तर को बताने वाला ‘वोलाटिलिटी इंडेक्स’ (उतार-चढ़ाव सूचकांक) 2 प्रतिशत ऊपर चढ़ा है।उन्होंने कहा, ‘‘अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व की तरफ से फिलहाल उदार नीतिगत रुख बनाये रखने के बयान के बाद मुख्य रूप से विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) के निवेश में तेजी तथा घरेलू पूंजी प्रवाह जारी रहने से निफ्टी इस सप्ताह करीब 3.5 प्रतिशत मजबूत हुआ।’’ एशिया के अन्य बाजारों में शंघाई और हांगकांग नुकसान में रहे जबकि सियोल और टोक्यो में तेजी रही। यूरोप के प्रमुख बाजारों में दोपहर कारोबार में तेजी रही। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.51 प्रतिशत मजबूत होकर 73.40 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया।नेपालकेडोलखामें53तीव्रताकाभूकंपबिहारमेंभीमहसूसहुएझटकेUnion Budget 2018 Where to watch Live Budget: जानिए कहां, कब और कैसे देखें मोदी सरकार का आखिरी यूनियन बजट******एक फरवरी को का के बाद पहला और मौजूदा कार्यकाल का आखिरी पेश किया जाएगा। इस बार के से आम आदमी से लेकर, किसान, युवा, उद्यमी और महिलाओं को बड़ी उम्‍मीदें हैं। ऐसा हो भी क्‍यों न, 2019 में आम चुनाव जो होने हैं। इसलिए यह माना जा रहा है कि इस बार का बजट लोकलुभावन हो सकता है। इस बार का आम बजट कब, कहां और किसके द्वारा पेश किया जाएगा, इसके बारे में हम आपको यहां बता रहे हैं पूरी जानकारी। आम भारत के लोकतंत्र का एक अहम हिस्‍सा है। देश की जनता द्वारा चुनी गई सरकार हर साल देश के आय और व्‍यय का पूरा ब्‍यौरा देने के साथ ही नए वित्‍त वर्ष विकास की रूपरेखा पेश करती है। बजट देश के संविधान का एक अहम हिस्‍सा है।पढ़ें-2016 तक देश में फरवरी माह के आखिरी कार्यदिवस पर संसद में वित्‍त मंत्री द्वारा पेश किया जाता था। लेकिन ने इस परंपरा को तोड़ते हुए 2017 में पहली बार 1 फरवरी को पेश किया। 2018 में भी आम बजट 1 फरवरी को लोकसभा में वित्‍त मंत्री अरुण जेटली द्वारा पेश किया जाएगा।आप 2018 का लाइव टेलीकास्‍ट इंडिया टीवी और पर देख सकते हैं। गुरुवार को सुबह 11 बजे से इंडिया टीवी के यूट्यूब चैनल()पर भी वित्‍त मंत्री का बजट भाषण आप सुन सकते हैं।इसकेसाथ ही आपदूरदर्शनके यूट्यूब लाइवचैनल()पर भी सीधा प्रसारण देख सकते हैं।लोकसभा में वित्‍त मंत्री अरुण जेटली एक फरवरी यानि गुरुवार को सुबह 11 बजे अपना भाषण शुरू करेंगे। 2017 में भी अरुण जेटली ने एक फरवरी को ही पेश किया था, यह मोदी सरकार का चौथा बजट था।पढ़ें-ऐसी संभावना है कि वित्‍त मंत्री अरुण जेटली बजट 2018 को पिछले साल के समान समय पर ही पेश करेंगे। पिछले साल एक फरवरी को जेटली ने सही 11 बजे भाषण पढ़ना शुरू किया था। उस दिन बसंत पंचमी का दिन था।पिछले साल मोदी सरकार ने रेल बजट और आम का आपस में विलय कर एक इतिहास रचा था। दोनों बजट पहली बार एक ही दिन एक साथ पेश किए गए थे। इससे पहले तक रेल बजट और आम बजट के बीच एक दिन का फासला रहता था। रेल बजट रेल मंत्री द्वारा और आम बजट वित्‍त मंत्री द्वारा लोकसभा में पेश किया जाता था। इस बार वित्त मंत्री अरुण जेटली एक फरवरी को ही आम बजट के साथ रेल बजट भी पेश करेंगे।​​वर्ष 2018 के सत्र की शुरुआत 29 जनवरी से हो चुकी है और यह 6 अप्रैल तक चलेगा। बजट सत्र दो चरणों में पूरा होगा। वित्‍त वर्ष 2018-19 के लिए आम बजट 1 फरवरी को वित्‍त मंत्री अरुण जेटली द्वारा पेश किया जाएगा।बजट सत्र का पहला चरण 29 जनवरी से शुरू होकर 9 फरवरी तक चलेगा। बजट सत्र का दूसरा चरण 5 मार्च को शुरू होगा और यह 6 अप्रैल को समाप्‍त होगा।का नाम सुनते ही जहन में वित्‍त मंत्री का नाम आता है लेकिन वास्‍तव में बजट बनाने के लिए वित्‍त मंत्रालय सहित देश के अन्‍य विभागों के हजारों कर्मचारी और अधिकारी अहम भूमिका निभाते हैं। आम के लिए वित्‍त मंत्री की अध्‍यक्ष्‍यता वाली एक कोर टीम होती है, जो हर सूक्ष्‍म बिंदु पर सलाह देती है।1981 के गुजरात कैडर के आईएएस अधिकारी वित्त मंत्रालय के सबसे अनुभवी अधिकारी हैं। अधिया इस साल बजट टीम की अगुवाई कर रहे हैं।​ बजट से जुड़े मुख्‍य आर्थिक पहलुओं पर मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रह्मण्‍यन की नज़र है। पिछली बार के बजट में गरीबी हटाने के लिए यूनिवर्सल बेसिक इनकम का सुझाव सुब्रह्मण्‍यन ने ही दिया था। विश्‍व बैंक के कार्यकारी निदेशक के रूप में अपनी सेवाएं दे चुके गर्ग फिलहाल आर्थिक मामलों के विभाग के सचिव हैं। विकास, निजी निवेश, रोजगार के मौके पैदा करने में इन्‍हें महारथ हासिल है। झा वित्‍त मंत्रालय के सबसे महत्‍वपूर्ण विभाग यानि कि व्‍यय विभाग के सचिव हैं। वे 1982 बैच के मणिपुर कैडर के आईएएस अधिकारी हैं। वे इससे पहले वित्त आयोग के सचिव भी रह चुके हैं।गुप्ता 1981 बैच के आईएएस अधिकारी हैं। आगामी साल में बड़े खर्चों के लिए वित्‍त का इंतजाम करना इन्‍हीं की जिम्‍मेदारी है। कुमार 1984 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। इन पर बैंकों के साथ बीमा और पेंशन की स्थिति सुधारने का भी जिम्मा होगा। लघु और मध्यम वर्ग के कारोबार को ऋण दिलाने पर भी जोर होगा।वर्ष 2000 तक देश में आम बजट शाम पांच बजे पेश किया जाता था। इस परंपरा को 2001 में तत्‍कालीन वित्‍त मंत्री यशवंत सिन्‍हा ने खत्‍म किया था। शाम को बजट पेश करने के पीछे भी एक इतिहास और एक तात्‍कालीन जरूरत जुड़ी हुई थी। इस परंपरा के पन्‍ने भारतीय स्‍वतंत्रता से करीब 20 साल पुराने हैं। बात 1927 की है, उस समय अंग्रेज अधिकारी भी भारतीय संसदीय कार्यवाही में हिस्‍सा लेते थे।दरअसल जब भारत में शाम के 5 बजते थे तो उस समय लंदन में सुबह के 11.30 बज रहे होते थे। लंदन के हाउस ऑफ लॉर्ड्स और हाउस ऑफ कॉमंस में बैठे सांसद भारत का बजट भाषण सुनते थे। आजादी के बाद भी यह नियम जारी रहा। वहीं लंदन स्‍टॉक एक्‍सचेंज भी उसी समय खुलता था ऐसे में भारत में कारोबार करने वाली कंपनियों के हित इस बजट से तय होते थे।अरुण जेटली से पहले देश में कुल 26 वित्‍तमंत्रियों ने कार्यभार संभाला है, इनमें से 25 वित्‍त मंत्रियों ने संसद में आम पेश किया है। अगर बजट पेश करने की बात करें तो इसमें सबसे आगे पूर्व प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई का नाम आता है। मोरारजी देसाई द्वारा रिकार्ड 10 बार बजट प्रस्तुत किया गया।नेपालकेडोलखामें53तीव्रताकाभूकंपबिहारमेंभीमहसूसहुएझटकेपाकिस्तान को यूएई से मिली 20 करोड़ डॉलर की मदद, छोटे व्यवसायों को बढ़ाने व रोजगार सृजन में होंगे खर्च******पाकिस्तान को यूएई से मिली 20 करोड़ डॉलर की मदद संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने पाकिस्तान में छोटे एवं मझोले उद्यमों के विकास के लिए 20 करोड़ डॉलर की सहायता दी है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के वित्त सलाहकार ने यह जानकारी दी। अबू धाबी के शहजादे शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान के पाकिस्तान दौर के एक दिन बाद यह घोषणा की गई। प्रधानमंत्री के वित्त सलाहकार अब्दुल हफीज शेख ने गुरुवार को कहा, 'इस पूंजी का उपयोग छोटे व्यवसायों को बढ़ाने और रोजगार सृजन में किया जाएगा। यह सहायता दोनों देशों के बीच बढ़ती मैत्री और आर्थिक संबंधों का प्रमाण है।'पाकिस्तानी अखबार 'डॉन' की खबर के मुताबिक अल नाहयान ने उद्यम विकास खलीफा कोष (केएफईडी) से को 20 करोड़ डॉलर आवंटित करने का निर्देश दिया है। यह पाकिस्तान सरकार को स्थिर और संतुलित अर्थव्यवस्था बनाने में मदद करेगा। यात्रा के दौरान प्रिंस नाहयान ने प्रधानमंत्री इमरान खान से मुलाकात की और दोनों के बीच द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर बातचीत हुई।

नेपाल के डोलखा में 5.3 तीव्रता का भूकंप, बिहार में भी महसूस हुए झटके

नेपालकेडोलखामें53तीव्रताकाभूकंपबिहारमेंभीमहसूसहुएझटकेHariyali Teej: हरियाली तीज पर हेमा मालिनी ने किया शानदार नृत्य, देखकर हो जाएंगे दीवाने******हरियाली तीज 2019 पूरे देश में बड़े ही धूमधाम के साथ मनाई जा रही है। ऐसे में कृष्ण की सबसे बड़ी भक्त यानी बीजेपी सांसद और बॉलीवुड एक्ट्रेसभी पीछे नहीं रही हैं। हरियाली तीज की पूर्व संध्या में उन्होंने वृंदावन में डांस परफॉर्मेंस दी। जिसका वीडियो सोशल मीडिया में काफी वायरल हो रहा है।मथुरा की सांसद हेमा मालिनी से तीज के खास मौके पर ठाकुर राधारमण मंदिर में हुए झूलन महोत्व में दमदार नृत्य कर हर किसी को मोहित कर लिया। परफॉर्मेंस की शुरुआत उन्होंने गणेश वंदना से की और बाद में उन्होंने कान्हा के भक्तों के लिए उन्हीं भजन जैसे गीतों पर नृत्य किया।हेमामालिनी के नृत्य देखने के लिए हजारों की संख्या में फैंस इकट्ठे हो गए थे। आपको बता दें कि सावन माह में पड़ने वाली हरियाली तीज महिलाओं के लिए बहुत ही खास है। इस दिन महिलाएं पति की लंबी उम्र और खुशहाल वैवाहिक जीवन के लिए माता पार्वती और भगवान शिव की पूजा करती हैं।हेमा मालिनी को बॉलीवुड की ड्रीमगर्ल के नाम से जाना है। वह कई फेमस फिल्मों में नजर आ चुकी हैं।नेपालकेडोलखामें53तीव्रताकाभूकंपबिहारमेंभीमहसूसहुएझटकेBirthday Special: रणवीर सिंह कैसे बने 'बैंड बाजा बारात' के 'बिट्टू' से क्रूर 'खिलजी', देखें शानदार सफर******6 जुलाई 1985 में मुंबई में जन्में रणवीर सिंह इस साल अपना 39वां जन्मदिन मना रहे हैं। बॉलीवुड में खलबली मचाने वाले रणवीर सिंह अपने फैशन सेंस और जबरदस्त एक्टिंग के कारण हमेशा सुर्खियों में बने रहते हैं। अभिनेता ने जब फिल्म इंडस्ट्री में कदम रखा तो वह बिल्कुल एक आम लड़के की तरह थे। वहीं आज अपनी शानदार एक्टिंग से हर किसी का दिल आसानी से जीत लेते हैं। ने अभिनेत्री अनुष्का शर्मा के साथ बैंड बाजा बारात से अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत की और बिट्टू शर्मा के किरदार को लोगों के दिलों से जोड़ दिया। इस फिल्म के बाद रणवीर सिंह ने पीछे मुड़ कर नहीं देखा और पद्मावत, रामलीला जैसी शानदार फिल्में की। इसके साथ ही वह जल्द ही टीवी जगत में कदम रखने वाले हैं। एक्टर के जन्मदिन के खास मौके पर जानिए उनकी बेस्ट परफॉर्मेंस के बारे में।साल 2010 में रिलीज हुई ये फिल्म दर्शकों को काफी पसंद आई। इस फिल्म में रणवीर सिंह ने बिट्टू शर्मा नाम के लड़के का रोल निभाया, जो बेफिक्र रहता है। इस फिल्म में अभिनेता ने अपने शानदार एक्टिंग से आज भी लोगों के दिलों में यादगार है।संजय लीला भंसाली की साल 2013 में आई फिल्म रामलीला में दीपिका और रणवीर सिंह की जोड़ी से हर किसी को मोहित कर लिया था। रणवीर ने प्यार के जुनून को अपनी अदायगी से खूबसूरती से बिखेरा।साल 2015 में आई फिल्म बाजीराव मस्तानी में रणवीर सिंह ने अपने किरदार से फिल्म में एक जान सी फूंक दी थी। जहां एक दीपिका पादुकोण और प्रियंका चोपड़ा जैसे अभिनेत्रियां नजर आ रही हैं। तो वहीं दूसरी ओर रणवीर सिंह एक ऐसे किरदार में नजर आते हैं जो पत्नी के प्रति प्रेम दिखाना हो या फिर प्रेमिका। हर एक पहलू में खरे उतरे।साल 2018 में आई इस फिल्म में रणवीर सिंह ने अलाउद्दीन खिलजी के रोल में नजर आए थे। अपने चेहरे और शानदार एक्टिंग से फैंस को दीवाना कर दिया। संजय लीला भंसाली की फिल्म में जब रणवीर सिंह ने खिलजी के रूप में नजर आए तो उन्हें पहचानना काफी मुश्किल हुआ। इस फिल्म में रणवीर सिंह के किरदार को फैंस ही नहीं बल्कि आलोचकों ने भी प्रशंसा की थी।साल 2019 में आई इस फिल्म में रणवीर ने मुंबई की गलियों में छिपे एक टैलेंटेड लड़के का किरदार निभाया और एक बार फिर दर्शकों की वाहवाही बटोर ली। इसमें रणवीर और आलिया भट्ट की जोड़ी फैंस को बहुत पसंद आई। 'गली ब्वॉय' को बेस्ट इंटरनेशनल फिल्म कैटेगरी के लिए भारत की तरफ से ऑस्कर के लिए भी भेजा गया था।

नेपाल के डोलखा में 5.3 तीव्रता का भूकंप, बिहार में भी महसूस हुए झटके

नेपालकेडोलखामें53तीव्रताकाभूकंपबिहारमेंभीमहसूसहुएझटकेतुअर आयात के लाइसेंस की अवधि 31 दिसंबर तक बढ़ी, सप्लाई बढ़ाने के लिए फैसला******तुअर दाल के लिए आयात लाइसेंस की अवधि बढ़ीनई दिल्ली। दालों की कीमतों को नियंत्रण मे रखने के लिए केंद्र सरकार ने तुअर दाल के आयात के लाइसेंस की वैधता को 31 दिसंबर 2020 तक बढ़ाने का फैसला लिया है। विदेश व्यापार निदेशालय यानि डीजीएफटी ने आज कहा कि तुअर दाल के आयात के लिए लाइसेंस की वैधता 15 नवंबर से बढ़ाकर 31 दिसंबर की जा रही है, और तुअर के आयात पर आईसीएलसी (Irrevocable Commercial Letter of credit) की कट ऑफ डेट 31 दिसंबर होगी। डीजीएफटी के मुताबिक लाइसेंस पाने वाले आवेदक को सुनिश्चित करना होगा कि तुअर की आयात खेप 31 दिसंबर से पहले भारतीय बंदरगाहों पर पहुंच जाए। दरअसल बेमौसम हुई बारिश से दालों का उत्पादन घटने की आशंका की वजह से दालों की कीमतों में तेजी देखने को मिली है। देश के कई हिस्सों में तुअर दाल की कीमत 100 रुपये के स्तर के पार पहुंच चुकी है। साल 2015 में दालों की कीमतों में तेज उछाल देखने को मिला था और कीमतें 200 रुपये का स्तर पार पहुंच गई थीं। इस स्थिति से बचने के लिए सरकार ने पहले ही तय कर लिया था कि दालों की सप्लाई को बनाए रखने के लिए आयात बढ़ाया जाएगा। तुअर की नई फसल की आवक शुरू होने में अभी एक से डेढ़ महीने से ज्यादा का वक्त बाकी है। ऐसे में सरकार आयात के जरिए घरेलू बाजार में दाल की सप्लाई बढ़ाने का मन बना चुकी है। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी फसल वर्ष 2020-21 के पहले अग्रिम उत्पादन अनुमान में खरीफ सीजन में तुअर का उत्पादन 40.4 लाख टन होने का आकलन किया गया है जबकि पिछले साल तुअर का उत्पादन 38.3 लाख टन हुआ था। ऐसे में सरकार का मानना है कि दिसंबर के करीब सप्लाई की शुरुआत के साथ दालों की स्थिति में नरमी आ जाएगी।

नेपालकेडोलखामें53तीव्रताकाभूकंपबिहारमेंभीमहसूसहुएझटकेAaj Ka Panchang: शरद पूर्णिमा, जानें 31 अक्टूबर 2020 का पंचांग, राहुकाल और शुभ मुहूर्त******आश्विन शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि और शनिवार का दिन है। पूर्णिमा तिथि रात 8 बजकर 19 मिनट तक रहेगी। शनिवार को शरद पूर्णिमा है।त्रयोदशी तिथि दोपहर 3 बजकर 16 मिनट तक ही रहेगी उसके बाद चतुर्दशी तिथि लग जाएगी।आचार्य इंदु प्रकाश से जानिए आज केमें शुभ मुहूर्त, राहुकाल के साथ-साथ सूर्योदय, सूर्यास्त, चंद्रोदय, चंद्रास्त और व्रत-त्योहार के बारे में।पूरा दिन पूरी रात पार कर रविवार सुबह 4 बजकर 26 मिनट तकशाम 5 बजकर 58 मिनट तक सुबह 11 बजकर 48 मिनट से दोपहर 12 बजकर 32 मिनट तक। सुबह 9 बजकर 2 मिनट से 10 बजकर 50 मिनट तकनया बिजनेस शुरू करने के लिये अच्छा मुहूर्त शुरू हो चुका है ये मुहूर्त सुबह 7 बजकर 2 मिनट पर शुरू हुआ था और दोपहर 1 बजकर 57 मिनट तक रहेगा। और फिर आज ही दोपहर बाद 3 बजकर 24 मिनट से शाम 4 बजकर 49 मिनट तक रहेगा।रात 8 बजकर 19 मिनट पर अशुभ समय रहेगा। ध्यान रहे इस समय के 12 मिनट पहले और 12 मिनट बाद तक कोई भी शुभ कार्य नहीं करना चाहिए। .आश्विन शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि और शनिवार का दिन है। पूर्णिमा तिथि रात 8 बजकर 19 मिनट तक रहेगी। शरद पूर्णिमा है, जोकि शरद ऋतु के आने का संकेत है। आश्विन महीने की इस पूर्णिमा को 'कुमार पूर्णिमा' या 'रास पूर्णिमा' भी कहते हैं। इस दिन मां लक्ष्मी की पूजा अर्चना की जाती है। सुबह 6 बजकर 35 मिनट: शाम 5 बजकर 45मिनटशाम 5बजकर 52 मिनट सुबह 6 बजकर 55मिनटसुबह 09:19 से सुबह 10:42 तक सुबह 09:31 से सुबह 10:56 तक -सुबह 09:21 से सुबह 10:44 तकसुबह 09:03 तक सुबह 10:26 तक सुबह 09:14 से सुबह 10:39 तकसुबह 08:31 से सुबह 09:55 तक सुबह 09:34 से सुबह 10:58 तकसुबह 08:58 से सुबह 10:25 तकनेपालकेडोलखामें53तीव्रताकाभूकंपबिहारमेंभीमहसूसहुएझटकेगोल्डन स्टेट किलर के नाम से चर्चित पूर्व पुलिस अधिकारी ने दर्जनों बलात्कारों और 13 हत्याओं की बात कबूली****** अमेरिका में 'गोल्डन स्टेट किलर' के नाम से चर्चित पूर्व पुलिस अधिकारी जोसफ जेम्स डिएंजेलो जूनियर ने सोमवार को हत्याओं को अपना दोष स्वीकार किया। जोसफ ने 1970 के दशक में कुख्यात सेंधमार, बलात्कारी और एक दर्जन से अधिक लोगों के हत्यारे के तौर पर कैलिफॉर्निया में आतंक मचा रखा था। वह दशकों तक फरार रहा था। जोसफ (74) ने अमेरिकी अभियोजकों के साथ इकबालिया बयान के समझौते के तहत 13 लोगों की हत्या का जुर्म कबूल किया है।इस समझौते के तहत उसके मृत्युदंड को आजीवन कारावास में तब्दील किया जाएगा, लेकिन उसे पेरोल नहीं दी जाएगी। वह 2018 में अपनी गिरफ्तारी के बाद से ही अदालत में लगभग खामोश था। इस दौरान वह बार-बार ''दोषी'' और ''मैं स्वीकार करता हूं'' कहता रहा। वेंच्यूरा काउंटी के डिस्ट्रिक्ट अटॉर्नी ग्रेग टोटेन ने कहा कि उसने 161 अपराधों में संलिप्तता की बात स्वीकार की है। ()

नेपालकेडोलखामें53तीव्रताकाभूकंपबिहारमेंभीमहसूसहुएझटकेDelhi Air Pollution: दिल्ली की हवा आज भी है 'जहरीली', 21 नवंबर तक कंस्ट्रक्शन पर रोक******Highlights दिवाली बीते 14 दिन हो गए लेकिन की हवा आज भी बेहद खराब श्रेणी में है इसे लेकर सुप्रीम कोर्ट ने सख्त ऐतराज जताया है। दिल्ली की आज की वायु गुणवत्ता 362 दर्ज की गई है। ये बुधवार के 386 के मुकाबले 24 प्वाइंट कम है, लेकिन अब भी दिल्ली की हवा बेहद खराब श्रेणी में है, यानी सांस लेने के लिए अब भी खतरनाक। इसी तरह हल्की गिरावट गुरुग्राम के भी वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) में दर्ज की गई है, लेकिन 334 AQI के साथ ये भी बेहद खराब कैटेगरी में है। सबसे ज्यादा खराब हालत है नोएडा की, जहां आज सुबह AQI 454 दर्ज किया गया ये कैटेगरी बेहद गंभीर मानी जाती है। वहीं, सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद दिल्ली में 21 नवंबर तक निर्माण कार्य पर रोक लगा दी गई है और सरकारी दफ्तरों में 50% वर्क फ्रॉम होम कर दिया गया है।दिल्ली एनसीआर में जारी प्रदूषण की हालत पर ने केंद्र और राज्य सरकारों को जमकर फटकार लगाई। कोर्ट की फटकार के बाद दिल्ली की केजरीवाल सरकार कुछ हरकत में दिखी। प्रदूषण पर लगाम लगाने के कुछ और उपाय किए गए। दिल्ली में बीती रात से ही पुलिस गश्त लगाती दिखी। कोर्ट के आदेश के बाद दिल्ली में ट्रक और भारी वाहनों की एंट्री बंद कर दी गई है सिर्फ जरूरी सामान से लदी गाड़ियों को ही दिल्ली के अंदर आने की इजाजत दी जा रही है। उधर गाजियाबाद में भी फायर ब्रिगेड की टीम पानी का छिड़काव कर रही है तो नोएडा में एक स्मॉग टावर की शुरुआत की गई है। इन उपायों से प्रदूषण कितना कम होगा ये तो देखने वाली बात है। फिलहाल मौसम विभाग के मुताबिक दिल्ली में तेज हवा 21 नवंबर तक नहीं चलने वाली है, यानी तब तक खतरा बरकरार है।पॉल्यूशन पर केंद्र और राज्यों के रुख को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने अपनी चिंता तो जाहिर की है साथ ही केंद्र और राज्यों के रुख को लेकर नाराजगी भी जाहिर की। सुनवाई शुरु होते ही सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को जमकर फिर से फटकार लगाई। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि आप लोग मुद्दे को भटका रहे हैं, आपात संकट को सुलझाने के लिए केंद्र और राज्य सरकारों के बीच तालमेल की कमी नजर आ रही है। कोर्ट ने ये भी पूछा कि आखिर पाबंदी के बाद पटाखे क्यों जले। कोर्ट ने कहा कि सिर्फ बैठकों पर बैठकें हो रही हैं। कोर्ट ने यहां तक कह दिया कि नौकरशाह फैसला लेने से बच रहे हैं वो सिर्फ कोर्ट के आदेश का इंतजार करते नौकरशाही सुस्त है और सिर्फ हमारे फैसले पर दस्तखत करने का इंतजार कर रही है। नौकरशाह चाहते हैं कि कोर्ट उन्हें बताए कि आग कैसे बुझाएं, कैसे बाल्टी उठाएं। सुप्रीम कोर्ट ने आगे कहा है कि हम मौसम के सुधरने और धुएं के छंटने का इंतजार नहीं कर सकते। सुप्रीम कोर्ट अब इस मामले की अगली सुनवाई 24 नवंबर को करेगा।नेपालकेडोलखामें53तीव्रताकाभूकंपबिहारमेंभीमहसूसहुएझटकेकांग्रेस के राज्यसभा सदस्य दीपेन्द्र हुड्डा कोरोना वायरस से संक्रमित****** हरियाणा से कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य दीपेंद्र सिंह हुड्डा के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की रविवार को पुष्टि हुई। हरियाणा से एकमात्र विपक्षी सांसद हुड्डा फिलहाल दिल्ली में हैं। उन्होंने ट्वीट किया, 'मेरी कोविड- 19 की रिपोर्ट में संक्रमण की पुष्टि हुई है और चिकित्सकों की सलाह पर अन्य जांच की जा रही है।'हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के बेटे दीपेन्द्र ने अपने ट्वीट में कहा, 'आप सभी की प्रार्थनाओं की बदौलत मैं जल्द ठीक हो जाऊंगा।' हुड्डा ने उनके संपर्क में आए लोगों से कुछ दिन के लिए पृथक-वास में जाने और जांच कराने को कहा। गौरतलब है कि दीपेंद्र ने आगामी उपचुनाव के मद्देनजर हाल ही में सोनीपत जिले के बड़ौदा विधानसभा क्षेत्र का दौरा किया था। कांग्रेस विधायक श्री कृष्ण हुड्डा के अप्रैल में निधन के बाद रिक्त हुई सीट के लिए उपचुनाव होना है।गौरतलब है कि हरियाणा में कई बड़े नेता कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं जिनमें केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर (फरीदाबाद), संजय भाटिया (करनाल), बृजेन्द्र सिंह (हिसार) और नायब सिंह सैनी (कुरुक्षेत्र) शामिल हैं। इनके अलावा मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, उनके मंत्रिमंडलीय सहयोगी रंजीत सिंह चौटाला, जे पी दलाल, मूल चंद शर्मा और हरियाणा विधानसभा के अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता भी कोरोना वायरस के संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं।

नेपालकेडोलखामें53तीव्रताकाभूकंपबिहारमेंभीमहसूसहुएझटकेCyrus Mistry Accident: एक्सीडेंट से 5 सेकंड पहले ही लग गए थे साइरस मिस्त्री की कार के ब्रेक, मर्सिडीज ने दी अंतरिम रिपोर्ट******Highlightsलग्जरी कार कंपनी मर्सिडीज-बेंज ने उद्योगपति साइरस मिस्त्री की दुर्घटना के संबंध में अपनी अंतरिम रिपोर्ट पालघर पुलिस को सौंप दी है। मर्सिडीज-बेंज ने इस रिपोर्ट में कहा है कि सड़क पर डिवाइडर से टकराने से पांच सेकंड पहले गाड़ी के ब्रेक लगाए गए थे। एक वरिष्ठ अधिकारी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि कार का निरीक्षण करने के लिए मर्सिडीज-बेंज कंपनी के विशेषज्ञों का एक दल सोमवार को हांगकांग से मुंबई आएगा।पालघर के पुलिस अधीक्षक बालासाहेब पाटिल ने कहा, ‘‘मर्सिडीज-बेंज ने अपनी अंतरिम रिपोर्ट पुलिस को सौंप दी है। इसमें कहा गया है कि दुर्घटना से कुछ सेकंड पहले कार की गति 100 किमी प्रति घंटा थी, जबकि पुल पर डिवाइडर से टकराते वक्त कार की गति 89 किमी प्रति घंटा थी।’’ रिपोर्ट के अनुसार दुर्घटना से पांच सेकंड पहले कार के ब्रेक लगाए गए थे।पाटिल ने कहा कि क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय (आरटीओ) ने भी अपनी रिपोर्ट सौंप दी है, जिसमें उल्लेख किया गया है कि दुर्घटना के बाद कार में चार एयर बैग खुले थे उनमें से तीन ड्राइवर की सीट पर और एक बगल की सीट पर थे। उन्होंने कहा, "कार की जांच के लिए मर्सिडीज बेंज के विशेषज्ञों का एक दल 12 सितंबर को हांगकांग से मुंबई आ रहा है।" उन्होंने कहा कि उस समय तक कार को ठाणे के हीरानंदानी में मर्सिडीज शोरूम में रखा जाएगा और निरीक्षण के बाद कार कंपनी अपनी अंतिम रिपोर्ट देगी। उल्लेखनीय है कि मर्सिडीज-बेंज कंपनी ने दुर्घटनाग्रस्त कार का इलेक्ट्रॉनिक कंट्रोल मॉड्यूल (ईसीएम) विश्लेषण के लिए जर्मनी भेजा था ताकि दुर्घटना के संबंध में विशेष जानकारी प्राप्त की जा सके।महाराष्ट्र के पालघर में एक सड़क दुर्घटना में उद्योगपति साइरस मिस्त्री और एक अन्य व्यक्ति की मौत के सिलसिले में जिला प्रशासन ने राजमार्ग अधिकारियों को सड़क सुरक्षा ऑडिट करने के लिए कहा है। पालघर के जिलाधिकारी गोविंद बोडके ने इस ऑडिट की पुष्टि करते हुए बताया कि तकनीकी खामियों का पता लगाने और उन्हें कम करने के उपाय सुझाने के लिए 14 सितंबर को राजमार्ग अधिकारियों और पुलिस के संयुक्त दौरे की योजना बनाई गई है।नेपालकेडोलखामें53तीव्रताकाभूकंपबिहारमेंभीमहसूसहुएझटकेYe Public Hai Sab Jaanti Hai: Sagri से विधायक वंदना सिंह ने बदला पाला, खिला पाएंगी BJP का 'कमल'?******Highlights उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर सूबे में सियासी माहौल पूरे ऊफान पर है । अखिलेश के नेतृत्व वाली सपा इस बार प्रदेश की सत्तारूढ़ बीजेपी को कढ़ी टक्कर देने की कोशिश कर रही है । वहीं कांग्रेस और बसपा प्रदेश में अपनी जड़े मजबूत करने में लगे हुए हैं । उत्तर प्रदेश की जनता अच्छी तरह से जानती है कि वो इस बार यूपी की सत्ता में किसे बैठा देखना चाहती है । इस बीच सपा के गढ़ आजमगढ़ जिले की सगड़ी विधानसभा में चुनावी मौसम का हाल जानने के लिए इंडिया टीवी (India TV)' का खास कार्यक्रम 'ये पब्लिक है सब जानती है (Ye Public Hai Sab Jaanti Hai)' की टीम इलाके की जनता के बीच पहुंची. जहां स्थानीय लोगों ने चुनाव को लेकर अपने विचार हमारे साथ साझा किए.सगड़ी की जनता ने बताया कि वर्तमान योगी सरकार में इस विधानसभा क्षेत्र समेत पूरे सूबे में विकास कार्य हुआ है । यहां स्वास्थ्य, परिवहन, सड़क जैसे बुनियादी जरूरतों को बेहतर किया गया है । इसके अलावा पूरे यूपी में जहां पहले गुंडों का राज हुआ करता था । अब वहां पर कानून का राज चलता है । लेकिन इसके उल्ट एक युवक का कहना था कि इस सरकार में उन्हें रोजगार नहीं मिला है । लोगों ने वर्तमान सरकार पर आरोप लगाया कि उनके राज में किसानों पर अत्याचार हुआ है । वहीं कानून-व्यवस्था पहले के मुकाबले खराब हो गई है ।आजमगढ़ की सगड़ी विधानसभा सीट उत्तर प्रदेश की उन सीटों में शुमार हैं जहां आजतक भाजपा का खाता नहीं खुल पाया है । इस सीट पर तीन बार सपा तो चार बार बसपा ने कब्जा किया है । बता दें कि 2012 से पहले ये सीट सामान्य थी । लेकिन परिसीमन के बाद इस सीट को अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित कर दिया गया था । सगड़ी विधानसभा में मतदाताओं की संख्या 2 लाख 3 हजार 528 है । यहां पर हर जाति-वर्ग के लोग रहते हैं । यहां पर पिछड़ी जाति के मतदाता भी अच्छी खासी तादाद में हैं । इस बार सगड़ी की जनता 7 मार्च को वोटिंग का इस्तेमाल कर उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला करेगी ।2017 के विधानसभा चुनाव में वंदना सिंह ने बसपा की टिकट पर इस सीट से चुनाव लड़ा और विजयी रही । लेकिन इस बार चुनाव से पहले बसपा सुप्रीमो मायावती ने वंदना सिंह को पार्टी से निष्काशित कर दिया था । उनपर पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप लगा था । जिसके चलते उन्हें पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया । अब वंदना सिंह भाजपा में शामिल हो चुकी है ।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-07 14:58
उद्धरण 1 इमारत
हिमाचल में धूमल की हार के बाद इनकी खुलेगी लॉटरी, CM पद के लिए उछला नाम****** हिमाचल प्रदेश में सुजानपुर सीट से भाजपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार की स्तब्धकारी हार के बाद मुख्यमंत्री पद के लिए होड़ शुरु हो गयी है तथा केंद्रीय मंत्री जगत प्रकाश नड्डा एवं पांचवीं बार विधायक बने जयराम ठाकुर प्रबल दावेदार के रुप में उभरे हैं।भाजपा विधायक दल के नए नेता की खोज चल रही है और हिमाचल प्रदेश के पार्टी विषयक प्रभारी के आज शाम तक यहां पहुंच जाने की उम्मीद है। वैसे पार्टी विधायक दल की अभी तक बैठक नहीं बुलाई गई है लेकिन पार्टी आलाकमान ने केंद्रीय मंत्री एवं नरेंद्र तोमर को विधायक दल के नेता के चुनाव के लिए केंद्रीय पर्यवेक्षक नियुक्त किया है।वैसे भाजपा ने किसी भी नेता को मुख्यमंत्री के तौर पर पेश नहीं करने का फैसला किया था, ऐसे में यह धारणा बनी थी कि नड्डा को यह शीर्ष पद मिलेगा। लेकिन नौ नवंबर के मतदान से महज नौ दिन पहले धूमल के नाम की घोषणा कर दी गई।इस कदम का प्रत्याशित परिणाम नहीं आया तथा न केवल धूमल अपना चुनाव हार गए बल्कि गुलाब सिंह, रवींद्र सिंह रवि, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती, रणधीर शर्मा, के एल ठाकुर और विजय अग्निहोत्री जैसे उनके कट्टर समर्थक भी पराजित हो गये।एक वरिष्ठ पार्टी नेता ने कहा, ‘‘इस पद के लिए कई वरिष्ठ एवं अनुभवी नेता नहीं हैं लेकिन इससे कोई फर्क नहीं पड़ता क्योंकि नेता का फैसला आलाकमान करेगा एवं पर्यवेक्षक को तद्दनुसार ब्रीफ किया जाए।’’ धरमपुर से सातवीं बार चुनाव जीते मोहिंदर सिंह, पांचवीं बार के विधायक राजीव बिंदल, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुरेश भारद्वाज और कृष्ण कपूर के नामों भी चर्चा है। भारद्वाज और कपूर चौथी बार विधायक निर्वाचित हुए हैं।एक धड़ा अब भी धूमल की गहरी पैरोकारी कर रहा है। उसका दावा है कि चुनाव उनके नेतृत्व में लड़ा गया था। कुतलेहर से भाजपा विधायक वरिंदर कंवर पहले ही धूमल के लिए सीट खाली करने की पेशकश कर चुके हैं। लेकिन पराजित नेता को मुख्यमंत्री चुनने की संभावना बहुत कम है।
2022-10-07 14:11
उद्धरण 2 इमारत
बजट 2020: 'इकोनोमिक ग्रोथ 10 फीसदी होने का अनुमान'******बजट 2020 LIVE: 'इकोनोमिक ग्रोथ 10 फीसदी होने का अनुमान'देश की पहली महिला वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आज अपना दूसरा बजट पेश कर दिया है। बजट में कृषि और शिक्षा क्षेत्र के लिए बड़ी घोषणाएं की गई हैं। बजट में वित्त मंत्री ने शिक्षा के ​क्षेत्र के लिए करीब 1 लाख करोड़ की घोषणाएं कीं।बजट में वित्त मंत्री आयकर को लेकर भी बड़े बदलाव की घोषणा की हैं। देश में पहली बार वैकल्पिक टैक्स सिस्टम पेश किया गया है। यहां 5 लाख तक की आमदनी को टैक्स से पूरी तरह छूट दे दी गई है, इसके अलावा अन्य स्लैब में भी बदलाव किए गए हैं। लेकिन इन टैक्स छूट को पाने के लिए आपको अन्य छूटों को छोड़ना होगा।
2022-10-07 12:32
उद्धरण 3 इमारत
WhatsApp पेमेंट पर हर यूजर को वापस मिल सकते हैं 35 रुपये, ऐसे उठाएं स्कीम का फायदा******WhatsAppHighlightsइंस्टेंट मैसेजिंग ऐप व्हाट्सएप तो लगभग सभी स्मार्टफोन में मिल जाएगा। मेटा के स्वामित्व वाले व्हाट्सएप ने कुछ समय पहले ही पेमेंट विकल्प रोलआउट किया है। हालाँकि, 2 अरब यूजर्स के फोन में होने के बावजूद व्हाट्सएप के पेमेंट विकल्प को ज्यादा सफलता नहीं मिल सकी है।इसे ही ध्यान में रखते हुए व्हाट्सएप ने अब पेमेंट के बदले कैशबैक देने का फैसला किया है। खास बात यह है कि आप 1 रुपये भेजकर भी 35 रुपये के कैशबैक का लाभ उठा सकेंगे। यह सुविधा व्हाट्सएप के जरिए शुरुआती पेमेंट पर ही मिल रही है। यूजर्स इस कैशबैक रिवॉर्ड को तीन अलग-अलग कॉन्टैक्ट्स को पैसे भेजकर तीन गुना तक रिडीम कर सकते हैं।व्हाट्सएप कैशबैक का उपयोग करने के लिए, यूजर्स को कुछ पात्रता मानदंडों को पूरा करना होगा और यह ऑफर अलग-अलग यूजर्स के लिए अलग-अलग समय पर उपलब्ध होगा। एक बार कैशबैक आपके लिए उपलब्ध हो जाने के बाद, यह सीमित समय के लिए ही होगा। एक बार जब यह सुविधा आपके लिए उपलब्ध हो जाती है, तो आप किसी भी व्हाट्सएप संपर्क को पैसे भेज सकते हैं और सफल लेनदेन के लिए 35 रुपये कैशबैक के रूप में प्राप्त कर सकते हैं।कैशबैक का लाभ उठाने के लिए यूजर्स अपने कॉन्टैक्ट्स को कितनी भी रकम भेज सकते हैं। इसके लिए कोई न्यूनतम राशि नहीं है, और उपयोगकर्ता तीन अलग-अलग संपर्कों को पैसे भेजकर अधिकतम 35 रुपये का कैशबैक प्राप्त कर सकते हैं। यह ध्यान देने की आवश्यकता है कि यूजर्स को प्रत्येक संपर्क के लिए केवल एक कैशबैक इनाम मिलेगा, जिसे वे पैसे भेजने के लिए चुनते हैं।
वापसी