नई पोस्ट करें

तंबाकू उत्पादों पर 85% चेतावनी संबंधी नियम वापस लेने की मांग, इंडस्ट्री को 350 करोड़ रुपए रोजाना नुकसान

2022-10-07 12:12:41 475

तंबाकूउत्पादोंपर85चेतावनीसंबंधीनियमवापसलेनेकीमांगइंडस्ट्रीको350करोड़रुपएरोजानानुकसानबिहार की पार्टियों को दिल्ली ने नकारा! बहुत बड़े अंतर से हारे नीतीश, लालू और पासवान के उम्मीदवार****** दिल्ली चुनाव परिणाम से लगभग पूरी तरह पर्दा हट चुका है। सूबे में एकबार फिर से अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी सरकार बनाने जा रही है। राजधानी दिल्ली में बड़ी संख्या में पूर्वांचल के लोग रहते हैं, जिन्हें रिझाने के लिए भाजपा और कांग्रेस दोनों ने ही बिहार की पार्टियों से गठबंधन किया था, लेकिन बिहार की तीनों बड़ी पार्टियां (JD(U), RJD और LJP) इस चुनाव में AAP की आंधी में कहीं ठहरती नहीं दिखाई दीं।दिल्ली चुनाव में जहां भारतीय जनता पार्टी से हुए पैक्ट के तहत नीतीश कुमार की पार्टी JD(U) दो सीटों और रामविलास पासवान LJP एक सीट पर चुनाव लड़ी, वहीं लालू यादव की पार्टी RJD कांग्रेस के साथ गठबंधन के तहत चार सीटों पर चुनाव लड़ी। इन सभी सीटों पर तीनों पार्टियों का प्रदर्शन बेहद निराशाजनक रहा। दिल्ली चुनाव में JD(U) बुराड़ी और संगम विहार सीट पर चुनाव लड़ी थी तो एलजेपी ने सीमापुरी सीट पर ताल ठोकी थी। कांग्रेस की सहयोगी राजद ने पालम, किरारी, बुराड़ी और उतम नगर सीट पर चुनाव लड़ा था।AAP - संजीव झा - 1,38,417 (विजेता) - प्रमोद त्यागी- 2256- शैलेंद कुमार- 50,593इस सीट पर खबर लिखे जाने तक गिनती जारी थी। AAP के संजीव झा पिछले चुनाव में 67950 से जीते थे। बुराड़ी सीट पर भाजपा प्रत्याशी न होने का असर इस बार साफ दिखाई दिया। संजीव जा ने यहां 87,824 वोटों से बढ़त बनाई हुआ है। गौर करने वाली बात यह रही कि यहां लालू यादव की पार्टी के प्रत्याशी को जनता ने 2500 से भी कम वोट दिए।AAP- रितुराज झा- 86,312 (विजेता)BJP- अनिल झा- 80,658किराड़ी विधानसभा सीट पर RJD का प्रत्याशी था, जिसे जनता ने पूरी तरह नकार दिया। हालांकि इस सीट पर भाजपा और आप में कड़ी टक्कर देखने को मिली और अंत में रितुराज झा 5 हजार वोटों से जीत गए।AAP- दिनेश मोहनिया- 75,345 (विजेता)- शिव चरण गुप्ता- 32,823Congress- पूनम आजाद- 2604संगम विहार में JDU दूसरे नंबर पर रही। यहां शुरू से ही AAP ने बढ़त बना ली और अंत में 75 हजार 345 वोट लेकर दिनेश मोहनिया एकबार फिर विधायक चुने गए।AAP- नरेश बाल्यान- 96,320 (विजेता)BJP- कृष्ण गहलोत- 77,797 शक्ति कुमार विश्वोई- 364उत्तम नगर सीट पर AAP ने जीत दर्ज की। यहां भाजपा प्रत्याशी को भी अच्छे खासे वोट मिले। लेकिन RJD को जनता ने 500 वोट भी नहीं दिए। इस सीट पर खबर लिखे जाने तक गिनती जारी थी।AAP- भावना गौड़- 92,412 (विजेता)BJP- विजय पंडित- 59,565 - निर्मल कुमार सिंह- 547इस सीट पर भी खबर लिखे जाने तक गिनती जारी थी। यहां भाजपा प्रत्याशी को भी 60 हजार वोट मिले। लेकिन RJD के निर्मल कुमार सिंह एक हजार वोटों का आंकड़ा भी पार नहीं कर सके।AAP- राजेंद्र गौतम- 88080 (विजेता)Congress- वीर सिंह - 7568- संत लाल- 32,284दिल्ली की सीमापुरी (सुरक्षित सीट) पर भाजपा की सहयोगी एलजेपी दूसरे नंबर पर रही। यहां LJP के संतलाल 56,108 वोटों से चुनाव हार गए।

तंबाकूउत्पादोंपर85चेतावनीसंबंधीनियमवापसलेनेकीमांगइंडस्ट्रीको350करोड़रुपएरोजानानुकसानबिहार की पार्टियों को दिल्ली ने नकारा! बहुत बड़े अंतर से हारे नीतीश, लालू और पासवान के उम्मीदवार****** दिल्ली चुनाव परिणाम से लगभग पूरी तरह पर्दा हट चुका है। सूबे में एकबार फिर से अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी सरकार बनाने जा रही है। राजधानी दिल्ली में बड़ी संख्या में पूर्वांचल के लोग रहते हैं, जिन्हें रिझाने के लिए भाजपा और कांग्रेस दोनों ने ही बिहार की पार्टियों से गठबंधन किया था, लेकिन बिहार की तीनों बड़ी पार्टियां (JD(U), RJD और LJP) इस चुनाव में AAP की आंधी में कहीं ठहरती नहीं दिखाई दीं।दिल्ली चुनाव में जहां भारतीय जनता पार्टी से हुए पैक्ट के तहत नीतीश कुमार की पार्टी JD(U) दो सीटों और रामविलास पासवान LJP एक सीट पर चुनाव लड़ी, वहीं लालू यादव की पार्टी RJD कांग्रेस के साथ गठबंधन के तहत चार सीटों पर चुनाव लड़ी। इन सभी सीटों पर तीनों पार्टियों का प्रदर्शन बेहद निराशाजनक रहा। दिल्ली चुनाव में JD(U) बुराड़ी और संगम विहार सीट पर चुनाव लड़ी थी तो एलजेपी ने सीमापुरी सीट पर ताल ठोकी थी। कांग्रेस की सहयोगी राजद ने पालम, किरारी, बुराड़ी और उतम नगर सीट पर चुनाव लड़ा था।AAP - संजीव झा - 1,38,417 (विजेता) - प्रमोद त्यागी- 2256- शैलेंद कुमार- 50,593इस सीट पर खबर लिखे जाने तक गिनती जारी थी। AAP के संजीव झा पिछले चुनाव में 67950 से जीते थे। बुराड़ी सीट पर भाजपा प्रत्याशी न होने का असर इस बार साफ दिखाई दिया। संजीव जा ने यहां 87,824 वोटों से बढ़त बनाई हुआ है। गौर करने वाली बात यह रही कि यहां लालू यादव की पार्टी के प्रत्याशी को जनता ने 2500 से भी कम वोट दिए।AAP- रितुराज झा- 86,312 (विजेता)BJP- अनिल झा- 80,658किराड़ी विधानसभा सीट पर RJD का प्रत्याशी था, जिसे जनता ने पूरी तरह नकार दिया। हालांकि इस सीट पर भाजपा और आप में कड़ी टक्कर देखने को मिली और अंत में रितुराज झा 5 हजार वोटों से जीत गए।AAP- दिनेश मोहनिया- 75,345 (विजेता)- शिव चरण गुप्ता- 32,823Congress- पूनम आजाद- 2604संगम विहार में JDU दूसरे नंबर पर रही। यहां शुरू से ही AAP ने बढ़त बना ली और अंत में 75 हजार 345 वोट लेकर दिनेश मोहनिया एकबार फिर विधायक चुने गए।AAP- नरेश बाल्यान- 96,320 (विजेता)BJP- कृष्ण गहलोत- 77,797 शक्ति कुमार विश्वोई- 364उत्तम नगर सीट पर AAP ने जीत दर्ज की। यहां भाजपा प्रत्याशी को भी अच्छे खासे वोट मिले। लेकिन RJD को जनता ने 500 वोट भी नहीं दिए। इस सीट पर खबर लिखे जाने तक गिनती जारी थी।AAP- भावना गौड़- 92,412 (विजेता)BJP- विजय पंडित- 59,565 - निर्मल कुमार सिंह- 547इस सीट पर भी खबर लिखे जाने तक गिनती जारी थी। यहां भाजपा प्रत्याशी को भी 60 हजार वोट मिले। लेकिन RJD के निर्मल कुमार सिंह एक हजार वोटों का आंकड़ा भी पार नहीं कर सके।AAP- राजेंद्र गौतम- 88080 (विजेता)Congress- वीर सिंह - 7568- संत लाल- 32,284दिल्ली की सीमापुरी (सुरक्षित सीट) पर भाजपा की सहयोगी एलजेपी दूसरे नंबर पर रही। यहां LJP के संतलाल 56,108 वोटों से चुनाव हार गए।तंबाकूउत्पादोंपर85चेतावनीसंबंधीनियमवापसलेनेकीमांगइंडस्ट्रीको350करोड़रुपएरोजानानुकसानMake in India का जोर, Apple ने शुरु किया iPhone 14 का भारत में निर्माण******Highlightsपर भारत के जोर को देखते हुए एप्पल ने सोमवार को पुष्टि की है कि उसने भारत में नए आईफोन 14 का उत्पादन शुरू कर दिया है, जो Apple के लिए पहली बार है क्योंकि यह चीन के साथ-साथ भारत में नए के निर्माण की अवधि को कम करता है, जो इसका प्रमुख वैश्विक मैन्युफैक्चरिंग केंद्र है।भारत में असेंबल किए गए आईफोन 14 की चौथी तिमाही में देश में बिक्री शुरू हो जाएगी, क्योंकि कंपनी अरबों डॉलर खर्च करके अपनी स्थानीय विनिर्माण/संयोजन योजनाओं को मजबूत कर रही है।एप्पल ने एक बयान में बताया कि नया आईफोन 14 लाइनअप नई प्रौद्योगिकियों और महत्वपूर्ण सुरक्षा क्षमताओं को पेश करता है। हम भारत में आईफोन 14 का निर्माण करने के लिए उत्साहित हैं।फॉक्सकॉन नए आईफोन 14 को चेन्नई के पास अपनी श्रीपेरंबुदूर सुविधा में असेंबल कर रही है। इस गति से उद्योग विश्लेषकों का अनुमान है कि अगले साल एप्पल भारत में उसी समय चीन में आईफोन 15 का निर्माण कर सकता है। सबसे पहले 2017 में आईफोन एसई के साथ भारत में आईफोन का निर्माण शुरू किया था।एप्पल देश में अपने कुछ सबसे उन्नत आईफोन्स का निर्माण करता है, जिनमें आईफोन 11, आईफोन 12 और आईफोन 13 शामिल हैं, फॉक्सकॉन सुविधा में जबकि आईफोन एसई और आईफोन 12 देश में विस्ट्रोन फैक्ट्री में असेंबल्ड किए जा रहे हैं। जेपी मॉर्गन के एक विश्लेषण के अनुसार, भारत में प्रौद्योगिकी उत्पादों के स्थानीय विनिर्माण पर दोगुना होने के कारण एप्पल इस साल के अंत तक अपने नए आईफोन 14 उत्पादन का 5 प्रतिशत और 2025 तक 25 प्रतिशत भारत में स्थानांतरित करने की संभावना है।रिपोर्ट में कहा गया है, "बहुत कम अंतराल भारत के उत्पादन के बढ़ते महत्व और भविष्य में भारत के विनिर्माण के लिए उच्च आईफोन आवंटन की संभावना का संकेत देता है।" व्यवसाय करने में आसानी और अनुकूल स्थानीय विनिर्माण नीतियों से उत्साहित एप्पल के 'मेक इन इंडिया' आईफोन संभावित रूप से इस वर्ष देश के लिए अपने कुल आईफोन उत्पादन का लगभग 85 प्रतिशत हिस्सा होंगे।सीएमआर के अनुसार, आईफोन 14 सीरीज के साथ भारत में एप्पल का आईफोन उत्पादन 2021 में 7 मिलियन आईफोन से बढ़कर 2022 में लगभग 12 मिलियन आईफोन के एक नए मील के पत्थर को छूने के लिए 71 प्रतिशत से अधिक (वर्ष-दर-वर्ष) की महत्वपूर्ण वृद्धि हासिल करने जा रही है।

तंबाकू उत्पादों पर 85% चेतावनी संबंधी नियम वापस लेने की मांग, इंडस्ट्री को 350 करोड़ रुपए रोजाना नुकसान

तंबाकूउत्पादोंपर85चेतावनीसंबंधीनियमवापसलेनेकीमांगइंडस्ट्रीको350करोड़रुपएरोजानानुकसानलॉकडाउन से सरकारी बैंकों के एनपीए में 2 से 4 % तक बढ़त संभव : BofA******Lockdown Impactनई दिल्ली। कोविड-19 महामारी के प्रभाव के चलते सरकारी बैंकों की NPA में दो से चार प्रतिशत तक की वृद्धि हो सकती है। यदि ऐसा होता है तो इससे सरकार पर 2020- 21 में बैंकों में 1.14 लाख रुपये की पुनर्पूंजीकरण का दबाव बढ़ सकता है। एक विदेशी ब्रोकरेज कंपनी ने मंगलवार को यह बात कही।बैंक आफ अमेरिका के विश्लेषकों का मानना है कि प्रोत्साहन उपायों में होने वाले खर्च, निम्न कर प्राप्ति और विनिवेश प्राप्ति में भारी कमी के चलते सरकार का एकीकृत राजकोषीय घाटे का लक्ष्य दो प्रतिशत तक बढ़ सकता है। ऐसे में सरकार को बैंकों में और पूंजी डालने के लिये संसाधन जुटाने के वास्ते नये तरीके तलाशने होंगे। सरकार इसके लिये पुनर्पूंजीकरण बॉंड जारी कर सकती है या फिर इसके लिये रिजर्व बैंक के 127 अरब डालर के रिजर्व का सहारा लिया जा सकता है। सरकारी बैंकों को जरूरी पूंजी उपलब्ध कराने में रिजर्व बैंक के इस आरक्षित कोष में भी कमी आ सकती है। विश्लेषकों के बीच इस बात को लेकर करीब करीब आम सहमति है कि कोरोना वायरस महामारी के चलते बैंकों की सकल गैर-निष्पादित राशि में वृद्धि होगी। ब्रोकरेज कंपनी ने कहा है कि एनपीए में दो से चार प्रतिशत की वृद्धि से सरकार को बैंकों के पूंजी आधार को मजबूत बनाने के लिये सात से 15 अरब डालर की आवश्यकता होगी। यानी करीब 525 अरब रुपये से लेकर 1,125 अरब रुपये तक की जरूरत होगी। ब्रोकरेज कंपनी ने कहा है कि पुनर्पूंजीकरण बांड हालांकि, इसका विकल्प हो सकता है। पहले भी इस साधन का इस्तेमाल किया जा चुका है और बैंकों को इसका लाभ मिला है।तंबाकूउत्पादोंपर85चेतावनीसंबंधीनियमवापसलेनेकीमांगइंडस्ट्रीको350करोड़रुपएरोजानानुकसान15 मई की सुबह खुलेंगे बद्रीनाथ मंदिर के कपाट, तैयारियां हुईं पूरी******: उत्तराखंड में स्थित के कपाट 15 मई कोखुलेंगे। इसके लिए पूरी तैयार हो गई है।भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के अधिकारियों ने कहा कि कपाट संभवत: शुक्रवार तड़के 4.30 बजे खोले जाएंगे।पहले दिन मंदिर में दर्शन-पूजन करने वाली प्रमुख हस्तियों में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और राज्यपाल बेबी रानी मौर्य शामिल होंगे।पिछले साल कपाट खुलने के बाद पहले दिल लगभग 10,000 श्रद्धालुओं ने मंदिर के दर्शन किए थे। गुरुवार को मंदिर और आसपास के इलाके को कई कुंटल फूलों से सजाया गया।उत्तराखंड के संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने देहरादून मेंबताया कि टिहरी के महाराजा ने देश के मौजूदा स्थिति को ध्यान में रखते हुए दोनों ही तीर्थ स्थानों को खोले जाने के निर्णय की सूचना उनको दी है।इससे पहले केदारनाथ मंदिर के कपाट खोले जा चुके हैं। केदारनाथ यात्रा के इतिहास में यह पहला मौका है जब मंदिर के कपाट खुलने के अवसर पर मंदिर परिसर पूरी तरह खाली रहा। कोरोना से बचाव के मद्देनजर यात्राओं की अनुमति नहीं है। अभी केवल कपाट खोले जा रहे हैं ताकि धामों में पूजा अर्चना शुरू सके।गौरतलब है कि केदारनाथ जी के गद्दी स्थल ओम्कारेश्वर मंदिर, ऊखीमठ में केदारनाथ के रावल भीमाशंकर शिवलिंग, स्थानीय दस्तूरदार और वेदपाठी गणों की मौजूदगी में पंचांग गणना के अनुसार मंदिर के कपाट खोले जाने की परंपरा रही है।देवभूमि उत्तराखंड में स्थित केदानाथ और बद्रीनाथ धाम लोगों की प्रमुख आस्था का केंद्र है। वहीं हिमालय पर्वत की गोद में स्थित केदारनाथ मंदिर 12 ज्योतिर्लिगों में सम्मिलित होने के साथ चार धाम और पंच केदार में से भी एक है। वही अलकनंदा नदी के बाएं तट पर नर और नारायण नामक दो पर्वतों के बीच स्थित बद्रीनाथ धाम भी अपनी अनोखी छटा के लिए काफी प्रसिद्ध है।तंबाकूउत्पादोंपर85चेतावनीसंबंधीनियमवापसलेनेकीमांगइंडस्ट्रीको350करोड़रुपएरोजानानुकसानDelhi Triple Suicide: घर पैक किया, अंगीठी जलाई और खोल दी गैस... सामने आया मां-बेटियों का खौफनाक प्लान******Highlights दिल्ली वसंत विहार इलाके में शनिवार को एक महिला और उसकी दो बेटियां अपने घर में मृत पाई गईं। एक पुलिस अधिकारी ने जानकारी दी कि घर से एक सुसाइड नोट बरामद किया गया है। मृतकों की पहचान मंजू (मां) और उनकी दो बेटियों अंशिका और अंकू के रूप में हुई है। इस ट्रिपल सुसाइड केस में अब बड़ा खुलासा हुआ है। दिल्ली के गैस चेम्बर फ्लैट नंबर 207 में आत्महत्या के लिए मां और दो बेटियों ने एक बेहद खौफनाक प्लान बनाया था।सुसाइड के लिए मां और बेटियों ने पूरे घर के अंदर के सारे रोशनदानों को पॉलीथीन से पैक किया था। घर की सभी खिड़कियों को पॉलीथीन से ढक दिया था, घर के बाहर के रोशनदान, वेंटिलेशन वाली खिड़की को भी पैक कर दिया गया था। इसके बाद उन सभी ने घर के अंदर की ऑक्सीजन को खत्म करने के लिए अंगीठी जलाई। इतना ही नहीं इसके बाद मां और बेटियों ने घर का गैस सिलेंडर खोल दिया। घर को प्लान के तहत मां और दो बेटियों ने गैस चेंबर बनाकर सुसाइड किया।घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और फ्लैट नंबर 207 के अंदर दाखिल हुई तो एक नोट मिला। इस नोट में लिखा था, "Too much deadly gas (बहुत सारी जहरीली गैस), दरवाजा खोलने के बाद माचिस या लाइटर न जलाएं, घर में काफी खतरनाक जहरीली गैस भरी हुई है।" दरअसल, ये नोट इसलिए लिखा गया था कि मौत के बाद जब पुलिस अंदर दाखिल हो तब घर में फैली गैस की वजह से कोई हादसा न हो। डीसीपी ने कहा, "पुलिस ने दरवाजा खोलने में कामयाबी हासिल की और पाया कि एक गैस सिलेंडर आंशिक रूप से खुला था और एक सुसाइड नोट भी था।" पुलिस ने जब घर की तलाशी ली तो एक कमरे में बिस्तर पर तीन लाशें पड़ी मिलीं और वहां तीन छोटी मोमबत्तियां रखी हुई थीं।

तंबाकू उत्पादों पर 85% चेतावनी संबंधी नियम वापस लेने की मांग, इंडस्ट्री को 350 करोड़ रुपए रोजाना नुकसान

तंबाकूउत्पादोंपर85चेतावनीसंबंधीनियमवापसलेनेकीमांगइंडस्ट्रीको350करोड़रुपएरोजानानुकसानबच्‍चों ने की साइकिल उपयोग को बढ़ावा देने और पटाखों पर अंकुश लगाने की मांग, सेसमे वर्कशॉप इंडिया ने उपलब्‍ध कराया प्‍लेटफॉर्म****** प्रदूषण के स्तर को कम करने के लिए बच्चों ने साइकिल के उपयोग को बढ़ावा देने, कचरा जलाने या पटाखों पर अंकुश लगाने की मांग की है। यह मांग सेसमे वर्कशॉप इंडिया ट्रस्‍ट और क्‍लीन एयर फंड द्वारा संयुक्‍त रूप से किए गए एक सर्वेक्षण में बच्‍चों ने की है। बच्‍चों के शारीरिक एवं मानसिक विकास पर प्रदूषण के प्रभाव को जानने के लिए सेसमे वर्कशॉप इंडिया ट्रस्‍ट ने मेरा प्‍लैनेट मेरा घर नामक पहल के तहत दिल्‍ली के 28 इलाकों में कमजोर आय वर्ग के 10,000 बच्‍चों के बीच यह सर्वेक्षण किया था।बच्चों पर प्रदूषण के व्यापक प्रभाव को दूर करने के लिए, सेसमे वर्कशॉप इंडिया ने एक्शन इंडिया, चाइल्ड सर्वाइवल इंडिया और चिंतन एनवायर्नमेंटल रिसर्च एंड एक्शन ग्रुप जैसे गैर-लाभकारी संगठनों के साथ भागीदारी की, जिन्होंने दिल्ली में कम संसाधन वाले समुदायों के लगभग 10,000 बच्चों से प्रतिक्रियाओं को जानने में उनकी मदद की। चिंतन के विशेषज्ञों ने बच्चों की उम्र के अनुसार बच्चों के अनुकूल दृश्यों के साथ सर्वेक्षण को डिजाइन करने में भी मदद की ताकि बच्चे आसानी से सर्वेक्षण में जवाब दे सकें।चाइल्ड सर्वाइवल इंडिया की मुख्‍य कार्यकारी दीपा बजाज ने कहा कि हम आम तौर पर समझते हैं कि छोटे बच्चे पर्यावरण और वायु प्रदूषण जैसे गंभीर मुद्दों के प्रति समझ नहीं रखते होंगे, लेकिन इस सर्वेक्षण ने हमारी आंखें खोल दी क्योंकि बच्चे कचरा जलाने, आसपास के कारखानों से प्रदूषण और वाहनों के आवागमन जैसी चीजों के बारे में बात कर पा रहे थे। महामारी के बीच बच्चों की प्रतिक्रियाओं को रिकॉर्ड करना चुनौतीपूर्ण था लेकिन बच्चे अपनी चिंताओं को साझा करने के लिए रोमांचित और उत्साहित थे और हमें खुशी है कि हम उनकी आवाज को सेसमे वर्कशॉप इंडिया तक पहुंचाने में मदद कर पाए हैं जो बच्चों के स्वास्थ्य और कल्याण पर प्रदूषण के प्रभाव को संबोधित कर रहा है।सेसमे वर्कशॉप इंडिया ट्रस्ट की मैनेजिंग ट्रस्टी, सोनाली खान ने कहा कि स्वच्छ हवा, पीने योग्य पानी, स्वास्थ्य और शिक्षा तक पहुंच की कमी निम्न सामाजिक-आर्थिक पृष्ठभूमि के बच्चों को कहीं अधिक गंभीर रूप से प्रभावित करती है। इसलिए, बच्चों के स्वास्थ्य और बढ़ते विकास के लिए, सेसमे वर्कशॉप इंडिया ने दिल्ली के कम संसाधन वाले समुदायों के लगभग 10,000 बच्चों के पर्यावरण सम्बंधित समस्याओं को समझने और उनके स्थानीय जन प्रतिनिधियों के समक्ष रखने के लिए, अन्य गैर लाभकारी संस्थाओं से भागीदारी की है।तंबाकूउत्पादोंपर85चेतावनीसंबंधीनियमवापसलेनेकीमांगइंडस्ट्रीको350करोड़रुपएरोजानानुकसानदिल्ली के एक स्कूल में प्रद्युम्न जैसा हत्याकांड, चार दोस्तों ने मिलकर तुषार को बाथरूम में मार डाला****** में प्रद्युम्न जैसे हत्याकांड से सनसनी फैल गई है। नौवीं क्लास के छात्र तुषार की मौत को लेकर उसके घरवालों ने चौंकाने वाला आरोप लगाया। छात्र की मां के मुताबिक उनके बेटे तुषार की स्कूल के बाथरूम में पीट-पीटकर हत्या की गई और हत्यारे कोई और नहीं बल्कि उसकी ही क्लास के स्टूडेंट्स हैं। तुषार की मां ने स्कूल के सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद ये चौंकाने वाला आरोप लगाया है।बेटे की मौत के ग़म ने इस मां को बदहवास कर दिया है लेकिन इस मां ने स्कूल के सीसीटीवी फुटेज में जो कुछ देखा है उससे साफ़ है कि तुषार का स्कूल में ही उसकी क्लास के छात्रों ने पीट-पीटकर मार डाला। तुषार दिल्ली के करावल नगर के जीवन ज्योति स्कूल का स्टुडेंट था। 1 फरवरी को स्कूल में उसकी संदिग्ध मौत का पता चला था जिसके बाद स्कूल के सामने पीड़ित परिवार के साथ लोगों ने जमकर प्रदर्शन किया था।तुषार की मां ने कहा कि जिस लड़के ने 4 साथियों के साथ मिलकर तुषार के सिर और गर्दन पर घूंसे मारे उससे दो महीने पहले भी तुषार का झगड़ा हुआ था लेकिन उन्हें इस बात का अंदाज़ा नहीं था कि बच्चों की ये लड़ाई जानलेवा दुश्मनी तक पहुंच जायेगी। हैरानी की बात ये है कि स्कूल ने शाम तक इस बात को छुपाकर रखा और कहा गया कि तुषार की मौत लूज़ मोशन के बाद तबीयत बिगड़ने से हुई है।तुषार रोज़ाना की तरह घर से ब्रेकफास्ट लेकर अपने स्कूल गया था। मां के मुताबिक, स्कूल से तीन घंटे बाद ही उसकी हालत बिगड़ने की खबर आई। उन्होंने अस्पताल में देखा कि तुषार के हाथ ठंडे पड़ चुके थे, उसके शर्ट और पेंट फटी हुई थी और उसके गले में आई कार्ड भी नहीं था। चारों लड़कों ने बाथरूम में तुषार को बुरी तरह से पीटा था जिसकी वजह से उसके कपड़े फट गये थे। पुलिस ने इस मामले में तीन लड़कों की शिनाख़्त की है।पुलिस ने इस मामले में स्कूल के आरोपी छात्रों के खिलाफ़ FIR दर्ज कर ली है लेकिन सदमें डूबी इस मां को पुलिस की जांच पर भरोसा नहीं है। मां को शक है कि स्कूल के दबाव में आरोपी लड़कों को बचाया जा सकता है इसलिये वो सीबीआई जांच तक की बात कर रही है। इस मामले में पुलिस की तरफ से कोई बयान नहीं आया है। हालांकि तुषार की हत्या का मामला आने और स्कूल के सामने एक दिन पहले हुए इस प्रदर्शन के मद्देनज़र स्कूल में पुलिस को तैनात किया गया है।

तंबाकू उत्पादों पर 85% चेतावनी संबंधी नियम वापस लेने की मांग, इंडस्ट्री को 350 करोड़ रुपए रोजाना नुकसान

तंबाकूउत्पादोंपर85चेतावनीसंबंधीनियमवापसलेनेकीमांगइंडस्ट्रीको350करोड़रुपएरोजानानुकसानस्प्रेडट्रम लॉन्च करेगी सिर्फ 1500 रुपए में 4G फोन, कॉन्सेप्ट प्रोमोशन किया शुरू******मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रिलायंस जियो भी 1,500 रुपए के 4G हैंडसेट लाना चाहता है। हालांकि, अभी तक इसकी कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की है। सबसे सस्ता फोन लॉन्च करने की घोषणा करने वाली कंपनी स्प्रेडट्रम जियो के LYF के कुछ स्मार्टफोन में प्रोसेसर देती है। ऐसे में यह संभव है कि कंपनी जियो के LYF ब्रांड के तहत ही 1500 रुपए में फोन लॉन्च करे।

तंबाकूउत्पादोंपर85चेतावनीसंबंधीनियमवापसलेनेकीमांगइंडस्ट्रीको350करोड़रुपएरोजानानुकसानGujarat Poisonous Liquor: गुजरात में ज़हरीली शराब से जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 42 हुई, अब तक 15 गिरफ्तार******Highlightsगुजरात के बोटाद जिले में ज़हरीली शराब पीने से जान गंवाने वाले व्यक्तियों की संख्या बढ़कर 42 हो गई है। गृह राज्य मंत्री हर्ष संघवी ने गांधीनगर में एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि पुलिस 10 दिनों में मामले में आरोपपत्र दाखिल करेगी और मामला फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलेगा। उन्होंने कहा, ‘‘गुजरात के बोटाद जिले में दो दिन पहले अत्यधिक विषैले मिथाइल अल्कोहल से युक्त जहरीली शराब के सेवन से अब तक 42 नागरिकों की मौत हो चुकी है। रसायन प्राप्त करने वाले मुख्य आरोपी समेत लोगों को शराब बेचने वाले पंद्रह प्रमुख आरोपी पहले ही गिरफ्तार किये जा चुके हैं।’’मामले में अब तक 15 लोगों की गिरफ्तारी हुईमंगलवार से विभिन्न अस्पतालों में भर्ती नौ लोगों की इलाज के दौरान मौत हो गई। उन्होंने कहा कि भावनगर, बोटाद और अहमदाबाद के अस्पतालों में अब भी करीब 97 लोग भर्ती हैं। संघवी ने कहा, ‘‘पुलिस 10 दिनों में मामले में चार्जशीट दाखिल करेगी और फास्ट ट्रैक कोर्ट में मामला चलेगा।’’ उन्होंने कहा कि सरकार मामले में एक विशेष लोक अभियोजक भी नियुक्त करेगी। बोटाद और अहमदाबाद पुलिस ने मंगलवार को IPC की धारा 302, 328 और 120-बी के तहत लगभग 20 लोगों के खिलाफ तीन प्राथमिकी दर्ज की। मामले के संबंध में अब तक कम से कम 15 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। एक अधिकारी ने बताया कि वडोदरा ग्रामीण पुलिस ने बुधवार को बोटाद में बरवाला पुलिस द्वारा दर्ज प्राथमिकी में नामित आरोपी जतुभा राठौड़ को गिरफ्तार कर लिया जो मामला दर्ज होने के बाद से फरार हो गया था।ज़हरीली शरीब पीने से हुई थी कई लोगों की मौतज़हरीली शराब का यह मामला सोमवार को सुबह तब सामने आया, जब बोटाद के रोजिड गांव और आसपास के अन्य गांवों में रहने वाले कुछ लोगों को उनकी हालत बिगड़ने पर बरवाला क्षेत्र और बोटाद के सरकारी अस्पतालों में भर्ती कराया गया। पुलिस ने बताया कि प्राथमिक जांच में सामने आया है कि बोटाद के अलग-अलग गांवों के कुछ छोटे शराब विक्रताओं ने ‘मिथाइल अल्कोहल’ (मेथेनॉल) में पानी मिलाकर नकली शराब बनाई थी, जो बेहद जहरीली होती है। वे 20 रुपए ‘पाउच’ के दाम पर उसे गांव वालों को बेचते थे। पुलिस के अनुसार, फॉरेंसिक विश्लेषण में पता चला है कि पीड़ितों ने ‘मिथाइल अल्कोहल’ का सेवन किया था।मामले की जांच सीनियर IPS सुभाष त्रिवेदी करेंगेइस त्रासदी के बाद संघवी ने घोषणा की कि राज्य के गृह विभाग ने राज्य में मिथाइल अल्कोहल के उत्पादन और बिक्री पर नियंत्रण कड़ा करने का फैसला किया है। राज्य सरकार ने एक प्रेस रीलिज़ में कहा कि गुजरात के गृह विभाग ने मामले की विस्तृत जांच के लिए भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के वरिष्ठ अधिकारी सुभाष त्रिवेदी की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय एक समिति का गठन किया है। समिति तीन दिन में अपनी रिपोर्ट सौंपेगी। अब तक पुलिस की जांच में सामने आया है कि जयेश उर्फ राजू नामक एक व्यक्ति ने अहमदाबाद में एक गोदाम से 600 लीटर ‘मिथाइल अल्कोहल’ चोरी किया था। राजू उस गोदाम में बतौर प्रबंधक काम करता था। उसने चुराया गया ‘मिथाइल अल्कोहल’ बोटाद में रहने वाले अपने एक रिश्ते के भाई संजय को 25 जुलाई को 40 हजार रुपये में बेच दिया था। पुलिस ने कहा, ‘‘यह जानते हुए भी कि यह एक औद्योगिक विलायक (सॉल्वेंट) है, संजय ने बोटाद के विभिन्न गांवों के शराब विक्रताओं को इसे बेचा। इन विक्रेताओं ने इस रसायन को पानी में मिलाकर देशी शराब बताते हुए लोगों को बेचा।’’आम आदमी पार्टी गुजरात सरकार पर हुई हमलावरइस बीच आम आदमी पार्टी (आप) और युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने गुजरात में पिछले तीन दिनों में 40 से अधिक लोगों की जान लेने वाली शराब त्रासदी को लेकर बुधवार को भाजपा सरकार के खिलाफ अलग-अलग विरोध प्रदर्शन किया और गृह राज्य मंत्री हर्ष संघवी के इस्तीफे की मांग की। आप की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष गोपाल इटालिया के नेतृत्व में आप कार्यकर्ताओं ने बोटाद नगर में भाजपा कार्यालय के बाहर सरकार के खिलाफ धरना दिया। युवा कांग्रेस के सदस्यों ने सूरत और जामनगर समेत राज्य के अन्य शहरों में विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने संघवी का पुतला फूंका और त्रासदी पर उनके इस्तीफे की मांग की। गुजरात प्रदेश युवा कांग्रेस अध्यक्ष विश्वनाथ सिंह वाघेला ने ट्वीट किया, ‘‘गुजरात युवा कांग्रेस ने (कनिष्ठ) गृह मंत्री हर्ष संघवी का पुतला फूंका और बोटाद जहरीली शराब कांड के संबंध में उनके इस्तीफे की मांग की।’’आप के प्रदेश अध्यक्ष इटालिया ने बोटाद में भाजपा कार्यालय में विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व किया और त्रासदी में मारे गए पीड़ितों के परिवारों के लिए न्याय की मांग की। आप ने एक बयान में कहा, ‘‘आप कार्यकर्ताओं ने हर्ष संघवी के इस्तीफे की मांग भी की, जो शराब तस्करों को नियंत्रित करने में विफल रहे हैं। प्रदेश अध्यक्ष इटालिया ने आप कार्यकर्ताओं और स्थानीय नेताओं के साथ बोटाद में गांधी चिंध्या मार्ग पर विरोध प्रदर्शन किया और विरोध को स्थानीय लोगों का समर्थन मिला।’’विरोध प्रदर्शन आयोजित करने से पहले, इटालिया रोजिड गांव गए जहां कई लोगों की जान चली गई और शोक संतप्त परिवारों के सदस्यों से मुलाकात की। स्थानीय निवासियों का हवाला देते हुए, इटालिया ने दावा किया कि भाजपा नेता ईमानदार पुलिस अधिकारियों का अक्सर तबादला करवाते हैं।तंबाकूउत्पादोंपर85चेतावनीसंबंधीनियमवापसलेनेकीमांगइंडस्ट्रीको350करोड़रुपएरोजानानुकसानDollar Vs Rupee: पहली बार रुपया 90 पैसे टूटकर 80.86 प्रति डॉलर के ऑल टाइम लो पर बंद, आगे और लुढ़कने की आशंका******Highlightsअमेरिका के केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दरें बढ़ाने और आगे भी सख्त रूख बनाए रखने के स्पष्ट संकेत से निवेशकों की धारणा प्रभावित हुई जिसके चलते बृहस्पतिवार को रुपया 90 पैसे की बड़ी गिरावट के साथ 80.86 प्रति डॉलर (अस्थायी) के अपने सर्वकालिक निचले स्तर पर बंद हुआ। विदेशी मुद्रा कारोबारियों ने कहा कि फेडरल रिजर्व के दरों में बढ़ोतरी करने और यूक्रेन में भूराजनीतिक तनाव बढ़ने की वजह से निवेशक जोखिम उठाने से बच रहे हैं। वहीं विदेशी बाजारों में अमेरिकी मुद्रा की मजबूती, घरेलू शेयर बाजार में गिरावट और कच्चे तेल के दामों में बढ़ोतरी भी रुपये को प्रभावित कर रही है।अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया 80.27 पर खुला। दिन में कारोबार के दौरान यह और गिरकर 80.95 के सर्वकालिक निचले स्तर पर पहुंच गया। अंत में यह 80.86 पर बंद हुआ जो पिछले बंद भाव के मुकबले 90 पैसे की गिरावट दर्शाता है। फेडरल रिजर्व ने ब्याज दरों में 0.75 प्रतिशत की बढ़ोतरी की है। विदेशी मुद्रा कारोबारियों का कहना है कि अब सारा ध्यान बैंक ऑफ जापान तथा बैंक ऑफ इंग्लैंड की मौद्रिक नीति पर रहेगा। छह प्रमुख मुद्राओं की तुलना में डॉलर की मजबूती को आंकने वाला डॉलर सूचकांक 0.38 प्रतिशत बढ़कर 110.06 पर पहुंच गया।एचडीएफसी सिक्योरिटीज के शोध विश्लेषक दिलीप परमार ने कहा, ‘‘फेडरल रिजर्व के आक्रामक रूख और रूस तथा यूक्रेन के बीच भूराजनीतिक तनाव और बढ़ने से प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले डॉलर में तेजी आई।’’ अन्य एशियाई मुद्राओं की तरह रुपया भी रिकॉर्ड निचले स्तर पर पहुंच गया। परमार ने कहा, ‘‘घरेलू अर्थव्यवस्था में मजबूती आने के बाद भी रुपये में गिरावट का मौजूदा रुख जारी रह सकता है।’’ शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार, विदेशी संस्थागत निवेशकों ने बुधवार को 461.04 करोड़ रुपये के शेयर बेचे।

तंबाकूउत्पादोंपर85चेतावनीसंबंधीनियमवापसलेनेकीमांगइंडस्ट्रीको350करोड़रुपएरोजानानुकसानबिहार की पार्टियों को दिल्ली ने नकारा! बहुत बड़े अंतर से हारे नीतीश, लालू और पासवान के उम्मीदवार****** दिल्ली चुनाव परिणाम से लगभग पूरी तरह पर्दा हट चुका है। सूबे में एकबार फिर से अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी सरकार बनाने जा रही है। राजधानी दिल्ली में बड़ी संख्या में पूर्वांचल के लोग रहते हैं, जिन्हें रिझाने के लिए भाजपा और कांग्रेस दोनों ने ही बिहार की पार्टियों से गठबंधन किया था, लेकिन बिहार की तीनों बड़ी पार्टियां (JD(U), RJD और LJP) इस चुनाव में AAP की आंधी में कहीं ठहरती नहीं दिखाई दीं।दिल्ली चुनाव में जहां भारतीय जनता पार्टी से हुए पैक्ट के तहत नीतीश कुमार की पार्टी JD(U) दो सीटों और रामविलास पासवान LJP एक सीट पर चुनाव लड़ी, वहीं लालू यादव की पार्टी RJD कांग्रेस के साथ गठबंधन के तहत चार सीटों पर चुनाव लड़ी। इन सभी सीटों पर तीनों पार्टियों का प्रदर्शन बेहद निराशाजनक रहा। दिल्ली चुनाव में JD(U) बुराड़ी और संगम विहार सीट पर चुनाव लड़ी थी तो एलजेपी ने सीमापुरी सीट पर ताल ठोकी थी। कांग्रेस की सहयोगी राजद ने पालम, किरारी, बुराड़ी और उतम नगर सीट पर चुनाव लड़ा था।AAP - संजीव झा - 1,38,417 (विजेता) - प्रमोद त्यागी- 2256- शैलेंद कुमार- 50,593इस सीट पर खबर लिखे जाने तक गिनती जारी थी। AAP के संजीव झा पिछले चुनाव में 67950 से जीते थे। बुराड़ी सीट पर भाजपा प्रत्याशी न होने का असर इस बार साफ दिखाई दिया। संजीव जा ने यहां 87,824 वोटों से बढ़त बनाई हुआ है। गौर करने वाली बात यह रही कि यहां लालू यादव की पार्टी के प्रत्याशी को जनता ने 2500 से भी कम वोट दिए।AAP- रितुराज झा- 86,312 (विजेता)BJP- अनिल झा- 80,658किराड़ी विधानसभा सीट पर RJD का प्रत्याशी था, जिसे जनता ने पूरी तरह नकार दिया। हालांकि इस सीट पर भाजपा और आप में कड़ी टक्कर देखने को मिली और अंत में रितुराज झा 5 हजार वोटों से जीत गए।AAP- दिनेश मोहनिया- 75,345 (विजेता)- शिव चरण गुप्ता- 32,823Congress- पूनम आजाद- 2604संगम विहार में JDU दूसरे नंबर पर रही। यहां शुरू से ही AAP ने बढ़त बना ली और अंत में 75 हजार 345 वोट लेकर दिनेश मोहनिया एकबार फिर विधायक चुने गए।AAP- नरेश बाल्यान- 96,320 (विजेता)BJP- कृष्ण गहलोत- 77,797 शक्ति कुमार विश्वोई- 364उत्तम नगर सीट पर AAP ने जीत दर्ज की। यहां भाजपा प्रत्याशी को भी अच्छे खासे वोट मिले। लेकिन RJD को जनता ने 500 वोट भी नहीं दिए। इस सीट पर खबर लिखे जाने तक गिनती जारी थी।AAP- भावना गौड़- 92,412 (विजेता)BJP- विजय पंडित- 59,565 - निर्मल कुमार सिंह- 547इस सीट पर भी खबर लिखे जाने तक गिनती जारी थी। यहां भाजपा प्रत्याशी को भी 60 हजार वोट मिले। लेकिन RJD के निर्मल कुमार सिंह एक हजार वोटों का आंकड़ा भी पार नहीं कर सके।AAP- राजेंद्र गौतम- 88080 (विजेता)Congress- वीर सिंह - 7568- संत लाल- 32,284दिल्ली की सीमापुरी (सुरक्षित सीट) पर भाजपा की सहयोगी एलजेपी दूसरे नंबर पर रही। यहां LJP के संतलाल 56,108 वोटों से चुनाव हार गए।तंबाकूउत्पादोंपर85चेतावनीसंबंधीनियमवापसलेनेकीमांगइंडस्ट्रीको350करोड़रुपएरोजानानुकसानMake in India का जोर, Apple ने शुरु किया iPhone 14 का भारत में निर्माण******Highlightsपर भारत के जोर को देखते हुए एप्पल ने सोमवार को पुष्टि की है कि उसने भारत में नए आईफोन 14 का उत्पादन शुरू कर दिया है, जो Apple के लिए पहली बार है क्योंकि यह चीन के साथ-साथ भारत में नए के निर्माण की अवधि को कम करता है, जो इसका प्रमुख वैश्विक मैन्युफैक्चरिंग केंद्र है।भारत में असेंबल किए गए आईफोन 14 की चौथी तिमाही में देश में बिक्री शुरू हो जाएगी, क्योंकि कंपनी अरबों डॉलर खर्च करके अपनी स्थानीय विनिर्माण/संयोजन योजनाओं को मजबूत कर रही है।एप्पल ने एक बयान में बताया कि नया आईफोन 14 लाइनअप नई प्रौद्योगिकियों और महत्वपूर्ण सुरक्षा क्षमताओं को पेश करता है। हम भारत में आईफोन 14 का निर्माण करने के लिए उत्साहित हैं।फॉक्सकॉन नए आईफोन 14 को चेन्नई के पास अपनी श्रीपेरंबुदूर सुविधा में असेंबल कर रही है। इस गति से उद्योग विश्लेषकों का अनुमान है कि अगले साल एप्पल भारत में उसी समय चीन में आईफोन 15 का निर्माण कर सकता है। सबसे पहले 2017 में आईफोन एसई के साथ भारत में आईफोन का निर्माण शुरू किया था।एप्पल देश में अपने कुछ सबसे उन्नत आईफोन्स का निर्माण करता है, जिनमें आईफोन 11, आईफोन 12 और आईफोन 13 शामिल हैं, फॉक्सकॉन सुविधा में जबकि आईफोन एसई और आईफोन 12 देश में विस्ट्रोन फैक्ट्री में असेंबल्ड किए जा रहे हैं। जेपी मॉर्गन के एक विश्लेषण के अनुसार, भारत में प्रौद्योगिकी उत्पादों के स्थानीय विनिर्माण पर दोगुना होने के कारण एप्पल इस साल के अंत तक अपने नए आईफोन 14 उत्पादन का 5 प्रतिशत और 2025 तक 25 प्रतिशत भारत में स्थानांतरित करने की संभावना है।रिपोर्ट में कहा गया है, "बहुत कम अंतराल भारत के उत्पादन के बढ़ते महत्व और भविष्य में भारत के विनिर्माण के लिए उच्च आईफोन आवंटन की संभावना का संकेत देता है।" व्यवसाय करने में आसानी और अनुकूल स्थानीय विनिर्माण नीतियों से उत्साहित एप्पल के 'मेक इन इंडिया' आईफोन संभावित रूप से इस वर्ष देश के लिए अपने कुल आईफोन उत्पादन का लगभग 85 प्रतिशत हिस्सा होंगे।सीएमआर के अनुसार, आईफोन 14 सीरीज के साथ भारत में एप्पल का आईफोन उत्पादन 2021 में 7 मिलियन आईफोन से बढ़कर 2022 में लगभग 12 मिलियन आईफोन के एक नए मील के पत्थर को छूने के लिए 71 प्रतिशत से अधिक (वर्ष-दर-वर्ष) की महत्वपूर्ण वृद्धि हासिल करने जा रही है।

तंबाकूउत्पादोंपर85चेतावनीसंबंधीनियमवापसलेनेकीमांगइंडस्ट्रीको350करोड़रुपएरोजानानुकसानलॉकडाउन से सरकारी बैंकों के एनपीए में 2 से 4 % तक बढ़त संभव : BofA******Lockdown Impactनई दिल्ली। कोविड-19 महामारी के प्रभाव के चलते सरकारी बैंकों की NPA में दो से चार प्रतिशत तक की वृद्धि हो सकती है। यदि ऐसा होता है तो इससे सरकार पर 2020- 21 में बैंकों में 1.14 लाख रुपये की पुनर्पूंजीकरण का दबाव बढ़ सकता है। एक विदेशी ब्रोकरेज कंपनी ने मंगलवार को यह बात कही।बैंक आफ अमेरिका के विश्लेषकों का मानना है कि प्रोत्साहन उपायों में होने वाले खर्च, निम्न कर प्राप्ति और विनिवेश प्राप्ति में भारी कमी के चलते सरकार का एकीकृत राजकोषीय घाटे का लक्ष्य दो प्रतिशत तक बढ़ सकता है। ऐसे में सरकार को बैंकों में और पूंजी डालने के लिये संसाधन जुटाने के वास्ते नये तरीके तलाशने होंगे। सरकार इसके लिये पुनर्पूंजीकरण बॉंड जारी कर सकती है या फिर इसके लिये रिजर्व बैंक के 127 अरब डालर के रिजर्व का सहारा लिया जा सकता है। सरकारी बैंकों को जरूरी पूंजी उपलब्ध कराने में रिजर्व बैंक के इस आरक्षित कोष में भी कमी आ सकती है। विश्लेषकों के बीच इस बात को लेकर करीब करीब आम सहमति है कि कोरोना वायरस महामारी के चलते बैंकों की सकल गैर-निष्पादित राशि में वृद्धि होगी। ब्रोकरेज कंपनी ने कहा है कि एनपीए में दो से चार प्रतिशत की वृद्धि से सरकार को बैंकों के पूंजी आधार को मजबूत बनाने के लिये सात से 15 अरब डालर की आवश्यकता होगी। यानी करीब 525 अरब रुपये से लेकर 1,125 अरब रुपये तक की जरूरत होगी। ब्रोकरेज कंपनी ने कहा है कि पुनर्पूंजीकरण बांड हालांकि, इसका विकल्प हो सकता है। पहले भी इस साधन का इस्तेमाल किया जा चुका है और बैंकों को इसका लाभ मिला है।तंबाकूउत्पादोंपर85चेतावनीसंबंधीनियमवापसलेनेकीमांगइंडस्ट्रीको350करोड़रुपएरोजानानुकसान15 मई की सुबह खुलेंगे बद्रीनाथ मंदिर के कपाट, तैयारियां हुईं पूरी******: उत्तराखंड में स्थित के कपाट 15 मई कोखुलेंगे। इसके लिए पूरी तैयार हो गई है।भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के अधिकारियों ने कहा कि कपाट संभवत: शुक्रवार तड़के 4.30 बजे खोले जाएंगे।पहले दिन मंदिर में दर्शन-पूजन करने वाली प्रमुख हस्तियों में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और राज्यपाल बेबी रानी मौर्य शामिल होंगे।पिछले साल कपाट खुलने के बाद पहले दिल लगभग 10,000 श्रद्धालुओं ने मंदिर के दर्शन किए थे। गुरुवार को मंदिर और आसपास के इलाके को कई कुंटल फूलों से सजाया गया।उत्तराखंड के संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने देहरादून मेंबताया कि टिहरी के महाराजा ने देश के मौजूदा स्थिति को ध्यान में रखते हुए दोनों ही तीर्थ स्थानों को खोले जाने के निर्णय की सूचना उनको दी है।इससे पहले केदारनाथ मंदिर के कपाट खोले जा चुके हैं। केदारनाथ यात्रा के इतिहास में यह पहला मौका है जब मंदिर के कपाट खुलने के अवसर पर मंदिर परिसर पूरी तरह खाली रहा। कोरोना से बचाव के मद्देनजर यात्राओं की अनुमति नहीं है। अभी केवल कपाट खोले जा रहे हैं ताकि धामों में पूजा अर्चना शुरू सके।गौरतलब है कि केदारनाथ जी के गद्दी स्थल ओम्कारेश्वर मंदिर, ऊखीमठ में केदारनाथ के रावल भीमाशंकर शिवलिंग, स्थानीय दस्तूरदार और वेदपाठी गणों की मौजूदगी में पंचांग गणना के अनुसार मंदिर के कपाट खोले जाने की परंपरा रही है।देवभूमि उत्तराखंड में स्थित केदानाथ और बद्रीनाथ धाम लोगों की प्रमुख आस्था का केंद्र है। वहीं हिमालय पर्वत की गोद में स्थित केदारनाथ मंदिर 12 ज्योतिर्लिगों में सम्मिलित होने के साथ चार धाम और पंच केदार में से भी एक है। वही अलकनंदा नदी के बाएं तट पर नर और नारायण नामक दो पर्वतों के बीच स्थित बद्रीनाथ धाम भी अपनी अनोखी छटा के लिए काफी प्रसिद्ध है।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-07 11:56
उद्धरण 1 इमारत
प्रो कबड्डी लीग सीजन-5 के फाइनल मैच ने इस वजह से रचा इतिहास****** सीजन-5 इस बार चार नई टीमों के साथ और भी रोमांचक रूप में नजर आया और नई टीम गुजरात फार्च्यून जाएंट्स और पटना पाइरेट्स के बीच खेले गए फाइनल मैच ने इतिहास रचा है। दोनों टीमों के बीच खेले गए फाइनल मैच को करीब 31.3 करोड़ लोगों ने देखा, वहीं इस पूरे सीजन को कुल 3.3 अरब लोगों ने देखा।कबड्डी लीग सीजन-5 के फाइनल मैच ने दर्शकों की संख्या में सीजन-4 और इंडियन सुपर लीग (आईएसल) सीजन-3 के फाइनल को काफी पीछे छोड़ दिया।इस मामले में सीजन-5 फाइनल मैच ने रियो ओलम्पिक में पी.वी. सिधु के फाइनल मैच की लोकप्रियता को भी पछाड़ दिया है। सिंधु के फाइनल मैच को कुल 1.72 करोड़ लोगों ने देखा था।एक बयान में स्टार इंडिया के महानिदेशक संजय गुप्ता ने कहा, "भारत में लोगों ने कबड्डी को बहुत सराहा है। इस सीजन में इस खेल की लोकप्रियता ने सीमाओं को पार किया है। इस बार इस लीग में आठ के बजाए 12 टीमों ने 130 से भी अधिक मैच खेले। कबड्डी के प्रति लोगों के प्रेम ने सभी सीमाओं को पार कर दिया। देश के करोड़ों लोगों से इस प्रकार की प्रतिक्रिया मिलना बेहद खुशी की बात है, जिसने कबड्डी लीग और इस खेल को नई ऊचाइयां दी हैं।"
2022-10-07 11:22
उद्धरण 2 इमारत
अमिताभ बच्चन ने क्या देखकर अभिषेक को अपना उत्तराधिकारी कहा, वजह जाकर आप भी कहेंगे : वाकई गर्व करने लायक******Highlights और स्टारर फिल्म 'दसवीं' का ट्रेलर 23 मार्च को रिलीज हो चुका है। ट्रेलर देखने के बादफैंस कयास लगा रहे हैं कि फिल्म बहुत ही दमदार होने वाली है। वहीं इस फिल्म की जमकर तारीफ भी की जा रही है। इस बीच महानायक और अभिषेक बच्चन के पिता अमिताभ बच्चन ने भी दसवीं’ के ट्रेलर को देखने के बाद अभिषेक से बेहद प्रभावित हुए हैं जिसके बाद बिग बी ने ब्लॉग और ट्विटर पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। इसमें उन्होंने अभिषेक बच्चन की तारीफ करते हुए बताया है कि उनको अपने बेटे पर कितना गर्व है।दरअसल, बिग बी ने अपने पिता हरिवंश राय बच्चन की एक कविता का जिक्र करते हुए अभिषेक को अपना उत्तराधिकारी बताया। अब उनका ये पोस्ट सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है।अमिताभ बच्चन ‘दसवीं’ के ट्रेलर को ट्विटर पर पोस्ट करते हुए लिखा कि - 'मेरे बेटे, बेटे होने से मेरे उत्तराधिकारी नहीं होंगे जो मेरे उत्तराधिकारी होंगे वो मेरे बेटे होंगे।' - हरिवंश राय बच्चन।अभिषेक तुम मेरे उत्तराधिकारी हो बस कह दिया तो कह दिया।'अपने पिता के पोस्ट पर अभिषेक ने रिएक्ट करते हुए उनके प्रति ढ़ेर सारा प्यार लुटाया है। अभिषेक नेलिखा -, 'लव यू पा, हमेशा और हमेशा के लिए एक।'इसके अलावा अमिताभ ने एक फैन के पोस्ट पर भी कमेंट करते हुए लिखा कि - भैयू इसके लिए मेरा बहुत सारा प्यार और आशीर्वाद है। आपके पिछले रोल से यह बेहद अलग है। फिल्म में आपके मूव्स से बेहद पसंद आए। आपके साथ हमारी प्रार्थनाएं हैं।अमिताभ के अलावा एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण और एक्टर अजय देवगन ने भी अभिषेक बच्चन की फिल्म दसवीं के ट्रेलर पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। दीपिका ने अपनी इंस्टाग्राम स्टोरीज पर दसवीं का ट्रेलर शेयर करते हुए लिखती हैं- 'प्यार के लिए टीम दसवी को धन्यवाद। आप लोगों को शुभकामनाएं।'वहीं अजय देवगन ने अपने ट्विटर पर दसवीं का ट्रेलर पोस्ट करते हुए लिखा- 'चौधरी साहब जूनियर बच्चन आपके, दसवी के लिए शुभकामनाएं, जबरदस्त ट्रेलर! 7 अप्रैल को फिल्म देखने का बेसब्री से इंतजार।'तुषार जलोटा द्वारा निर्देशित ‘दसवीं’ में अभिषेक बच्चन के अलावा यामी गौतम और निमरत कौर भी नजर आएंगी। यह फिल्म 7 अप्रैल को ओटीटी प्लेटफार्ट नेटफ्लिक्स और जिओ सिनेमा पर रिलीज होगी।
2022-10-07 11:17
उद्धरण 3 इमारत
बिहार: चिराग पासवान के बंगला खाली करने पर तेजस्वी ने कहा- बीजेपी ने हनुमान के घर में ही आग लगा दी******Highlightsआरजेडी नेता ने पासवान परिवार के जरिए बीजेपी पर निशाना साधने की कोशिश की है। तेजस्वी ने कहा, 'दिवंगत एलजेपी फाउंडर राम विलास पासवान आखिर तक बीजेपी के साथ खड़े रहे। चिराग कहते हैं कि वह हनुमान हैं लेकिन यहां तो हनुमान के ही घर में आग लगा दी गई। ये बीजेपी का साथ देने का नतीजा है।'बता दें कि हालही में एलजेपी सांसद चिराग पासवान ने कहा था कि जिस तरह से घर खाली करवाया गया, मैं इस बात से आश्चर्यचकित हूं। मैंने कभी नहीं कहा कि मैं 12 जनपथ हमेशा के लिए चाहता हूं। मेरा परिवार कानून का सम्मान करता है। हम घर खाली करने के लिए तैयार थे, लेकिन क्या हमें इस तरह अपमानित किया गया? चिराग ने कहा कि बिहार के लोग सब कुछ देख रहे हैं।गौरतलब है कि चिराग पासवान ने बुधवार को 12 जनपथ बंगला खाली कर दिया था, जो उनके पिता और पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान को आवंटित किया गया था। निष्कासन नोटिस के महीनों बाद एलजेपी सांसद ने ये बंगला खाली किया।इसके बाद खबर ये भी सामने आई कि दिल्ली उच्च न्यायालय ने दिवंगत रामविलास पासवान को आवंटित बंगले को खाली कराने के आदेश के खिलाफ दायर याचिका को गुरुवार को खारिज कर दिया है।बता दें कि सांसद चिराग पासवान ने ये भी कहा है कि बंगला खाली कराने के पीछे बेइज्जत करने की साजिश है। उन्होंने कहा कि केंद्र के एक बड़े मंत्री ने मुझे एक दिन पहले अपने घर पर बुलाकर ये बता दिया था कि बंगला खाली करा लिया जाएगा और इसे चाहकर भी रोका नहीं जा सकता है।
वापसी